News18 और Dainik Jagran द्वारा फैलाया जा रहा मेजर प्रफुल्ल का फर्जी विडियो

यह वीडियो सीमा पर शहीद हुए मेजर प्रफुल्ल अंबादास की बताई जा रही है। घायल मेजर अपनी जान की परवाह किए बिना साथियों को सुरक्षित रहने का आदेश दे रहे हैं।“। उपर्युक्त संदेश वाला एक वीडियो इस वक्त सोशल मीडिया पर वायरल है। यह दावा किया जा रहा है कि जम्मू और कश्मीर के केरी क्षेत्र में शनिवार को युद्ध विराम के उल्लंघन में मारे जाने वाले मेजर प्रफुल्ल अंबादास मोहरकर, आखिरी सांस तक अपनी यूनिट को निर्देश दे रहे थे। रिपोर्ट के मुताबिक, केरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा सीजफायर उल्लंघन के दौरान मेजर मोहरकर, सिपाही परगट सिंह, लांस नाइक गुरमेल सिंह और लांस नाइक कुलदीप सिंह शहीद हो गए थे।

इस वीडियो को जनरल वी के सिंह के सत्यापित फेसबुक पेज द्वारा साझा किया गया था, जबकि उन्होंने अधिकारी के नाम का उल्लेख किए बिना कहा,” भारतीय सेना की जाँबाज़ी की अग्रिम पंक्ति हैं हमारे युवा अधिकारी. #JaiHind” । बहुत से लोग इस वीडियो को मेजर प्रफुल्ल अधिकारी समझते हुए साझा कर रहे है। इस वीडियो को आप की विधायक अलका लांबा ने भी अपने ट्विटर टाइमलाइन पर पोस्ट किया था। जबकि इसे तेलंगाना टुडे और सियासत डेली वेबसाइटों द्वारा भी साझा किया गया था।

Gen VK Singh shared the video

वीडियो अभी भी फेसबुक, व्हाट्सएप और ट्विटर पर वायरल है।

क्या वीडियो वास्तव में मेजर प्रफुल्ल की है? नहीं, क्योंकि इस वीडियो को यूट्यूब पे मौजूद हुए 7 साल से भी अधिक समय हो गया है। जनवरी 2017 में सीआरपीएफ द्वारा इस वीडियो को अपने सत्यापित ट्विटर अकाउंट से शेयर किया था और सैनिक के रूप में सहायक कमांडेंट सतवंत सिंह की पहचान दी गयी थी।

यह एक दुखद घटना है और इसके लिए लोगों की इससे सहानुभूति जताते हुए एक फर्जी विडियो को सच मान कर शेयर किये जाने की बात समझ में आती है लेकिन इस खबर को मुख्यधारा की मीडिया द्वारा भी इसी फर्जी विडियो लेकर गलत सन्देश के साथ फैलाया जा रहा। ये News18 India की फेसबुक पेज की हैडलाइन है “गोली लगने के बाद भी फर्ज निभाते शहीद मेजर प्रफुल्ल”. News18 के वेबसाइट पर इस शीर्षक के साथ एक लेख भी लिखा गया, “शहीद मेजर प्रफुल्ल के आखिरी समय का ‘वीडियो’ वायरल”।

गोली लगने के बाद भी फर्ज निभाते शहीद मेजर प्रफुल्ल, VIDEO वायरल

गोली लगने के बाद भी फर्ज निभाते शहीद मेजर प्रफुल्ल, VIDEO वायरल
https://goo.gl/4gBy9H

Posted by News18 India on Wednesday, 27 December 2017

Dainik Jagran के फेसबुक पेज से ये कहा गया- “जांबाज सैनिक: आखिरी समय में भी अपनी ड्यूटी कर रहे थे मेजर प्रफुल्ल, सुनिए अंतिम शब्द”

जांबाज सैनिक: आखिरी समय में भी अपनी ड्यूटी कर रहे थे मेजर प्रफुल्ल, सुनिए अंतिम शब्द

जांबाज सैनिक: आखिरी समय में भी अपनी ड्यूटी कर रहे थे मेजर प्रफुल्ल, सुनिए अंतिम शब्द

Posted by Dainik Jagran on Wednesday, 27 December 2017

थोड़े समय पहले जब 2 भारतीय सैनिकों का पाकिस्तान ने सिर काटके अलग कर दिया था, ब्राज़ील के बैंक लूटने वालों का एक पुराना विडियो इस ही तरह से वायरल किया जा रहा था। ऐसी दुखद घटनाओं के बाद अक्सर ऐसे विडियो वायरल किये जाते हैं। कृपया कोई भी ऐसी विडियो आगे भेजने से पहले सोचें। हमें अपने वीर सेनानियों पे गर्व करने के लिए ऐसे फर्जी विडियो की ज़रूरत नहीं हैं।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend