गलत दावा कि Surf Excel के विवादित विज्ञापन के बाद कंपनी को 10 करोड़ रुपये का घाटा

सोशल मीडिया में चल रहे कथित रूप से टाइम्स ऑफ इंडिया के एक ट्वीट में कहा गया है, “सर्फ एक्सेल के हिंदुओं को शर्मिंदा करने वाले अपमानजनक विज्ञापन से दुखी हिंदू समाज के बहिष्कार के परिणाम स्वरूप कंपनी को लगभग 10 करोड़ रुपये की राशि का घाटा हो चुका है जिसके आगे और बढ़ने की संभावना है – (अनुवाद )।” इस ट्वीट को प्रसारित करने वालों में एक, फेसबुक पेज ‘द राइट डायरेक्शन’ है।

सोशल मीडिया में ऐसा ही एक दावा और जुड़ गया है कि फ्लिपकार्ट ने अपनी ई-कॉमर्स वेबसाइट से सर्फ एक्सेल को हटा दिया है। स्प्रीहा रॉय चौधरी नामक एक व्यक्ति ने ‘वी सपोर्ट रिपब्लिक नामक एक फेसबुक ग्रुप में इस दावे को पोस्ट किया है।

नकली ट्वीट

अगर कोई ट्विटर पर इस कथित टाइम्स ऑफ इंडिया के ट्वीट को ढूंढे तो कोई परिणाम नहीं आता है। इससे एक संभावना बनती है कि इस ट्वीट को इस मीडिया संगठन ने हटा दिया हो।

इस ट्वीट के सत्यापन के लिए हमने इसमें किसी असामान्यता की खोज की। नीचे दिए गए कोलाज में बायीं ओर का ट्वीट टाइम्स ऑफ इंडिया के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लिया गया है। दाहिनी ओर का ट्वीट सोशल मीडिया में वायरल है। बाएं ट्वीट में अगर आप वाक्यों की सीध (alignment) और TOI के लोगो का स्थान देखें तो ये सभी बायीं ओर एक-सीध में आते हैं। इसके विपरीत, दाहिनी ओर वाली तस्वीर में लोगो खिसका हुआ है।

इससे स्पष्ट है कि टाइम्स ऑफ इंडिया का बताया गया वायरल ट्वीट बनाया हुआ यानी, नकली है। इसके बाद, जहां तक फ्लिपकार्ट की बात है, न तो इस कंपनी ने सर्फ एक्सेल को अपनी साइट से हटाने की कोई घोषणा की है और न ही किसी मीडिया संगठन ने इसकी खबर दी है।

 

surf excel

हिंदू-मुस्लिम साम्प्रदायिक सद्भाव को दिखलाने वाले हिंदुस्तान यूनिलीवर के विज्ञापन के बाद से सोशल मीडिया में कई लोगों ने इस कंपनी के उत्पादों के बहिष्कार का आह्वान किया। लेकिन, किसी भी मीडिया रिपोर्ट में नहीं बताया गया है कि हिंदुस्तान यूनिलीवर को इससे कोई बड़ा नुकसान हुआ है।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend