सोशल मीडिया पर न्यूज़ 24 चैनल के एक कथित ट्वीट का स्क्रीनशॉट वायरल है. ट्वीट में लिखा है – “अखिलेश यादव जी News24 से अनजाने मे गलती हुई है, हमने भाजपा के कहने पर आपकी छवि धूमिल किया जिसके लिए हमारा चैनल आपसे मांगता है”. ट्वीट में चैनल के ब्रॉडकास्ट का एक स्क्रीनग्रैब भी दिख रहा है जिसमें ब्रेकिंग न्यूज़ के साथ लिखा है – “150 करोड़ वाला पीयूष जैन भाजपा का सदस्य”.

ट्विटर यूज़र राजेश एसपी ने ये स्क्रीनशॉट ट्वीट किया.

पीयूष जैन इत्र कारोबारी है जिसके घर पर हाल ही में छापा पड़ा था. छापे में सैकड़ों करोड़ कैश बरामद हुए. इसके बाद से BJP और सपा एक दूसरे पर पार्टी पीयूष जैन को लेकर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं.

कई ट्विटर यूज़र्स ने ये तस्वीर ट्वीट की है. लोग लिख रहे हैं, “वो दिन दूर नहीं जब भाजपा पूरे देश से माफ़ी मांगेगी.”

This slideshow requires JavaScript.

फ़ेसबुक पर ये स्क्रीनशॉट वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

स्क्रीनशॉट को गौर से देखने पर ही मालूम हो जाता है कि ये फ़र्ज़ी है. तस्वीर में कई जगह गड़बड़ दिखती है. इसे नीचे तस्वीर में दिखाया गया है जैसे ट्वीट के कैप्शन में न्यूज़ 24 अलग फ़ॉन्ट में लिखा है और कुछ जगह वर्तनी की गलतियां भी हैं.

 

न्यूज़ 24 चैनल के ब्रॉडकास्ट का फ़ॉर्मेट और वायरल तस्वीर के फ़ॉर्मेट में काफ़ी असमानताएं हैं. ये नीचे तस्वीर में साफ दिखता है. चैनल के ब्रॉडकास्ट में ब्रेकिंग न्यूज़ के बाद दिखाए जा रहे हेडलाइन्स का रंग सफ़ेद है. जबकि वायरल तस्वीर में इसका रंग पीला है.

इसके अलावा, न्यूज़ 24 चैनल ने अपने ऑफ़िशियल ट्विटर हैन्डल से ट्वीट करते हुए इसे फ़र्ज़ी बताया.

गौर करें कि पीयूष कानपुर का एक कारोबारी है. छापेमारी के दौरान उसके पास से 200 करोड़ नकद और बाकी कई चीज़े ज़प्त की गई थीं. ये घटना 22-23 दिसंबर की रात की है. इस घटना को लेकर भाजपा और सपा एक-दूसरे पर निशाना साध रही है. लेकिन इस आर्टिकल के लिखे जाने तक पीयूष जैन के किसी राजनीतिक पार्टी से जुड़े होने की कोई खबर सामने नहीं आई है.

यानी, न्यूज़ 24 चैनल के नाम पर एक फर्जी स्क्रीनशॉट शेयर कर ये झूठा दावा किया गया कि चैनल ने भाजपा के कहने पर अखिलेश यादव की छवि खराब करने की कोशिश की थी. और इसलिए चैनल ने अखिलेश यादव से माफ़ी मांगी.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged: