5 मई को BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा को लेकर एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस की. इसमें उन्होंने बंगाल हिंसा की निंदा की और ममता बनर्जी पर निशाना साधा. इस हिंसा में BJP कार्यकर्ताओं की मौत के बारे में बात करते हुए एक वीडियो क्लिप दिखाई गयी. इस क्लिप में मरने वाले सभी कार्यकर्ताओं की तस्वीर और वीडियो शामिल थे. 40 मिनट की कॉन्फ़्रेंस में ये वीडियो शुरुआत में ही 1 मिनट 30 सेकंड पर दिखाया जाता है. कॉन्फ़्रेंस के फ़ेसबुक लाइव वीडियो में 5 मिनट 15 सेकंड पर एक तस्वीर BJP कार्यकर्ता माणिक मोइत्रा की बताकर दिखाई की जाती है. बताया जाता है कि वो सीतलकुची के रहने वाले थे.

BJP के ऑफ़िशियल हैंडल से ये वीडियो पोस्ट किया गया. इसमें 2 मिनट 35 सेकंड पर ये तस्वीर माणिक मोइत्रा की बताई गयी.

BJP ने ज़िंदा इंसान को मृत घोषित किया

6 मई को इंडिया टुडे के पत्रकार अभ्रो बनर्जी ने एक ट्वीट में दावा किया कि BJP IT सेल ने उन्हें माणिक मोइत्रा बताकर मरा हुआ घोषित कर दिया है. उन्होंने लिखा कि वो सीतलकुची से 1300 KM दूर जीवित और सुरक्षित हैं. उन्होंने लोगों से गुज़ारिश की कि वो ऐसे फ़ेक पोस्ट पर भरोसा न करें और चिंता न करें. वो ज़िन्दा हैं.

ऑल्ट न्यूज़ को अभ्रो बनर्जी के फ़ेसबुक टाइमलाइन पर वो फ़ोटो भी मिली जिसका इस्तेमाल BJP ने अपने कार्यकर्ता मानिक मोइत्रा की मौत बताने के लिए किया है. ये तस्वीर उन्होंने मार्च 2017 में अपलोड की थी. ऑल्ट न्यूज़ उनकी प्राइवेसी का ध्यान रखते हुए ये तस्वीर यहां अपलोड नहीं कर रहा है.

बंगाली मीडिया आउटलेट आनंद बाज़ार की 3 मई की एक रिपोर्ट के मुताबिक BJP समर्थक माणिक मोइत्रा की सीतलकुची में गोली लगने से मौत हो गयी.

BJP ने किसी और की तस्वीर दिखाते हुए उसे अपना कार्यकर्ता बताकर मृत घोषित कर दिया. BJP द्वारा दिखाई गयी तस्वीर माणिक मोइत्रा की नहीं बल्कि अभ्रो बनर्जी की है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: