19 मार्च 2021 को दिल्ली भाजपा के नेता और प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने राहुल गांधी का एक वीडियो ट्वीट किया. वीडियो में दिख रहा है कि राहुल गांधी कुछ लोगों से बात करते हुए पूछते हैं, “एक बात इनसे पूछिए बीजेपी के टाइम में इनको लगता है कि अनइम्प्लॉइमेंट बढ़ा है?” जिसका जवाब देते हुए एक लड़का कहता है, “नहीं बढ़ा है.” इस वीडियो के आगे एक और वीडियो जोड़ा है जिसमें “क्या गज़ब बेइज्ज़ती है” बोला गया है. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 54 हज़ार बार देखा और 2 हज़ार से ज़्यादा बार रीट्वीट किया गया है. (आर्काइव लिंक)

ट्विटर यूज़र अतुल आहूजा ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “गज़ब बेइज्ज़ती है यार”. आर्टिकल लिखे जाने तक इसे 22 हज़ार से ज़्यादा बार देखा जा चुका है. (आर्काइव लिंक)

ट्विटर हैन्डल “@ModiBharosa” ने भी ये वीडियो ट्वीट किया है. (आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक और ट्विटर पर ये वीडियो काफ़ी शेयर किया गया है.

 

साला गजब बेइज्जती है यार😭😂

Posted by Amar Purohit on Friday, 19 March 2021

फ़ैक्ट-चेक

यूट्यूब पर की-वर्ड्स सर्च करने से हमें इंडियन नेशनल कांग्रेस का 19 मार्च का एक वीडियो मिला. वीडियो में राहुल गांधी ने वैसे ही कपड़े पहने हुए जैसे उन्होंने वायरल वीडियो में पहने हैं. कैप्शन के मुताबिक, “लाइव : श्री राहुल गांधी ने असम में डिब्रूगढ़ के लाहौल के छात्रों से बातचीत की”. 1 घंटे 6 मिनट के इस वीडियो में आप वायरल वीडियो का हिस्सा 24 मिनट 16 सेकंड के बाद देख सकते हैं. इस वीडियो में राहुल गांधी और दर्शकों में सफ़ेद रंग की शर्ट पहने व्यक्ति के बीच की बातचीत इस प्रकार है :

राहुल गांधी : “अच्छा एक बात इनसे पूछिए, बीजेपी के टाइम में इनको लगता है कि अनइम्प्लॉइमेंट बढ़ा है?”

छात्र : “नहीं बढ़ा है.”

राहुल गांधी : “बढ़ा है. नहीं अनइम्प्लॉइमेंट.”

(बाकी के छात्र सफ़ेद शर्ट पहने व्यक्ति को समझाते हैं.”)

छात्र : असमी भाषा में कुछ बोलता है.

इसका अनुवाद करते हुए दूसरा छात्र बोलता है : “यही बोल रहा है कि अनइम्प्लॉइमेंट बढ़ा है.”

गौर करें कि ऑडियन्स में सफ़ेद रंग की शर्ट पहना छात्र जो कि वायरल वीडियो में बेरोज़गारी बढ़ने की बात नकार देता है, वो असमी भाषी है और उसे हिन्दी भाषा ठीक से समझ में नहीं आती है. इस वीडियो में 17 मिनट 23 सेकंड के बाद देख सकते हैं कि ये व्यक्ति राहुल गांधी से असमी भाषा में ही बात करता है. इसके अलावा, जब राहुल गांधी उसके सवाल का जवाब देते हैं तो वो भी उसे अनुवाद कर के बताया जाता है. जब राहुल गांधी बेरोज़गारी वाला सवाल पूछते हैं तो ये व्यक्ति हड़बड़ी में गलत जवाब देता है. लेकिन उसके आस-पास खड़े लोग उसे राहुल का सवाल समझाते हैं जिसपर ये छात्र बेरोज़गारी बढ़ने की बात बताता है. इसके आगे, राहुल गांधी पूछते हैं, “इनको क्या लगता है कि बीजेपी के टाइम में अनइम्प्लॉइमेंट बढ़ा है वो क्यों बढ़ा है.” फ़िर से इसका जवाब ये छात्र असमी भाषा में देता है. इसका अनुवाद करते हुए एक और व्यक्ति राहुल गांधी को बताता है, “ये बोल रहे हैं कि उनलोगों के विचारधारा में ये बात है ही नहीं कि लोगों को इम्प्लॉइमेंट देना है. इंडस्ट्री ये सब करना है. अगर यूथ को इम्प्लॉइमेंट नहीं बढ़ेंगे, अगर उनलोगों को सर्विसमेंट नहीं मिलेगी तो कैसे वो लोग आगे बढ़ेंगे.”

इसके अलावा, अगर आप राहुल गांधी और सफ़ेद शर्ट पहने छात्र की बातचीत सुनेंगे तो आपको केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ़ इस व्यक्ति की नाराज़गी साफ़ देखने को मिलेगी.

कुल मिलाकर, राहुल गांधी के छात्रों से बातचीत करने का वीडियो क्लिप कर सोशल मीडिया पर गलत दावे से चलाया गया. काटे गए वीडियो के ज़रिए ये दिखाने की कोशिश की गई कि छात्र राहुल गांधी के बेरोज़गारी बढ़ने के दावे को नकार रहे हैं. जबकि ये इसलिए हुआ था क्यूंकि उस लड़के को भाषा की समझ नहीं थी.


पाकिस्तान को मिल रही वैक्सीन्स से लेकर कांग्रेस के Covid-19 वैक्सीन को लेकर ग़लत दावे तक फ़ैक्ट-चेक्स :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: