झूठा दावा: भीषण गर्मी के कारण सऊदी अरब में पिघल गई गाड़ियां

सोशल मीडिया पर दो क्षतिग्रस्त गाड़ियों की तस्वीर को साझा करते हुए यह दावा किया गया है कि भीषण गर्मी के कारण गाड़ियों के बम्पर “पिघल” गए।

Today It Was 52°C In Saudia Arabia

Posted by All J&K husbands cordination comeetee on Monday, 3 June 2019

उपरोक्त पोस्ट को फेसबुक पर All J&K husbands cordination comeetee ग्रुप ने इस संदेश, “आज सऊदी अरब में तापमान 52°C था”-(अनुवाद) के साथ साझा किया है। इसी तस्वीर को एक अन्य ग्रुप Raahil Mir द्वारा भी साझा किया गया है।

आश्चर्य की बात है कि इसी तस्वीर को व्हाट्सअप पर एक अन्य दावे के साथ साझा किया गया है कि राजस्थान के चूरू में 52°C तापमान की वजह से कारों की स्थिति यह हो गई है।

तथ्य जांच

यह तस्वीर ना ही सऊदी अरब की है और ना ही राजस्थान की। स्नूप्स (Snopes) नाम की एक अमेरिकन फैक्ट-चेकिंग वेबसाइट के अनुसार, यह तस्वीर एरिजोना, यूएसए की है। यह घटना जुलाई 2018 में हुई थी, जब ये गाड़ियां एक निर्माण क्षेत्र के नज़दीक खड़ी थी, जहां पर आग लगने के कारण ये क्षतिग्रस्त हो गई। यह घटना गर्मी के कारण नहीं हुई थी।

टस्कन न्यूज़ नाउ ( Tuscon News Now) के मुताबिक, निर्माण क्षेत्र में लगी आग के कारण करीब 12 गाड़ियां क्षतिग्रस्त हुई थी, जिसमें भीषण गर्मी की वजह से गाड़ियों के बम्पर पिघल गए थे। यह घटना एरिज़ोना के विश्वविद्यालय की है, जहां पर करीब 30 लोगों को घटना की गंभीरता को देखते हुए हटाया गया था।

निष्कर्ष के रूप में, यह तस्वीर एरिज़ोना, यूएसए में जुलाई 2018 में हुई घटना से संबधित है, जिसे सोशल मीडिया पर इस गलत दावे के साथ साझा किया गया कि ये सऊदी अरब में भीषण गर्मी को दर्शाती हैं।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend