58 सेकंड का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक व्यक्ति हेलीकॉप्टर से पंछी को बचा रहा है. फ़ेसबुक और ट्विटर पर कई यूज़र्स इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा कर रहे हैं कि सूरत के जैन समाज ने एक पंछी को बचाने के लिए हेलीकॉप्टर का इंतजाम किया.

13 फरवरी को एक ट्विटर यूज़र ने इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा है, “जैन समाज सूरत (गुजरात) द्वारा तार में उलझे घायल पंछी को सहायता देने के लिये हेलीकॉप्टर मँगाया गया । “जीओ और जीने दो”—महावीर महान हैं ऐसे इंसान वीडियो एक बार जरूर देखें इंसानियत इसी को कहते हैं.”

ये वीडियो फ़ेसबुक पर वायरल है.

ऑल्ट न्यूज़ का फ़ैक्ट-चेक

InVID सॉफ़्टवेयर की मदद से हमने वीडियो को कई की-फ्रेम्स में तोड़ा. इन्हें TinEye पर रिवर्स इमेज सर्च करने से हमें 2013 की एक रिपोर्ट मिली। ये रिपोर्ट ‘मिरर’ की है, जिसमें बताया गया है कि ये घटना यूएस के वर्जीनिया बीच पर हुई थी. रिपोर्ट के मुताबिक, बिजली के तारों से घायल एक सीगल (समुद्री पंछी) को बचाया गया था.

इसके बाद गूगल पर की-वर्ड्स सर्च से ऑल्ट न्यूज़ को ‘न्यूज़ टॉक फ़्लोरिडा‘ और ‘द वर्जीनियन पायलट‘ की रिपोर्ट्स मिलीं. इन रिपोर्ट्स के मुताबिक, वर्जीनिया बीच के लेसनर ब्रिज के पास एक सीगल बिजली के तारों में फंस गया था. सीगल को बचाकर US के कृषि विभाग को दे दिया गया.

ये वीडियो साल 2013 में भी शेयर हुआ था.

Chopper Rescues Gull

A seagull in Virginia Beach was trapped on a power line for days until Virginia Dominion Power crew came to the rescue. The platform helicopter crew had been doing work nearby and used the chopper to free the bird. The seagull had significant injuries and is being treated by the SPCA. (Courtesy NBC News Channel)

Posted by Dave Wagner on Thursday, 19 September 2013

इस तरह सोशल मीडिया में चल रहा दावा गलत साबित होता है कि सूरत में जैन समाज ने पक्षी को बचाने के लिए हेलीकाप्टर का इंतजाम किया.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

Archit is a graduate in English Literature from The MS University of Baroda. He also holds a post-graduation diploma in journalism from the Asian College of Journalism. Since then he has worked at Essel Group's English news channel at WION as a trainee journalist, at S3IDF as a fundraising & communications officer and at The Hindu as a reporter. At Alt News, he works as a fact-checking journalist.