सोशल मीडिया पर बिहार चुनाव के दौरान गड़बड़ी होने का आरोप लगाते हुए एक वीडियो वायरल है. वीडियो में एक महिला मीडिया से बात करते हुए वोटिंग के दौरान इलेक्शन ऑफ़िसर्स के NDA के फ़ेवर में काम करने का आरोप लगा रही है. इस दौरान, महिला सुदर्शन गुप्ता और राजेश सोनकर का नाम लेते हुए आरोप लगाती है कि ये 2 लोग अन्य 2 व्यक्तियों के साथ मोबाइल लेकर अंदर आए थे.

फ़ेसबुक और ट्विटर पर ये वीडियो शेयर करते हुए दावा किया गया कि ये महिला इलेक्शन ऑफ़िसर है. बीदर, कर्नाटका के एमएलसी विजय सिंह ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “इस मतदान अधिकारी को सुनिए. पूरी चुनाव प्रक्रिया में गड़बड़ी हुई है. इसी तरह चुनाव में धांधली कर बिहार में NDA की वापसी हुई है. लोकतंत्र खतरे में है. यही वक़्त है कि हम #BJP के खिलाफ़ आवाज़ उठाए.” आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 64 हज़ार से ज़्यादा बार देखा जा चुका है. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक हैन्डल ‘@rkhuria2’ ने ये वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीट किया है. आर्टिकल लिखे जाने तक इस ट्वीट को 1,400 बार रीट्वीट किया गया है. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक यूज़र अमन अरोरा ने ये वीडियो इसी दावे के साथ पोस्ट किया है. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 53 हज़ार व्यूज़ मिले हैं. (पोस्ट का आर्काइव लिंक)

#भाजपा_की_बिहार_चुनावी_जीत के हथकंडे, सुनिए इस मतगणना अधिकारी को Evm के अलावा कैसे जुगाड करती है …..🙊👇🏻🙊

Posted by Aman Arora on Monday, 16 November 2020

फ़ैक्ट-चेक

वीडियो के फ़्रेम्स रिवर्स इमेज सर्च करने पर एमपी कांग्रेस द्वारा पोस्ट किया गया ये वीडियो मिला. पोस्ट में इस वीडियो को इंदौर की सांवेर सीट का बताया गया है. वायरल वीडियो से 10 सेकंड लंबे इस वीडियो के आख़िर में ये महिला अपना नाम रश्मि बोरासी बताती है.

इंदौर की साँवेर सीट का हाल-

पहले लोकतंत्र की हत्या और अब मतगणना में धांधली..!

मध्यप्रदेश में बीजेपी को इस तरह से जीत मिली है।

Posted by Indian National Congress – Madhya Pradesh on Tuesday, 10 November 2020

इसके अलावा, वीडियो में रश्मि जिन 2 व्यक्तियों का नाम लेती हैं, उनके बारे में सर्च करने पर मालूम हुआ कि ये दोनों मध्यप्रदेश भाजपा के नेता हैं. सुदर्शन गुप्ता, बीजेपी मध्यप्रदेश के वाइस प्रेसिडेंट है और राजेश सोनकर भाजपा से पूर्व विधायक रह चुके हैं.

आगे की-वर्ड्स सर्च करने पर 10 नवंबर की ANI की रिपोर्ट मिली. सांवेर विधानसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार प्रेमचंद गुड्डू के बेटे अजीत बोरासी ने EVM की सील टूटे हुए होने का आरोप लगाया था. आर्टिकल में रश्मि बोरासी को प्रेमचंद गुड्डू की बेटी बताया गया है. इस आर्टिकल में रश्मि के हवाले से बताया गया है, “टैग्स मिसमैच थे और उनमें से काफ़ी टैग्स पर साइन भी नहीं था. गुलाबी और हरे रंग की सील एक-दूसरे से मेल नहीं खाते हैं. जब हमने अधिकारियों से इस बारे में पूछा तो उन्होंने हमें कहा कि ऐसा अक्सर होता रहता हैं और हमारे सवालों को नज़रअंदाज़ कर दिया गया. पुलिस भी मोबाइल फ़ोन को लेकर ठीक से तलाशी नहीं कर रही है.” यहां ध्यान दिया जाए कि वायरल वीडियो में भी रश्मि यही बोल रही है. NDTV ने भी 10 नवंबर को सांवेर की वोटिंग रोके जाने की ख़बर दी थी.

दरअसल, मध्य प्रदेश में 3 नवंबर को 28 विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव शुरू हुए थे. न्यूज़ 18 की रिपोर्ट के मुताबिक, भाजपा ने इस चुनाव में 19 सीटें जीत कर बहुमत हासिल किया था.

17 नवंबर को द लॉजिकल इंडियन ने भी इस वीडियो के बारे में एक फ़ैक्ट-चेक रिपोर्ट पब्लिश की थी.

इस तरह, इंदौर की सांवेर विधानसभा उपचुनाव के दौरान मतगणना में गड़बड़ी होने के आरोपों के चलते कांग्रेस उम्मीदवार के परिवारजनों ने वोटिंग रोक दी थी. इस घटना का वीडियो बिहार विधानसभा चुनाव में धांधली किये जाने का बताकर शेयर किया गया. वीडियो शेयर करते हुए ये झूठा दावा किया गया कि ये महिला मतदान अधिकारी है.

वायरल है ये वीडियो

ऑल्ट न्यूज़ की ऑफ़िशियल एंड्रॉइड ऐप पर इस वीडियो की जांच के लिए कुछ रीक्वेस्ट आई हैं. ये वीडियो फ़ेसबुक और ट्विटर पर गुजराती मेसेज के साथ भी वायरल है. रोहित पटेल द्वारा पोस्ट किये गए इस वीडियो को आर्टिकल लिखे जाने तक 13 हज़ार बार देखा जा चुका है.

This slideshow requires JavaScript.


ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें:

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: