सोशल मीडिया पर भगवा कुर्ता पहने एक व्यक्ति की तस्वीरें वायरल हैं. पहली तस्वीर में कुछ महिलाएं इस व्यक्ति को पीटती नज़र आ रही हैं जबकि दूसरी तस्वीर में इस व्यक्ति का कुर्ता फटा हुआ दिखता है. दावा है कि उत्तर प्रदेश के अमरोहा में भाजपा विधायक की महिलाओं ने जूते-चप्पलों से पिटाई की. फ़ेसबुक ग्रुप ‘I Support Kanhaiya Kumar’ पर ये तस्वीरें पोस्ट करते हुए लिखा गया है, “उत्तर प्रदेश में अमरोहा के बीजेपी विधायक की महिलाओं के द्वारा जूते-चप्पल व डंडे से पिटाई की खबर आ रही है!”.

ट्विटर यूज़र मोबीन पठान ने भी ये तस्वीरें इसी दावे के साथ ट्वीट की हैं. मोबीन ने ट्विटर बायो में खुद को इंडियन यूथ कांग्रेस से जुड़ा हुआ बताया है. (आर्काइव लिंक)

ट्विटर और फ़ेसबुक पर ये तस्वीरें वायरल हैं.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

की-वर्ड्स सर्च से हमें 6 जून 2018 की न्यूज़18 इंडिया की वीडियो रिपोर्ट मिली. खबर के मुताबिक, यूपी के अमरोहा के कलेक्ट्रेट परिसर में भाजपा नेता मदन वर्मा की भाजपा महिला कार्यकर्ताओं ने पिटाई की थी. दरअसल मदन वर्मा कलेक्ट्रेट में राशन की चोरी की शिकायत करने पहुंची बीजेपी महिला कार्यकर्ताओं को समझाने गए थे. लेकिन गुस्साई महिलाओं ने नेता पर दलाली का आरोप लगाते हुए उनकी पिटाई कर दी थी. इन महिलाओं ने मदन वर्मा पर एक मंत्री का नाम लेकर राशन दुकानदारों से वसूली करने का आरोप लगाया है.

न्यूज़18 इंडिया ने इस घटना के बारे में ट्वीट किया था.

5 जून 2018 को ‘द वॉइस हिन्दी न्यूज़’ ने भी इस घटना के बारे में खबर दी थी. आर्टिकल में महिलाओं के हवाले से बताया गया है, “गांव में तीन-तीन राशन की दुकान होने के बावजूद उन्हें न तो खाद्यान्न मिल रहा और न मिट्टी का तेल, राशन डीलर खाद्यान्न और मिट्टी के तेल की खुलेआम कालाबाजारी कर रहे हैं.”

इसके अलावा, मदन कुमार वर्मा को किसी भी न्यूज़ रिपोर्ट में भाजपा विधायक नहीं बताया गया है. ‘माइ नेता’ पर भी हमें उनके विधायक होने के संबंधित कोई जानकारी नहीं मिली. मदन वर्मा के ट्विटर प्रोफ़ाइल में लिखा है, “चेयरमैन पलौला सहकारी समिति,अमरोहा”.

उत्तर प्रदेश के अमरोहा से समाजवादी पार्टी के महबूब अली विधायक हैं.

यानी, 2018 में अमरोहा के कलेक्ट्रेट ऑफ़िस में भाजपा नेता मदन वर्मा की भाजपा महिला कार्यकर्ताओं द्वारा पिटाई करने की तस्वीरें हाल में भाजपा विधायक की पिटाई होने के झूठे दावे से शेयर की जा रही है.


ज़ी हिंदुस्तान ने अलीगढ़ की घटना पर इक्वेडोर का वीडियो चलाया और नाम दिया ‘वैक्सीन जिहाद’ :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: