मानसिक रूप से बीमार महिला का वीडियो, बच्चा चोरी की अफवाह के रूप में साझा

“बच्चों उठाने वाला गिरोह रायसिंहनगर में भी सक्रिय हुआ। रायसिंहनगर, वार्ड -24 वाल्मीकि मोहल्ले में एक औरत बच्चे को उठा के ले जा रही थी मोहल्ले वालों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया ।आप सब लोग भी सचेत रहें”।

5 अगस्त को, फेसबुक पेज Aapno Raisinghnagar ने एक वीडियो साझा किया था, जिसमें महिला को लोगों ने बंदी बनाया है। वीडियो के साथ किए गए दावे में उपरोक्त घटना को राजस्थान के श्री गंगानगर जिले के रायसिंह नगर का बताया गया है। वीडियो में, एक व्यक्ति उस महिला के खिलाफ बच्चा चोरी का आरोप लगा रहा है और महिला वीडियो के अधिकांश भाग में चुप रहती है।

 

बच्चों उठाने वाला गिरोह रायसिंहनगर में भी सक्रिय हुआ ।
रायसिंहनगर, वार्ड -24 वाल्मीकि मोहल्ले में एक औरत बच्चे को उठा के ले जा रही थी मोहल्ले वालों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया ।
आप सब लोग भी सचेत रहें ।

Posted by Aapno Raisinghnagar on Monday, 5 August 2019

अन्य कई फेसबुक उपयोगकर्ता ने इस वीडियो को समान दावे से साझा किया है।

मानसिक रूप से बीमार महिला पर बच्चा चोर का झूठा आरोप

ऑल्ट न्यूज़ ने रायसिंह नगर पुलिस से सोशल मीडिया पर प्रसारित वीडियो के बारे में पूछताछ करने के लिए संपर्क किया। रायसिंह नगर स्टेशन हाउस अधिकारी किशन सिंह ने इस दावे को झुठला दिया कि स्थानीय लोगों द्वारा बच्चा चोर महिला को पकड़ा गया था। उन्होंने आगे इस मामले में बताते हुए कहा कि इसमें कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है,“यह घटना 3-4 दिन पहले हुई थी। महिला मानसिक रूप से बीमार थी और बोलने में असमर्थ थी। वह बहुत बूढ़ीथी। लोगों ने एक अफवाह के आधार पर उसे बंधक बना लिया था”-(अनुवाद )।

तथ्य जांच वेबसाइट BOOM ने भी पदमपुर स्थित एक NGO ‘हर प्रभा आसरा सेवा समिति’ से बात की थी, जो बेघर लोगों की देखभाल करता है। समिति के एक सदस्य ने हमें बताया कि,“वह अच्छी तरह से जवाब दे रही है। हालांकि वह उसके ठिकाने के बारे में ज्यादा कुछ नहीं कह पाई है, लेकिन वह मानसिक रूप से ठीक नहीं है”-(अनुवाद )।

अंत में हमने अपनी पड़ताल में पाया कि मानसिक रूप से बीमार और बेघर महिला को स्थानीय लोगों द्वारा शहर में फैली बच्चा चोरी की अफवाहो के चलते झूठे आरोप से बंदी बनाया गया है। इससे पहले भी मध्य प्रदेश में मानसिक रूप से बीमार व्यक्ति को बच्चा चोर के अपहरण के संदेह में लोगों द्वारा बंधक बनाकर प्रताड़ित किया गया था।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend