30 सेकंड का एक वीडियो जिसमें चलती बस के अंदर पानी भर जाता है, सोशल मीडिया पर सूरत का बताकर वायरल हो रहा है. इसमें बस में बैठे कुछ यात्रियों को पानी की वजह से अपनी सीट से उठते हुए देखा जा सकता है. गुजरात की मुख्य समाचार चैनल @GSTV_NEWS ने 22 जुलाई 2024 को ये वीडियो सूरत का बताकर शेयर किया. (आर्काइव लिंक)

4 साल पहले दिल्ली का बताकर हुआ था शेयर

कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया पैनेलिस्ट अभिषेक दत्त ने 13 अगस्त 2020 को ये वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “केजरीवाल जी कल सुबह किस बात का प्रचार फुल पेज ऐड अखबारों के माध्यम से देंगे ? बारिश में जल भराव के समय चाय के साथ पकोड़े कैसे बनाए.(Whatsapp)” (ट्वीट का आर्काइव)

कांग्रेस से जुड़ी नेता अलका लाम्बा ने इस ट्वीट को रीट्वीट किया.

2020-08-13 18_02_09-Alka Lamba - अल्का लाम्बा 🇮🇳🙏 (@LambaAlka) _ Twitter

दिल्ली यूथ कांग्रेस ने ये वीडियो ट्वीट किया और लिखा, “अरविन्द केजरीवाल जी, आपका विकास बारिश आते ही डूबने लगता है. इस वीडियो से पता लगता है कि दिल्ली सरकार ने कितना काम किया है इन 6 सालों में ठगने और लूटने के अलावा कोई काम नहीं हुआ है.” इस ट्वीट को अब डिलीट किया जा चुका है, लेकिन इसका स्क्रीनशॉट आप नीचे देख सकते हैं. मुंबई महिला कांग्रेस की वाइस प्रेसीडेंट गुरप्रीत कौर चड्डा ने भी ये वीडियो दिल्ली का बताकर ट्वीट किया था, जिसे बाद में डिलीट कर दिया गया.

रिपब्लिक भारत के ऐंकर आशुतोष चतुर्वेदी ने इसे दिल्ली के डीटीसी बस का वीडियो बताकर ट्वीट किया. एक यूज़र @Being_Habibi ने भी इसे शेयर किया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर निशाना साधते हुए लिखा, “केजरीवाल जी दिल्ली वालों को वेनिस का टूर डीटीसी में कराते हुए.” इस आर्टिकल के लिखे जाने तक वीडियो को 60 हज़ार से अधिक बार देखा गया.

फ़ैक्ट-चेक

वीडियो के एक फ़्रेम का रिर्वस इमेज सर्च करने से कुछ मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं, जिसमें इस वीडियो को राजस्थान के जयपुर का बताया गया है. पत्रिका ने 11 अगस्त, 2020 की एक रिपोर्ट में बताया है, “सोमवार को हुई बारिश में निगम के नालों की सफ़ाई और ड्रेनेज सिस्टम की पोल पूरी तरह से खुल गयी. हर साल करोड़ों रूपये खर्च कर साफ सफाई का दावा करने वाला निगम हर साल इस व्यवस्था में फ़ेल हो रहा है.”

jaipur पत्रिका

NDTV के पत्रकार उमाशंकर सिंह ने 12 अगस्त को 1 मिनट लम्बा ये वीडियो जयपुर का बताकर ट्वीट किया है.

इस वीडियो के 58 सेकंड पर एक फ़्रेम आता है जहां ‘जयपुर बस’ लिखा हुआ है. इस तस्वीर को हॉरीज़ॉन्टली फ़्लिप करने पर ये और साफ़ हो जाता है.

साथ ही 54 सेकंड पर वीडियो में ‘नसियां भट्टारकजी’ लिखा हुआ दिख रहा है. ये जयपुर में स्थित एक जैन मंदिर है.

Screenshot_20200813-153955__01

इस तरह जयपुर का वीडियो अरविन्द केजरीवाल पर निशाना साधते हुए गलत दावे से शेयर किया जा रहा है. रिपब्लिक भारत के ऐंकर आशुतोष ने बाद में एक ट्वीट करते हुए इस वीडियो को जयपुर का बताया.

कांग्रेस के कई सदस्य जैसे अभिषेक दत्त, अलका लाम्बा, गुरप्रीत कौर चड्डा ने इस वीडियो को दिल्ली का बताकर शेयर किया जबकि ये वीडियो जयपुर का है और वहां कांग्रेस की ही सरकार थी. हाल में ये वीडियो फिर से गुजरात के सूरत का बताकर शेयर किया जा रहा है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

About the Author

She specializes in information verification, examining mis/disinformation, social media monitoring and platform accountability. Her aim is to make the internet a safer place and enable people to become informed social media users. She has been a part of Alt News since 2018.