केंद्र सरकार के नए किसान कानूनों के खिलाफ़ किसानों का ‘दिल्ली चलो’ प्रदर्शन चल रहा है. सरकार के बुराड़ी मैदान में प्रदर्शन करने के प्रस्ताव को किसान संगठनों ने ठुकरा दिया. रामलीला मैदान में प्रदर्शन करने की मांग पर वो अड़े हैं और दिल्ली की सीमा पर डटे हुए हैं. इस बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर करते हुए दावा किया गया कि पंजाब से 20 हज़ार निहंग सिंह किसान ‘दिल्ली चलो’ आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए निकले हैं. ट्विटर यूज़र संजय विश्वकर्मा ने ये वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीट किया. आर्टिकल लिखे जाने तक इसे 34,800 बार देखा जा चुका है. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक पेज ‘K9media’ ने ये वीडियो इसी दावे के साथ पोस्ट किया है. आर्टिकल लिखे जाने तक इसे 3,200 व्यूज़ मिले. (पोस्ट का आर्काइव लिंक)

ट्विटर हैन्डल ‘@bmahabharat2’ ने ये वीडियो ट्वीट किया है. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक और ट्विटर पर ये वीडियो 20 हज़ार किसानों के दिल्ली रवाना होने के दावे के साथ वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

वीडियो के फ़्रेम्स को रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें ये वीडियो यूट्यूब पर 1 जनवरी 2019 को अपलोड किया हुआ मिला. कैप्शन में इसे निहंग सिंह चक्र दुमाला वाले, नगर कीर्तन का बताया गया है.

आगे, की-वर्ड्स सर्च करने पर 2 अक्टूबर 2018 को अपलोड किया हुआ ये वीडियो मिला. इसके अलावा, 2 जुलाई 2020 को यूट्यूब चैनल ‘Fouj96Crori Soldier96Crori’ ने ये वीडियो साल 2018 के दिल्ली फ़तेह दिवस का बताकर अपलोड किया है.

यूट्यूब वीडियो की वायरल वीडियो से तुलना करने पर दोनों वीडियो के एक होने की बात साफ़ हो जाती है.

This slideshow requires JavaScript.

दिल्ली फ़तेह दिवस हर साल 11 मार्च को मनाया जाता है. बिज़नेस स्टैण्डर्ड की 2014 की एक रिपोर्ट के अनुसार 11 मार्च 1783 को सिख सैनिकों ने लाल किला पर हमला कर दीवान-ए-आम पर कब्जा कर लिया था. इसके चलते दिल्ली फ़तेह दिवस पर सिख समुदाय के लोग अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं.

कुल मिलाकर, साल 2018 में दिल्ली फ़तेह दिवस के मौके पर निकाले गए जुलूस का वीडियो हाल के किसान प्रदर्शन से जोड़कर शेयर किया गया. वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि 20 हज़ार निहंग सिंह किसान प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली रवाना हुए हैं.


किसान प्रदर्शनों से जुड़े फ़ैक्ट चेक्स देखें हमारी वीडियो रिपोर्ट में:

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.