आर्मी फ़ैन के अपलोड किये हुए वीडियो को घायल भारतीय सैनिकों का बताकर पाकिस्तान में किया गया शेयर

भारत-चीन बॉर्डर पर उपजे तनाव की वजह से 20 भारतीय जवान शहीद हुए. कितने चीनी सैनिक मारे गए, इसका आंकड़ा अभी सामने नहीं आया है और इस वजह से सोशल मीडिया पर फ़ेक न्यूज़ की बाढ़ आ चुकी है. 19 जून को पाकिस्तानी फ़ेसबुक पेज ‘डेली फ्रंटलाइन लाहौर’ ने एक वीडियो अपलोड किया जिसमें कुछ घायल और परेशान लोग आर्मी यूनिफ़ॉर्म में दिख रहे हैं. साथ में उर्दू में जो कैप्शन लिखा गया है, उसका हिंदी अनुवाद है, “भारत का विनाश शुरू हो गया है. भारतीय सेना का वीडियो वायरल हो रहा है. भारत के लोगों की चीन ने क्या हालत की वो देखिए.” वीडियो को 35,000 से ज़्यादा बार देखा और 1,500 से ज़्यादा बार शेयर किया गया है. वीडियो के बैकग्राउंड में गाना बज रहा है और नीचे दाईं तरफ़ भारत की तीनों सेनाओं का लोगो है. (आर्काइव लिंक).

नीचे ये वीडियो देखा जा सकता है.

 

انڈیا کی بربادی شروع لداک میی انڈین آرمی کا ویڈیو وائرل ہوگیا ہے حالات دیکھ لو جو چین نے انڈیا والو کیساتھ کیا ۔۔۔۔۔۔

Posted by Daily Front Line Lahore on Friday, 19 June 2020

फ़ेसबुक पर ये वीडियो वायरल है और इसे कई पाकिस्तानी पेजेज़ ने शेयर किया है.

फ़ैक्ट-चेक

ऑल्ट न्यूज़ ने Yandex पर रिवर्स इमेज सर्च किया और पाया कि यही वीडियो 14 फरवरी 2020 को पुलवामा हमले की याद में नीतीश कुमार यादव के यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया था. इस वीडियो के बैकग्राउंड में भी गाना बज रहा है, हालांकि ये गाना वायरल क्लिप में बज रहे गाने से अलग है.

यूट्यूब वीडियो पर UVideo का लोगो है जो कि व्हाट्सऐप और बाकी प्लेटफ़ॉर्म्स के वीडियो स्टेटस अपडेट करने के लिए इस्तेमाल होने वाला मोबाइल ऐप है. लोगो बिल्कुल ऊपर बाईं तरफ़ है और इस पर ID नंबर 137441289039 लिखा हुआ है.

ऑल्ट न्यूज़ ने इस आईडी पर जाकर देखा और पाया कि ये वीडियो 21 साल के आनंद कुमार राठौर का है. राठौर भारतीय सेना के फ़ैन हैं और जवानों को समर्पित करते हुए ऐसे कई वीडियो अपलोड किए हैं. उन्होंने यह वीडियो हैशटैग #indiaarmylover4 के साथ पोस्ट किया है जिसे 50,000 से ज़्यादा बार देखा गया है और 8,000 से ज़्यादा बार व्हाट्सऐप पर शेयर किया जा चुका है. इसमें बैकग्राउंड में जो गाना बज रहा है वह नीतीश कुमार यादव के यूट्यूब पर पोस्ट किए गए वीडियो से मैच कर रहा है.

वायरल क्लिप के अलावा राठौर ने इसी वीडियो के 2 और क्लिप अपने प्रोफ़ाइल पर अपलोड किए हैं (क्लिप 2 और क्लिप 3). नीचे स्क्रीनशॉट में राठौर की प्रोफ़ाइल पर वायरल क्लिप (हरे रंग से हाइलाइट) के साथ 2 और क्लिप्स (लाल रंग से हाइलाइट) देखी जा सकती हैं.

राठौर की प्रोफ़ाइल पर लगे वीडियोज़ और वायरल क्लिप में कैमरे के इस्तेमाल को देखते हुए साफ हो जाता है कि यह वीडियो बाकायदे सिनेमेटोग्राफ़ी के साथ बनाया गया है. ऑल्ट न्यूज़ ने राठौर के वीडियो में इस्तेमाल किए गए गाने की पहचान के लिए ‘गूगल सॉन्ग रिकग्निशन’ फ़ीचर का इस्तेमाल किया और पाया कि ये गाना 1998 में आई बॉलीवुड फ़िल्म ‘चाइना गेट’ का है. गाने का शीर्षक ‘इस मिट्टी का कर्ज़ था मुझपे’ है. यहां ग़ौर करने की बात है कि राठौर का वीडियो इस फ़िल्म का हिस्सा नहीं है. इसके अलावा वायरल वीडियो में जो पाकिस्तानी गाना इस्तेमाल किया गया वो है- ‘चुन चुन के निशाना लेते हैं’.

यानी कई पाकिस्तानी फ़ेसबुक पेजेज़ ने भारत-चीन मुठभेड़ के बाद घायल भारतीय सैनिकों की ख़राब स्थिति दिखाने के नाम पर एक पुराना मैन्युफ़ैक्चर्ड वीडियो दिखा दिया.

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend