“कांग्रेसी गुलामों अपने राजमाता की दिव्य दर्शन करो छुप छुप के मजे ले रही हैं, शेयर करो मोदी भक्तों” इन शब्दों के साथ ‘फिर एक बार मोदी सरकार’ नाम के फेसबुक पेज ने सोनिया गाँधी की एक तस्वीर पोस्ट की है, जिसे इस रिपोर्ट के लिखे जाने तक 36 हजार से ज्यादा बार शेयर किया जा चूका है। इस पेज के करीब 60 हजार फॉलोअर्स हैं।

sonia-gandhi-fake-pic

कांग्रेसी गुलामों अपने राजमाता की दिव्य दर्शन करो छुप छुप के मजे ले रही हैं

शेयर करो मोदी भक्तों

Posted by फिर एक बार मोदी सरकार on Saturday, 12 May 2018

इन्हीं शब्दों के साथ इस तस्वीर को फेसबुक पर कई पेज और पर्सनल हैंडल से यूजर्स पोस्ट कर रहे हैं। योगी सरकार नाम के फेसबुक पेज जिसके 2 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हैं, इस पेज ने भी तस्वीर को पोस्ट किया है।

ट्विटर पर इस तस्वीर को कई यूजर्स ने उन्हीं शब्दों के साथ पोस्ट किया है।

इस तस्वीर का सन्दर्भ एक सच्चाई नाम के ब्लॉगपोस्ट से 25 जून, 2015 के सोनिया गाँधी को निशाना बनाकर लिखे गए एक लेख में भी है। इससे यह पता चला कि यह तस्वीर पुरानी है और अभी वायरल की जा रही है।

क्या है इस वायरल तस्वीर की सच्चाई?

ऑल्ट न्यूज़ ने जब इस तस्वीर की जाँच की तो पाया कि यह असली तस्वीर नहीं है। इस तस्वीर के साथ छेड़-छाड़ की गई है। इसमें सोनिया गाँधी के अलावा जो दुसरे शख्स दिख रहे हैं, वो मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मॉमून अब्दुल गैयूम हैं। वो 1978 से 2008 तक मालदीव के राष्ट्रपति रहे थे। इसी कार्यकाल के दौरान मार्च 2005 में वह दिल्ली आये थे और उस समय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी से मुलाकात की थी। असली तस्वीर नीचे देखी जा सकती है।

President-of-Maldives-Gayoom

ऊपर की तस्वीर में फोटोशॉप की मदद से सोनिया गाँधी को उनके जगह से उठाकर मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति के गोद में बिठा दिया गया है, ताकि यह अप्पतिजनक दिखे। आइये हम आपको एक विडियो के माध्यम से बताते हैं कि यह कैसे किया गया है।

सोशल मीडिया और इन्टरनेट के इस युग में कुछ भी वायरल होते देर नहीं लगती, खासकर अगर राजनितिक दलों से जुड़ी कुछ सनसनीखेज खबर या तस्वीर हो तो दूसरी पार्टी के सदस्य और समर्थक बिना सोचे शेयर कर देते हैं। सोशल मीडिया पर कुछ-भी शेयर करने से पहले एक बार ज़रूर सोचें।

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

Priyanka Jha specialises in monitoring and researching mis/disinformation at Alt News. She also manages the Alt News Hindi portal.