क्रिकेट से शुरू हुए झगड़े ने सांप्रदायिक रूप लिया, वीडियो राजनीतिक पार्टियों से जोड़कर शेयर किया गया

लाठी-डंडों से एक घर पर हमला करने का 2 मिनट 20 सेकंड का एक वीडियो सोशल मीडिया में काफ़ी शेयर हो रहा है. वीडियो में लोग चिल्लाते हुए दिखाई दे रहे हैं. दावा है कि बागपत के डौला में ‘ठाकुरों ने मुस्लिम परिवारों पर हमला किया.’ 24 जुलाई को ‘फरीद बूम मेरठी (राणा)’ ने ये वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “बागपत गाँव डौला मैं मुस्लिम परिवारों पर ठाकुरो ने बहुत ही खतरणाक , व जान लेवा हमला क्या इस घटना मैं कुछ बिजेपी के लोग भी है” आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 14 हज़ार से ज़्यादा बार देखा जा चुका है. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

‘@ANSARI_7INC’ ने भी ये वीडियो इसी हिंदी मेसेज के साथ ट्वीट किया है. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 15 हज़ार से ज़्यादा बार देखा और 300 से ज़्यादा बार रीट्वीट किया गया है. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

पूर्व पत्रकार और खुदको राजनेता बताने वाले सलमान निज़ामी ने फ़ेसबुक पर ये वीडियो पोस्ट किया है. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 40 हज़ार से ज़्यादा व्यूज़ मिले हैं. (पोस्ट का आर्काइव लिंक) ‘@CrescentDome’ ने अंग्रेज़ी मेसेज के साथ ये वीडियो ट्वीट किया है जिसे आर्टिकल लिखे जाने तक 18 हज़ार से ज़्यादा देखा और 950 बार रीट्वीट किया जा चुका है.

Attack on Muslims in Doula UP.

In Baghpat village, Doula (UP). Right wing goons enter Muslim colonies- attacked & abused them. This in the time of Pandemic. Communalism is on extreme rise in rural India under Modi & Yogi Raj!

Posted by Salman Nizami on Saturday, 25 July 2020

हिंदी मेसेज से ये वीडियो ट्विटर और फ़ेसबुक पर काफ़ी शेयर हो रहा है. अंग्रेज़ी मेसेज के साथ भी ये वीडियो कुछ कम वायरल नहीं है – ट्विटर और फ़ेसबुक.

फ़ैक्ट-चेक

‘फरीद बूम मेरठी (राणा)’ के ट्वीट पर बागपत पुलिस ने रिप्लाइ करते हुए बताया कि वीडियो में दिखने वाली घटना थाना सिंघावली अहिर के ग्राम डोला में 23 जुलाई को हुई थी. पुलिस ने बताया कि 2 गुटों के बीच क्रिकेट को लेकर विवाद हो गया था.

फ़ेसबुक पर ‘हिंदी भारत न्यूज़’ ने इस घटना के बारे में 25 जुलाई को एक वीडियो रिपोर्ट शेयर की थी. इस वीडियो रिपोर्ट में बताया गया है कि 2 पक्षों (जिसमें बच्चे ही थे) के बीच क्रिकेट को लेकर विवाद हो गया था जिसके बाद ये मामला पुलिस तक पहुंचा लेकिन पुलिस ने उस वक़्त इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया. बाद में ये मामला काफ़ी आगे बढ़ गया और 2 पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई जिसके चलते 6 लोग घायल हो गए.

लाठियां लेकर गलियों में दौड़ते दिखे हुड़दंगी, बच्चों के बीच खेल को लेकर हुआ था विवाद, आप भी देखें…

बागपत जनपद के थाना सिंघावली अहीर क्षेत्र में क्रिकेट खेलने को लेकर दो पक्षों में बवाल हो गया। इस दौरान दो पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले। जिसमें एक पक्ष के दर्जन भर से भी ज्यादा लोगों ने हाथों में लाठियां लेकर गांव में आतंक मचाया और दूसरे पक्ष के घरों के दरवाजे तक तोड़ दिए। बताया जा रहा है कि आरोपी पक्ष के लोगों ने घर में घुसकर महिलाओं और पुरुषों के साथ भी मारपीट की। दरअसल मामला थाना सिंघावली अहीर के डोला गांव का है। जहां 2 दिन पहले गांव के ही दो पक्षों के बच्चे क्रिकेट खेल रहे थे। इसी दौरान किसी बात को लेकर दोनों पक्षों के बच्चों में विवाद हो गया। जिसके बाद मामला पुलिस चौकी तक पहुंचा। लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और यह मामूली विवाद बड़े बवाल में बदल गया। जिसके बाद एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया और घरों में घुसकर महिलाओं और पुरुषों की बेरहमी से पिटाई कर दी। जिसमें 6 लोग घायल हुए हैं। जिनमें महिलाएं भी शामिल हैं।

Posted by Hindi Bharat News on Saturday, 25 July 2020

की-वर्ड्स सर्च करने पर 23 जुलाई की ‘अमर उजाला’ की रिपोर्ट मिली. रिपोर्ट में बताया गया है कि सिंघावली अहीर थाना क्षेत्र के डौला गांव में क्रिकेट खेलने को लेकर 2 गुटों के बीच टकराव हो गया था. झगड़े की शुरुआत मोहित, दीपू और मुरसलीन के बीच क्रिकेट खेलने को लेकर झगड़ा हो गया था. यही झगड़ा आगे चलकर दो वर्गों की लड़ाई बन गया जिसमें अलग-अलग धर्म के 2 गुट बन गए. 23 तारीख को दीपू, मोहित और आकाश अपनी बहन के घर जा रहे थे और इसी वक़्त मुरसलीन ने अपने साथियों के साथ उन पर धारदार हथियारों से हमला कर दिया. इसमें दीपू, मोहित और आकाश घायल हो गए. वहीं दूसरे पक्ष के मुरसलीन, सलीमन और मुस्कान भी घायल हुए. रिपोर्ट में बताया गया है कि मुरसलीन की हालत गंभीर होने के कारण उसे बागपत ले जाया गया है. ये भी मालूम चला कि मामले के बढ़ने और सांप्रदायिक रूप लेने के बाद गांव में पुलिस बल तैनात किया गया था.

आगे इस मामले से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमने सिंघावली अहीर थाना से कॉन्टैक्ट किया. SHO शिवप्रकाश ने बताया, “दरअसल क्रिकेट को लेकर बच्चों के बीच में झगड़ा हो गया था और उसके बाद उनके बीच मार-पीट भी हुई थी. इन लोगों के बीच मार-पीट होने के बाद गुस्साए लोगों ने आक्रोश व्यक्त किया जिसका वीडियो सोशल मीडिया में शेयर होने लगा.” उन्होंने ये भी बताया कि वीडियो में जिन लोगों के घर पर हमला किया जा रहा था, वे घर मुस्लिम लोगों के हैं लेकिन ये शुरूआती वक़्त में बच्चों का आपसी झगड़ा था. हमने उनसे पूछा कि क्या इस मामले में कोई शिकायत दर्ज हुई है. उन्होंने बताया कि शिकायत दर्ज हुई है और 12 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. उन्होंने ये भी बताया कि ये लोग किसी भी तरह से राजनीतिक पार्टी या ऑर्गेनाइज़ेशन से जुड़े हुए नहीं हैं.

इस तरह, उत्तर प्रदेश के बागपत के डौला गांव में 2 गुटों के बीच क्रिकेट के झगड़े से शुरू हुए मसले के सांप्रदायिक रंग लेने के बाद मार-पीट का वीडियो सोशल मीडिया में शेयर हुआ. इस दौरान वीडियो को राजनीतिक पार्टियों से जोड़कर पेश किया जाने लगा जिससे पुलिस ने साफ़ इनकार किया है.

अपडेट: शुरूआती जांच के बाद हमने इस आर्टिकल में लिखा कि इस मामले में कोई सांप्रदायिक ऐंगल नहीं था. लेकिन बाद में तथ्यों को गौर से जांचने पर हम इस नतीजे पर पहुंचे कि खेल से शुरू हुआ झगड़ा साम्प्रदायिक टकराव में बदल गया था. इसलिए इस आर्टिकल में यथावश्यक बदलाव किये गए हैं.

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend