ममता बनर्जी ने नहीं कहा, “मैं मोदी को थप्पड़ मारूंगी“ – कुछ मीडिया संगठनों ने की गलत रिपोर्टिंग

2019 का लोकसभा चुनाव 5वें चरण में पहुंच चुका है और चुनाव क्षेत्रों में पश्चिम बंगाल भी शामिल है। भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस एक दूसरे से आगे बढ़ने की होड़ में लगे हैं। इसमें स्वयं प्रधानमंत्री भी चुनाव प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने 6 मई के अपने भाषण में TMC को ‘TTT’ यानी की ‘तृणमूल, टोलबाज़ी, टैक्स’ कहा, जिसमें बंगाली शब्द टोलबाज़ी का मतलब लुटेरा होता है।

पीएम के बयान के बाद कई बड़े मीडिया संगठनो ने बताया कि ममता बनर्जी ने मोदी की टिपण्णी के जवाब में कहा कि – “मैं मोदी को थप्पड़ मारूंगी।”

गलत प्रस्तुति

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के बयान को मीडिया द्वारा गलत तरीके से प्रस्तुत किया गया। उन्होंने नहीं कहा था कि “में मोदी को थप्पड़ मारूंगी।” बल्कि उन्होंने कहा था कि,”मै मोदी को लोकतंत्र का करारा चांटा मारना चाहती हूं।” तृणमूल कांग्रेस ने बनर्जी का वीडियो अपलोड किया जिसमे वो कह रही है, ”নরেন্দ্র মোদী যখন বাংলায় এসে বলে মমতা ব্যানার্জী তোলাবাজ, তখন শুনলে আমার মনে হয় দি ঠাসি একটা ভালো করে গণতন্ত্রের থাপ্পড় ( जब नरेंद्र मोदी बंगाल आये और उन्होंने मुझ पर लुटेरा होने का आरोप लगाया तब मुझे उन्हें लोकतंत्र का कड़ा तमाचा देने का मन किया”)

मीडिया संगठनों द्वारा ममता बनर्जी के बयान की गलत तरीके से प्रस्तुति

आजतक

अंजना ओम कश्यप ने अपने शो ‘हल्ला बोल’ में कई बार इस बात को कहा कि ममता बनर्जी प्रधानमंत्री को थप्पड़ मारेंगी। बीजेपी और टीएमसी के प्रवक्ताओं के बीच की गरमा गरम बहस के दौरान कश्यप ने टीएमसी के प्रवक्ता को कहा कि “अच्छा थप्पड़ वाले बयान पे एकबार बोलिए मनोजीत जी। “

शो के दौरान अंजना ओम कश्यप ने बनर्जी पर ‘प्रवासियों’ और ‘परोसी देशों’ से सहानुभूति रखने का आरोप लगाया। उन्होंने टीएमसी प्रवक्ता को प्रश्न पूछा कि “इतना सम्मान जो कमज़ोर है उसकी देख-रेख करना देश में, जो पड़ोसी मुल्क से आये उससे भी भाईचारा रखना, इतनी महान बाते करने वाली, देश के प्रधानमंत्री को थप्पड़ क्यों मारना चाहती है?”
टीएमसी प्रवक्ता ने कहा की प्रधानमंत्री मोदी मुद्दों की राजनीतीकरण के लिए पश्चिम बंगाल आते है, इस पर कश्यप ने कहा, “पर पीएम के लिए ऐसा बोलना सही है क्या कि मेरा मन करता है उनको थप्पड़ मार दू?”

आजतक के शो को नीचे देखा जा सकता है, जिसमे एंकर अंजना ओम कश्यप के तीन बयानों को 38:30 मिनट पर सुना जा सकता है।

 

‘हवन करेंगे…हवन करेंगे’ ! देखिए #हल्ला_बोल @anjanaomkashyap के साथ #ATLivestream

Posted by News Tak on Tuesday, 7 May 2019

न्यूज़ चैनल ने एक लेख भी प्रकाशित किया जिसमें कहा गया कि ‘आपे से बाहर हुईं ममता बनर्जी बोलीं- मोदी को थप्पड़ मारने का मन करता है’

एबीपी न्यूज़

लोकप्रिय हिंदी समाचार चैनल एबीपी न्यूज़ ने ममता बनर्जी के हालिया बयान को 10 मिनट से अधिक समय तक चलाया। शो के शीर्षक ‘पीएम नरेंद्र मोदी को लोकतंत्र के’ थप्पड़ ‘की जरूरत है: ममता बनर्जी’ में एंकर रुबिका लियाकत ने ‘लोकतंत्र शब्द को छोड़ दिया।’

कार्यक्रम में लगभग 8:35 मिनट पर दर्शकों में से एक सदस्य ने बीजेपी प्रवक्ता से सवाल किया कि क्या उनकी पार्टी हिंदुत्व और आतंकवाद पर चुनाव जीतने की योजना बना रही है। जैसे ही उन्होंने पूछा, “क्या भाजपा भी छोटे व्यापारियों के बारे में चिंतित है?”, लियाकत ने बीच में कहा, “एक बड़ी खबर हमारे पास आ रही है।”

यह बड़ी खबर ममता बनर्जी के बयान की थी जिसे लियाकत ने गलत तरीके से प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा, “आपको पता है क्या हुआ है अभी? ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री मोदी पे बड़ा हमला किया। वो कह रही है मैं पीएम को थप्पड़ मारूंगी। “

हाल ही में रुबिका लियाकत को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की झूठी शैक्षिक योग्यता पर उनका बचाव करते हुए पाया गया था।

सीएनएन न्यूज़ 18

“पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वह प्रधानमंत्री मोदी को थप्पड़ मारेंगी क्योंकि वह कह रहे थे कि ममता बनर्जी की पार्टी जबरन वसूली करने वाली पार्टी है …” सीएनएन न्यूज़ 18 ने अपने 7 मई के प्रसारण में यह कहा था। बनर्जी को ज़िम्मेदार ठहराते हुए इस बयान को 7 मिनट के प्रसारण में दोहराया गया। चैनल ने यह फ्लैश करते हुए चलाया कि “ममता को प्रधानमंत्री को थप्पड़ मारने वाले बयान को लेकर प्रताड़ित किया जा रहा है”

CNN न्यूज़ 18 ने बाद में अपना यह ट्वीट डिलीट (आर्काइव) कर लिया और सुधार करते हुए ममता बनर्जी के असली बयान को ट्वीट किया।

जनसत्ता

इंडियन एक्सप्रेस के हिंदी संस्करण जनसत्ता के एक लेख में ममता बनर्जी के बयान को गलत तरीके से प्रस्तुत किया गया। जनसत्ता की रिपोर्ट का शीर्षक था-’अलग दौर में पहुंचा ‘वर्ड-वॉर’, ममता बनर्जी ने कहा- मोदी को थप्पड़ मारने का मन करता है‘

ममता बनर्जी के बयान को कुछ मीडिया संगठनों द्वारा सही तरीके से भी दिखाया गया।

उन सभी मीडिया संगठनों में सिर्फसीएनएन न्यूज़ 18 ने ही स्पष्टीकरण जारी कर ममता बनर्जी का सही बयान छापा, जबकि एबीपी न्यूज़ और आजतक ने अभी तक ममता बनर्जी के बयान को गलत तरीके से प्रस्तुत करने पर कोई स्पष्टीकरण जारी नहीं किया है।

अनुवाद: किंजल परमार

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend