सोशल मीडिया पर एक तस्वीर काफी शेयर की जा रही है. तस्वीर में एक बोर्ड दिख रहा है जिसपर ‘हज़रत हाजी पीर बाबा राणी बाग’ लिखा है. दावा है कि वीरमाता जीजामाता उद्यान का नाम बदलकर हज़रत हाज़ी पीर बाबा राणी बाग कर दिया गया है. ये उद्यान मुंबई में है. ट्विटर यूज़र केदार ने ये तस्वीर इसी दावे के साथ ट्वीट की है.

और भी कई ट्विटर यूज़र ने ये तस्वीर इसी दावे के साथ ट्वीट की है.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ेसबुक पर ये तस्वीर वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

इस दावे की असलियत का पता लगाने के लिए ऑल्ट न्यूज़ ने ‘वीरमाता जीजाबाई उद्यान’ के बारे में सर्च किया. लेकिन हमें इसका नाम बदले जाने के बारे में कोई खबर नहीं मिली. गूगल पर भी इस उद्यान का नाम बदल दिए जाने के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

इस उद्यान के बारे में सर्च करते हुए हमें ज़ैद नाम के एक व्यक्ति का वीडियो मिला. ये वीडियो 26 नवंबर 2021 का है. इस वीडियो में 1 मिनट 4 सेकंड पर उद्यान में मौजूद एक साइन बोर्ड दिखता है. इस बोर्ड पर ‘वीरमाता जीजाबाई भोसले उद्यान और प्राणीसंग्रहालय’ लिखा है.

इस दावे की असलियत जानने के लिए ऑल्ट न्यूज़ ने वीरमाता जीजाबाइ उद्यान में संपर्क करने की कोशिश की. इस संग्रहालय के डायरेक्टर डॉ. संजय त्रिपाठी ने बताया, “वीरमाता जीजाबाई भोसले उद्यान और प्राणीसंग्रहालय के परिसर में मौजूद काफ़ी पुरानी दरगाह का नाम हज़रत हाजी पीर दरगाह है. इस दरगाह के पास एक साइनबोर्ड है. उसी की तस्वीर सोशल मीडिया पर ग़लत दावे के साथ शेयर की जा रही है कि प्राणीसंग्रहालय का नाम बदलकर हज़रत हाजी पीर बाबा राणीबाग कर दिया गया है.”

यानी, सोशल मीडिया पर वीरमाता जीजाबाई भोसले उद्यान और प्राणीसंग्रहालय के परिसर में मौजूद दरगाह के साइनबोर्ड की तस्वीर झूठे दावे के साथ शेयर की गई कि इसका नाम बदल दिया गया है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged: