सोशल मीडिया पर एक अख़बार की क्लिप वायरल है. असल में ये शादी का विज्ञापन है. इसमें एक लड़की शादी के लिए ऐसे लड़के की तलाश कर रही है जिसे कोरोना का टीका लग चुका हो. लड़की ने अपने बारे में भी ये लिखा है कि उसे कोविशील्ड की दोनों डोज़ लग चुकी हैं.

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने ये तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा, “वैक्सीनेटेड दुल्हन को वैक्सीनेटेड दूल्हा चाहिए! इसमें कोई शक नहीं है कि इनका पसंदीदा शादी का तोहफ़ा बूस्टर शॉट्स होगा? क्या ये हमारा नया नॉर्मल बनने जा रहा है?” (आर्काइव लिंक).

हिंदुस्तान टाइम्स ने भी शशि थरूर के इस बयान को शेयर किया है. (आर्काइव लिंक)

ट्विटर यूज़र कावेरी ने भी ये तस्वीर ट्वीट की.

नरेंद्र मोदी द्वारा फ़ॉलो की जा रहीं ट्विटर यूज़र मालविका अविनाश ने भी ये तस्वीर ट्वीट की.

फ़ेसबुक और ट्विटर पर ये तस्वीर काफ़ी वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

इस अख़बार की क्लिप को ध्यान से देखने पर कई जगह पर गलतियां दिखती हैं. नीचे तस्वीर में इन गलतियों को पीले रंग से चिन्हित किया गया है.

1. ख़बर के वाक्यों की फ़्रेमिंग में गलतियां हैं.

2. शब्दों के बीच दिया गया स्पेस गड़बड़ है.

इस अख़बार की क्लिप की पुष्टि करने के लिए हमने गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च किया. लेकिन हमें इससे जुड़ी कोई जानकारी नहीं मिली.

ऑल्ट न्यूज़ पहले भी ऐसी फ़र्ज़ी अख़बार की क्लिप की जांच कर चुका है. इस आधार पर हमने पुरानी फ़र्ज़ी क्लिप्स की तुलना इस क्लिप से की. इन दोनों में कुछ समानताएं दिखीं. एक बड़ी समानता थी क्लिप के दायें हिस्से में लिखी हुई कथित ख़बर.पुरानी क्लिप्स और फ़िलहाल वायरल हो रही क्लिप के दायें हिस्से में एक ही चीज़ लिखी है जबकि दोनों क्लिप्स की तारीख में 34 साल का अंतर है.

इस कथित क्लिप को fodey.com नाम की वेबसाइट पर बनाया गया है जहां इस तरह के कथित आर्टिकल्स बनाए जा सकते हैं. ऐसी क्लिप्स बनाने के लिए आपको हेडलाइन, समाचार पत्र का नाम और तारीख लिखनी होती है. हमने इस वेबसाइट के इस्तेमाल से एक अख़बार की क्लिप बनाई जिसे आप नीचे देख सकते हैं.

यानी, टीका लगवा चुकी लड़की का शादी के लिए टीका लगवा चुके लड़के की तलाश वाला विज्ञापन फ़र्ज़ी है. ऐसी फ़र्ज़ी अख़बार की क्लिप आसानी से ऑनलाइन टूल्स के ज़रिए बनायी जा सकती है.


दैनिक जागरण की स्टोरी का फ़ैक्ट-चेक | प्रयागराज में गंगा के किनारे दफ़न लाशे ‘आम बात’ हैं? :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: