सोशल मीडिया में पुलिसकर्मी द्वारा एक व्यक्ति को मारते और घसीटते हुए पुलिस स्टेशन में ले जाने का एक वीडियो व्यापक रूप से प्रसारित है, जिसके साथ दावा किया गया है कि उत्तर प्रदेश के बस्ती में गौर पुलिस ने ‘वाहन की चेकिंग’ के नाम पर एक व्यक्ति की पिटाई की। वीडियो को इस संदेश के साथ साझा किया गया है,“आज शनिवार को गौर थाना की पुलिस ने वाहन चेकिंग के नाम पर मचाई आतंक घसीट घसीट कर वाहन मालिक को मारा गया आज 14 तारीख यह है बस्ती जिले के गौर थाने की पुलिस पुलिस इन लोगों इन लोगों के खिलाफ तत्काल कार्यवाही होनी चाहिए,”अजबगजब‘ फेसबुक पेज द्वारा पोस्ट किये गए इस वीडियो को 9,000 साझा और 4.74 लाख से ज़्यादा बार देखा गया है।

 

आज शनिवार को गौर थाना की पुलिस ने वाहन चेकिंग के नाम पर मचाई आतंक घसीट घसीट कर वाहन मालिक को मारा गया आज 14 तारीख यह है बस्ती जिले के गौर थाने की पुलिस पुलिस इन लोगों इन लोगों के खिलाफ तत्काल कार्यवाही होनी चाहिए

Posted by AjabGajab on Saturday, 14 September 2019

इसे फेसबुक उपयोगकर्ता रामकेवल मौर्य ने भी अपलोड किया, जिसे 1.25 लाख से ज्यादा बार देखा गया है। मोहम्मद अशरफ अंसारी के अकाउंट से, इस वीडियो को 76,000 बार देखा गया है। इस वीडियो को फेसबुक पर व्यापक रूप से प्रसारित किया गया है।

इस वीडियो को ट्विटर पर भी समान संदेश के साथ साझा किया गया है। दावा है –“थाना गौर जनपद बस्ती की पुलिस ने वाहन चेकिंग के नाम रौद्र रुप का प्रदर्शन किया।बस्ती जिले के गौर थाने पर तैनात इन पुलिस वालों पर तत्काल कार्यवाही होनी चाहिए”

2017 की घटना

एक उपयोगकर्ता के जवाब में, बस्ती पुलिस ने बताया कि यह घटना हाल की नहीं है बल्कि 2017 की है। उन्होंने यह भी बताया कि यह घटना वाहन चेकिंग से संबंधित नहीं है।

फेसबुक पर कीवर्ड्स सर्च करने से हमे पत्रिका द्वारा अपलोड किया गया एक वीडियो मिला।

बस्ती में दिखा यूपी पुलिस का क्रूर चेहरा युवक को थाने में घसी…

बस्ती में दिखा यूपी पुलिस का क्रूर चेहरा युवक को थाने में घसीट घसीटकर बेरहमी से पीटा

Posted by Patrika Uttar Pradesh on Tuesday, 14 November 2017

पत्रिका के मुताबिक, “पीड़ित युवक राम निहोर गौर थाना क्षेत्र के माझामानपुर गांव का रहने वाला है और शांतिभंग में उसका चालान किया गया था। जब इस मामले पर गौर एसओ का कहना है कि युवक शराब पीकर कई लोगों से बदतमीजी कर रहा था, जिसके बाद पुलिस युवक को थाने में ले आई। युवक पुलिस से भी बदतमीजी कर रहा था, इसलिए उसकी पिटाई की गई।”

1 सितंबर से मोटर व्हीकल एक्ट 2019 के तहत लागु हुए नए यातायात नियमों में भारी जुर्माना लगाए जाने के बाद से पुलिस अत्याचार को दर्शाने वाले कई पुराने वीडियो गलत संदर्भ से साझा किए गए हैं।

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

Pooja Chaudhuri is a senior editor at Alt News.