यूपी के मुख्यमंत्री ने 5 अप्रैल को कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद ANI को इंटरव्यू देते हुए अभद्र शब्द का इस्तेमाल कर दिया. इसके बाद ट्विटर और फ़ेसबुक से लेकर टीवी चैनलों पर पूरा दिन यही वीडियो छाया रहा.

कई पत्रकारों और विपक्ष नेताओं ने मुख्यमंत्री के रिपोर्टर के साथ इस बर्ताव की आलोचना की.

ANI ने वीडियो हटाया और प्रोपगेंडा वेबसाइट ने की बचाव की असफ़ल कोशिश

न्यूज़ एजेंसी ANI ने फ़ौरन ये लाइव प्रसारण बंद कर दिया और फिर वीडियो हटा लिया. ANI ने दूसरा वीडियो अपलोड किया.

एजेंसी ने इसे लेकर अभी कोई बयान जारी नहीं किया. ऑल्ट न्यूज़ ने ANI की मुख्य संपादक स्मिता प्रकाश से संपर्क किया. उनका जवाब था, “मुझे आपसे बात करने में कोई दिलचस्पी नहीं है.” ये कहते हुए उन्होंने फ़ोन काट दिया. ANI की ब्यूरो चीफ़ कामना हजेला ने भी इस वीडियो की बात सुनते ही फ़ोन काट दिया.

यूपी सीएमओ ने कहा कि वीडियो के आखिरी 3 सेकंड को क्लिप किया गया है और मुख्यमंत्री की छवि बिगाड़ने के लिए जो इसे शेयर कर रहे हैं उनके ख़िलाफ़ केस दर्ज किया जाएगा.

पत्रकार दीपक चौरसिया योगी आदित्यनाथ के बचाव में उतरते हुए दिखे और प्रोपगेंडा वेबसाइट ऑप-इंडिया और ब्रेकिंग ट्यूब ने ‘फ़ैक्ट-चेक’ रिपोर्ट पब्लिश कीं.

वीडियो एडिट नहीं किया गया था

ANI ने वीडियो हटा तो लिया, लेकिन ये लाइव प्रसारण कई न्यूज़ चैनल में दिखाया जा चुका था. नीचे ABP गंगा का प्रसारण है जिसमें 6 सेकंड के बाद आदित्यनाथ को अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करते हुए सुना जा सकता है.

न्यूज़ 18 उत्तर प्रदेश पर भी इसे सुना गया.

ट्विटर यूज़र @PatelSahabGJ ने बताया कि आदित्यनाथ को फ़र्स्ट न्यूज़ राजस्थान के प्रसारण में भी 2 मिनट 10 सेकंड पर विवादित शब्दों का इस्तेमाल करते हुए सुना जा सकता है.

प्रो-भाजपा ट्विटर हैंडल @SocialTamasha और @BefittingFacts भी आदित्यनाथ के बचाव में आये. @SocialTamasha ने वीडियो को एडिट किया हुआ साबित करने के लिए तुलना करते हुए एक वीडियो शेयर किया. हैंडल ने दावा किया कि आखिरी के 3 सेकंड को छोड़कर पूरा वीडियो एक ही है. लेकिन दोनों वीडियो में अंतर है (नीचे बोल्ड किया हुआ).

हटाई गयी क्लिप में आदित्यनाथ को कहते हुए सुना जा सकता है, “मैं आदरणीय प्रधानमंत्री जी का, केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का हृदय से आभार व्यक्त करता हूं. देश के वैज्ञानिकों का अभिनन्दन करता हूं. क्या करते हो ******?…” ANI ने बाद वाले में ट्वीट में स्वस्थ्य मंत्रालय का सन्दर्भ दिया.

ANI के दोबारा रिकॉर्ड किये गये वीडियो में मुख्यमंत्री स्वास्थ्य मंत्रालय का नाम नहीं ले रहे हैं. वो कह रहे हैं, “देशवासियों को कोरोना वैक्सीन मुफ़्त में उपलब्ध कराने के लिए आदरणीय प्रधानमंत्री जी का आभार. देश के उन सभी वैज्ञानिकों का जिन्होंने वैक्सीन, समय से दो-दो वैक्सीन भारत के अंदर लॉन्च की है. उनका मैं अभिनन्दन करता हूं जिन्होंने कोरोना महामारी के खिलाफ़…”

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ANI को इंटरव्यू देते हुए अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया. वीडियो एडिट किये जाने वाला दावा ग़लत है. ANI ने अभी तक इस विवाद पर कोई सफ़ाई नहीं दी है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged:
About the Author

Pooja Chaudhuri is a senior editor at Alt News.