पोर्न वीडियो की तस्वीरें मध्यप्रदेश भाजपा नेता प्रदीप जोशी का बताकर वायरल

मध्यप्रदेश भाजपा नेता प्रदीप जोशी को, उनके हाल ही में आपत्तिजनक चैट मैसेज प्रसारित होने के बाद पार्टी से सस्सपेंड करने के दावे को सोशल मीडिया में साझा किया गया था। अब एक अधेड़ उम्र के व्यक्ति की एक लड़के के साथ आपत्तिजनक तस्वीरों को सोशल मीडिया में इस दावे से साझा किया जा रहा है कि यह बुर्जुर्ग व्यक्ति प्रदीप जोशी है।

उपरोक्त ट्वीट सचिन चौधरी, यूपी कांग्रेस के एक नेता ने किया है, उन्होंने लिखा है, “ये RSS के संग़ठन मंत्री प्रदीप जोशी हैं इसने नई परिवार नियोजन योजना निकाली है इस योजना को दिखाओ देश की जनसंख्या कम करवाओ, मीडिया मुगलों प्रचार तो खूब करते हो अब भाजपा नेताओं की घटिया करतूतों को देश को दिखाओ, पहले भाजपा नेताओं से बेटियां सुरक्षित नहीं थीं अब बेटे भी सुरक्षित नहीं”। 13 जुलाई को की गई इस ट्वीट को अब तक 850 से ज्यादा बार रीट्वीट और 2200 से ज्यादा बार लाइक किया गया है। एक अन्य उपयोगकर्ता की ट्वीट को 600 से ज्यादा बार रीट्वीट किया जा चूका है। इस दावे और तस्वीरों को फेसबुक पर भी साझा किया गया है। BMTV न्यूज़ नाम के एक पेज द्वारा की गई पोस्ट को 1000 से ज्यादा बार शेयर किया गया है। ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि ये तस्वीरें एक वीडियो से ली गई है। इस वीडियो को एक पेज न्यूज़ 4 सोशल द्वारा पोस्ट किया गया है। वीडियो को 58,000 से अधिक बार देखा गया है। इस पेज के फॉलोअर्स की संख्या 675,000 से अधिक है।

प्रदीप जोशी हैं जोश मै शाखा में जाओ होश मै

बीजेपी नेता प्रदीप जोशी
अपने जोश का पुरज़ोर प्रदर्शन करते हुए

Posted by News 4 Social on Saturday, 13 July 2019

पोर्न वीडियो से ली गई है ये तस्वीरें

सोशल मीडिया में साझा की गई तस्वीरें पोर्न वीडियो से ली गई है। ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि यह वीडियो एक साल से अधिक समय से ऑनलाइन मौजूद है।

वीडियो में सबसे पुरानी कमेंट 19 अप्रैल, 2018 की है, जिससे यह साफ है कि यह वीडियो एक साल से अधिक समय का है।

इसके अलावा, प्रदीप जोशी के चेहरे की तुलना वीडियो में दिख रहे व्यक्ति से करने पर यह मालूम होता है कि दोनों व्यक्ति अलग अलग है। जोशी की तरह वीडियो में दिख रहे व्यक्ति के सर पर बाल नहीं है।

सोशल मीडिया में वायरल हो रही तस्वीरे, मध्यप्रदेश सांसद प्रदीप जोशी की नहीं है। यह ध्यान देने योग्य है कि जोशी एक पार्टी कार्यकर्त्ता को आपत्तिजनक संदेश भेजने के कारण विवादों में घिर गए थे।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend