किसान नेता और भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने रविवार को केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ ‘किसान महापंचायत’ के लिए मुज़फ्फ़रनगर में एकत्रित हज़ारों किसानों को संबोधित किया. राकेश टिकैत के भाषण का एक हिस्सा शेयर करते हुए भाजपा सदस्यों और समर्थकों ने ये दिखाने की कोशिश की कि उन्होंने किसान विरोध की आड़ में मुस्लिम तुष्टिकरण का सहारा लिया. वीडियो के इस हिस्से में राकेश टिकैत को ‘अल्लाह हू अकबर’ कहते हुए सुना जा सकता है.

भाजपा दिल्ली की प्रवक्ता निगहट अब्बास ने दावा किया, “ये उत्तर प्रदेश के चुनाव के लिए लड़ रहे हैं.”

बीजेपी सदस्य प्रीति गांधी ने भी राकेश टिकैत का वीडियो शेयर किया.

शेफ़ाली वैद्या ने तो राकेश टिकैत और तालिबान के बीच समानता दिखाई. उन्होंने जाट समुदाय को चेतावनी देने वाले भाजपा दिल्ली के प्रवक्ता अजय सहरावत के ट्वीट को फिर से शेयर किया. गौरतलब है कि ‘अल्लाह हू अकबर’ का मतलब है ‘ईश्वर से बड़ा कोई नहीं’.

इसी दावे के साथ सैकड़ों लाइक और रीट्वीट पाने वाले कई अन्य ट्विटर अकाउंट @AMIT_GUJJU, @idesibanda, @erbmjha, @seriousfunnyguy, @socialtamasha, @soulefacts, @pujatiwariBJP, @Sachi_Sandhna और @atulahuja थे.

भ्रामक दावे के साथ शेयर किया गया वीडियो

”बोले सो निहाल… सत श्री अकाल’ के नारों के बीच टिकैत ने कहा, “वे (पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ) हमें तोड़ने का काम करेंगे, हम जोड़ने काम करेंगे. हम संकल्प लेते हैं कि वहां पे अगर हमारी कब्रें भी बनेगी हम मोर्चा नहीं छोड़ देंगे. अगर हमें शहीद होना पड़ा तो हम मोर्चे पर होंगे. बगैर जीते वापस नहीं आयेंगे.”

उन्होंने आगे कहा, “इस तरह की सरकारें अगर देश में होगी तो ये दंगे करवाने का काम करेगी. पहले भी (उनके पिता और बीकेयू के पूर्व अध्यक्ष महेंद्र सिंह टिकैत का जिक्र करते हुए) नारे लगते थे जब टिकैत साहब थे. ‘अल्लाह हू अकबर’ (भीड़ ‘हर हर महादेव’ का नारा लगाती है) ‘अल्लाह हू अकबर’ (भीड़ ‘हर हर महादेव’ का नारा लगाती है). ‘अल्लाह हू अकबर’ और ‘हर हर महादेव’ के नारे इसी धरती पर लगते थे. ये नारे हमेशा लगते रहेंगे. दंगा यहां पे नहीं होंगा. ये तोड़ने का काम करेंगे, हम जोड़ने का काम करेंगे.”

भाषण के इस भाग को नीचे दिए गए वीडियो में 10 मिनट 36 सेकेंड बाद देखा जा सकता है.

वीडियो के इस हिस्से को सोशल मीडिया पर भी शेयर किया गया था.

कई लोगों ने बताया कि राकेश टिकैत ने कहा कि महेंद्र सिंह टिकैत के समय से किसान आंदोलन ने दोनों नारों को धार्मिक सद्भाव के प्रतीक के रूप में इस्तेमाल किया है.

‘अल्लाह हू अकबर’, जिसका मतलब है ‘ईश्वर से बड़ा कोई नहीं’ के उच्चारण मात्र ने भ्रामक दावों को जन्म दिया कि राकेश टिकैत मुस्लिम तुष्टिकरण का सहारा ले रहे थे. शेफ़ाली वैद्या ने उनकी तुलना तालिबान से की.


ज़ी हिंदुस्तान ने पुराना वीडियो तालिबान के ख़िलाफ़ हथियार उठाए बच्ची का बताकर चलाया, देखिये

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged:
About the Author

Pooja Chaudhuri is a senior editor at Alt News.