सोशल मीडिया में वायरल एक वीडियो जिसमें एक व्यक्ति शिवलिंग पर पेशाब कर रहा है, इस दावे से साझा किया गया कि यह घटना उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई है। ट्विटर हैंडल History Of India (@RealHistoriPix) ने यह वीडियो 7 जुलाई को इस संदेश के साथ ट्वीट किया, “यूपी के एक हिन्दू मंदिर में एक शांतिप्रिय शिवलिंग पर पेशाब कर रहा है। इसे साझा नहीं करना चाहता था मगर ऐसा नहीं किया तो अपराधी खुले घूमेंगे। दक्षिणपंथी के लोग मंदिर के इस घटनाक्रम को नकार रहे है जैसे कि भाजपा का कोई खराब पीआर कर रहा हो”-(अनुवाद)। यह @RealHistoryPic का एक पैरोडी अकाउंट @RealHistoriPix है।

@RealHistoriPix ने इस वीडियो को पहले पोस्ट किया, जिसे ख़ुशी सिंह नामक ट्विटर उपयोगकर्ता ने रीट्वीट किया था। इस दावे को फेसबुक पर भी पाया गया है।

भ्रामक वीडियो

इस वीडियो को ध्यान से देखने पर, इसमें बाई ओर अरविंद टैंक नाम लिखा हुआ है।

ट्विटर पर अरविंद टैंक के नाम से सर्च करने पर हमें उनका प्रोफाइल मिला। गूगल पर उनके नाम को सर्च करने से फैक्ट क्रैसेन्डो द्वारा पोस्ट किए गए एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट मिला। ट्वीट को अब डिलीट कर दिया गया है, हालांकि, आर्काइव यहां पर देखा जा सकता है।

टैंक द्वारा साझा किया गया वीडियो पुराना है। हमने पाया कि इसे यूट्यूब पर अप्रैल 2018 में अपलोड किया गया था।

बुलंदशहर पुलिस ने इस ट्वीट का संज्ञान लिया और टैंक को धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए गिरफ्तार किया गया। उन्होंने 11 जुलाई को इस संदर्भ में ट्वीट किया था- “स्वाट टीम(क्राइम ब्रांच) व थाना जहांगीराबाद पुलिस द्वारा धार्मिक भावनाओं को आहत करने के उद्देश्य से ट्वीट कर फर्जी वीडियो वायरल करने वाला आरोपी अरविन्द टांक मोबाईल फोन सहित गिरफ्तार”

हमने पाया कि ऐसी ही एक बुलंदशहर की घटना को रिपोर्ट किया गया था। 7 जुलाई के जनसत्ता के लेख का शीर्षक –“उत्तर प्रदेश : मुस्लिम शख्स पर मंदिर में शिवलिंग के साथ गंदी हरकत का आरोप, पुलिस ने दिया अपडेट तो लोग करने लगे सवाल,” जिसमें एक मुस्लिम व्यक्ति को मंदिर में पेशाब करने के लिए कथित तौर पर पुलिस ने गिरफ्तार किया।

बुलंदशहर पुलिस ने 6 जुलाई को ट्वीट किया था कि इरशाद उर्फ ​​ईरानी नाम के एक व्यक्ति को शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के ट्वीट के मुताबिक,“उपरोक्त घटना के सम्बन्ध में थाना जहांगीराबाद पर मु0अ0सं0-287/19 धारा 295,153ए भादवि बनाम इरशाद उर्फ ईरानी पंजीकृत है। तत्काल कार्यवाही करते हुए आरोपी को गिरफतार कर जेल भेजा जा चुका है”

एक पुराने वीडियो को हाल ही में उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई घटना के रूप में दिखाया गया।

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

Pooja Chaudhuri is a senior editor at Alt News.