सोशल मीडिया से लेकर मेनस्ट्रीम मीडिया में एक वीडियो छाया हुआ है. इस 30 सेकंड के वीडियो में एक हाईवे पर रात में अजीबो-गरीब आदमी चला जा रहा है. ये क्लिप शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि ये कोई ‘एलियन’ या ‘दानव’ हो सकता है. कई लोगों ने इसे झारखण्ड के हज़ारीबाग का बताया. कुछ लोगों ने तो इसे शेयर करते हुए नासा को भी टैग कर दिया और कहा ध्यान से देखने पर उन्हें स्पेसशिप भी नज़र आ गया.

इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही चैनलों और अख़बारों ने दिखाना शुरू कर दिया. आजतक ने ये भी कहा कि हो सकता है किसी शरारती तत्व ने ‘स्पेशल इफ़ेक्ट्स’ से ये आकृति बनाई हो. चैनल ने ये भी कहा कि स्थानीय प्रशासन ने लोगों को ऐसी किसी भी अफ़वाह पर भरोसा करने से मना किया है. कई आउटलेट्स ने वीडियो में दिख रहे पतले और असामान्य तरीके से चल रहे व्यक्ति को ‘प्राणी’ कहा, तो वहीं अंग्रेज़ी आउटलेट्स ने इसके लिए ‘Creature’ शब्द का इस्तेमाल किया.

इसे शेयर करने वाले आउटलेट्स में न्यूज़18 हिंदी, MensXP, ETV भारत, पत्रिका, एशियानेट न्ज़ेयूबल, दैनिक जागरण, ज़ी न्यूज़, याहू न्यूज़, रिपब्लिक भारत, TV9 मराठी, India.com, गुजराती मिड-डे और अमर उजाला शामिल है. इनमें से अधिकतर ने कहा कि ये वीडियो हज़ारीबाग का है. हिंदी सीरियल की डायरेक्टर एकता कपूर ने अपने इन्स्टाग्राम हैंडल पर ये वीडियो शेयर किया था जिसे बाद में कुछ मीडिया आउटलेट्स ने भी पब्लिश किया.

This slideshow requires JavaScript.

इंडिया टुडे ने भी ये वीडियो अपने इन्स्टाग्राम हैंडल से शेयर किया.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by India Today (@indiatoday)

झारखण्ड के सरायकेला का वीडियो

ऑल्ट न्यूज़ ने हज़ारीबाग में रहने वाले एक पत्रकार सौरव अनुराग से इस बारे में बात की. उन्होंने हमें बताया, “ये वीडियो सरायकेला का है न कि हज़ारीबाग का. जिसने ये वीडियो बनाया था उसने एक स्थानीय आउटलेट को लाइव इंटरव्यू दिया था और वीडियो किस जगह, किस समय बनाया गया, इसके बारे में बताया था. ओरिजिनल वीडियो करीब डेढ़ मिनट का है, लेकिन उसका 30 सेकंड वाला हिस्सा ही वायरल है.” वीडियो हज़ारीबाग में छड़वा बांध के पास बने एक पुल का बताया जा रहा था. सौरव ने कहा कि वो खुद उस जगह गए थे लेकिन वीडियो में दिख रही रोड इस जगह से बिल्कुल अलग थी. उन्होंने आगे कहा, “छड़वा डैम के पास बने पुल वाली सड़क काली (डामर वाली) दिखती है लेकिन वीडियो में सीमेंट-कंक्रीट वाली सड़क दिख रही है. ये घटना सरायकेला की है जो खरसावां ज़िले में पड़ता है.”

स्थानीय मीडिया आउटलेट जन दूत न्यूज़ ने दोनों लड़कों का इंटरव्यू लिया जिन्होंने ये वीडियो रिकॉर्ड किया था. इनमें से एक का नाम दीपक है. उन्होंने बताया कि वो लोग चक्रधरपुर से सरायकेला लौट रहे थे, तभी उन्होंने रास्ते में अजीब दिखने वाली एक नग्न महिला को देखा. उसे देखते ही ये लोग डर गए, और जैसा कि वीडियो में भी सुनाई दे रहा है, एक व्यक्ति कह रहा है, “चुड़ैल है, लड़की है, रिकॉर्ड कर, रिकॉर्ड कर!” इन्हीं में से एक ने वायरल वीडियो व्हाट्सऐप स्टेटस पर लगाया था, और यही वजह है कि 30-सेकंड का ही वीडियो वायरल है. बता दें कि व्हाट्सऐप स्टेटस की 30 सेकण्ड की लिमिट होती है.

ऑल्ट न्यूज़ ने वीडियो बनाने वाले दीपक से संपर्क किया और इसके बारे में पूछा. दीपक ने हमें बताया, “हम एक दोस्त की माता के अंतिम संस्कार के बाद चक्रधरपुर से सरायकेला लौट रहे थे. जैसे ही हमने रास्ते में उस महिला को देखा हम सभी बहुत डर गए और पास में एक दुकान के पास जाकर रुक गए. वहां से गुज़र रहे कुछ और लोगों से हमने पूछा कि क्या उन्होंने भी उस महिला को देखा था. हमारे अलावा भी कई लोगों ने उसे देखा था. वो चुड़ैल नहीं बल्कि एक औरत थी.” दीपक ने हमें बताया कि ये घटना 27 अप्रैल की है. उन्होंने वीडियो का मेटाडेटा भी शेयर किया जो इसकी पुष्टि करता है कि वीडियो वाकई 27 अप्रैल को शाम 7 बजकर 4 मिनट पर बनाया गया था. इस फ़ाइल के डीटेल्स चेक किये तो लोकेशन मिली-नेशनल हाईवे 75, इचिंदा, झारखंड.

हमने दीपक की बतायी सभी जगहें गूगल मैप्स पर भी वेरिफ़ाई कीं. वीडियो चक्रधरपुर से सरायकेला लौटते वक्त बनाया गया था. गूगल मैप्स देख कर स्पष्ट होता है कि NH 75 (लाल निशान) चक्रधरपुर (पीला निशान) होते हुए सरायकेला (गुलाबी निशान) से गुज़रता है और दोनों जगहों के बीच में ही एक गांव, इचिंदा (आसमानी निशान) पड़ता है.

दीपक ने हमें ओरिजिनल वीडियो भेजा जो 1 मिनट 28 सेकंड का है.

दीपक ने अपना एक वीडियो भी रिकॉर्ड करके भेजा जिसमें वो वायरल दावों को ग़लत बता रहे हैं.

ऑल्ट न्यूज़ ने चक्रधरपुर और सरायकेला, दोनों जगहों की पुलिस से संपर्क किया. सरायकेला के सब-इंस्पेक्टर मोहम्मद नौशाद ने कहा कि वो इस मामले की जांच कर रहे हैं. जैसे ही पुलिस कोई अपडेट देती है, हम इस रिपोर्ट में जोड़ेंगे. बहरहाल, वो महिला निर्वस्त्र हालत में हाईवे पर रात में क्या कर रही थी, ये साफ़ नहीं हो पाया है.


ज़ी हिंदुस्तान ने अलीगढ़ की घटना पर दिखाई रिपोर्ट, चलाया एक्वडॉर का वीडियो और नाम दिया ‘वैक्सीन जिहाद’

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged:
About the Author

A journalist and a dilettante person who always strives to learn new skills and meeting new people. Either sketching or working.