कई फे़सबुक यूज़र्स एक तस्वीर शेयर कर रहे जिसमें गृह मंत्री अमित शाह और बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार समेत 5 लोग साथ बैठकर खाना खा रहे हैं. फे़सबुक यूज़र हकीम अब्दुस सलमान खान ने ये तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, “ब्रेक फ़ास्ट पे बंगाल चुनाव पर चर्चा. लेकिन अंधे ओवैसी को ही बोलेंगे एजेंट…” इसे आर्टिकल लिखे जाने तक 1,100 से ज़्यादा लोग शेयर कर चुके हैं. (आर्काइव लिंक)

ब्रेक फ़ास्ट पे बंगाल चुनाव पर चर्चा.

लेकिन अंधे ओवैसी को ही बोलेंगे एजेंट…

Posted by Hakeem Abdus Salam Khan on Sunday, November 15, 2020

हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल का 2016 का एक वीडियो शेयर कर लोगों ने ओवैसी को निशाना बनाया था. वीडियो में अरविन्द केजरीवाल तत्कालीन भाजपा नेता यतिन ओझा का पत्र पढ़ रहे थे जिसमें ओवैसी पर भाजपा के साथ सीक्रेट डील करने के आरोप लगाये जा रहे थे. यहीं से, इसी पुराने और बगैर सन्दर्भ के शेयर किये जाने वाले वीडियो के बाद ओवैसी को भाजपा का एजेंट कहा जाने लगा. इसके साथ ही कांग्रेस ने भी बिहार में ध्रुवीकरण के लिए AIMIM को ज़िम्मेदार ठहराया.

एक अन्य फे़सबुक यूज़र ‘Aimim ज़ुबैर कुरैशी’ ने कैप्शन लिखा, “ब्रेक फास्ट पे बंगाल चुनाव पर चर्चा. लेकिन अंधे ओवैसी को ही बोलेंगे एजेंट… यह कौन बीजेपी का एजेंट है आपको समय आता होगा देखो जो बैठा हुआ खाना खा रहे हो कौन है समझने का वक्त है भाई यह सब एक ही लोग हैं यह सब को बेवकूफ बना रहे हैं बोलते ओवैसी बीजेपी का एजेंट है पहले देखो तब बोलो.”

कुल मिलाकर, यहां ये दिखाने की कोशिश की जा रही है कि मुखर विरोधी होते हुए ममता बनर्जी और अमित शाह और उनके साथी नितीश कुमार बंगाल चुनावों से पहले एक साथ ‘चर्चा’ कर रहे हैं. कुछ ट्विटर यूज़र्स ने भी ये तस्वीर शेयर करते हुए यही दावा किया.

ग़लत दावा

इस तस्वीर का रिवर्स इमेज सर्च करने पर कई न्यूज़ रिपोर्ट्स मिलती हैं. NDTV के 29 फ़रवरी, 2020 के आर्टिकल के मुताबिक गृह मंत्री अमित शाह और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के घर पर साथ में डाइनिंग टेबल पर बैठे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक अमित शाह और ममता बनर्जी पूर्वी राज्यों के मंच, ईस्टर्न ज़ोनल काउंसिल (EZC) की मीटिंग में भाग लेने गए थे, जिसकी अगुवाई गृह मंत्री ही करते हैं. साथ में बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार भी मौजूद हैं.

रिपोर्ट में नवीन पटनायक के ऑफ़िशियल ट्विटर हैंडल का ट्वीट भी लगा है जिसे 28 फ़रवरी को पोस्ट किया था. ट्वीट में केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान को भी टैग किया गया है जो ममता बनर्जी के पीछे नज़र आ रहे हैं.

ये पहली बार नहीं है जब ममता बनर्जी और अमित शाह की मीटिंग हुई हो. दोनों NRC को लेकर पहले भी मुलाकात कर चुके हैं. इसके अलावा, तस्वीर में और भी राज्यों के मुख्यंमंत्री और केन्द्रीय मंत्री मौजूद हैं, इसलिए इसे बंगाल चुनाव से जोड़ना भ्रामक है.

गृह मंत्री अमित शाह और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की एक तस्वीर शेयर की जा रही है जिसमें दोनों नितीश कुमार और नवीन पटनायक के साथ डाइनिंग टेबल पर बैठे हुए हैं. लोगों ने ये ग़लत दावा शेयर किया कि इसका आगामी बंगाल चुनाव से सम्बन्ध है. दरअसल दोनों नेता ईस्टर्न ज़ोनल काउंसिल की 24वीं बैठक के लिए भुवनेश्वर गए हुए थे जहां ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक उन्हें अपने घर पर खाना खिला रहे हैं.


ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें:

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

A journalist and a dilettante person who always strives to learn new skills and meeting new people. Either sketching or working.