कर्नाटक में भाजपा सरकार के 3 साल पूरे होने पर 10 सितंबर को बेंगलुरु के डोड्डाबल्लापुरा में जनस्पंदन कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इस कार्यक्रम में भाजपा सांसद और केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी पहुंची थी. यहां मंच से सभा को संबोधित करते हुए स्मृति ईरानी ने कांग्रेस नेता और सांसद राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि उन्होंने ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की शुरुआत कन्याकुमारी से की. लेकिन वहीं पर मौजूद विवेकानंद मेमोरियल में स्वामी विवेकानंद के दर्शन नहीं किये और उन्हें प्रणाम नहीं किया. उन्होंने इसके ये वजह बताई कि वो गांधी खानदान के सदस्य नहीं थे. ज्ञात हो कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी ने कन्याकुमारी से ‘भारत जोड़ों यात्रा‘ की शुरुआत की है. करीब 5 महीने की ये पदयात्रा देश के 12 राज्यों से गुज़रते हुए कश्मीर में पूरी होगी.

YOYO TV Kannada‘ के यूट्यूब चैनल पर मौजूद स्मृति ईरानी के भाषण के इस वीडियो में 46 मिनट 45 सेकंड से स्मृति ईरानी कहती हैं, “आज मैं पूछना चाहती हूं कांग्रेस पार्टी से. आप कह रहे हैं आप यात्रा कर रहे हैं भारत को जोड़ने की. अरे, अगर कन्याकुमारी से चले तो कम-से-कम इतनी निर्लज्जता तो ना दिखाते, स्वामी विवेकानंद जी को प्रणाम करके तो बताते. लेकिन वो भी राहुल गांधी को स्वीकार नहीं क्योंकि स्वामी विवेकानंद राष्ट्र संत हैं, गांधी खानदान के सदस्य नहीं.”

फ़ैक्ट-चेक

ऑल्ट न्यूज़ ने देखा कि कांग्रेस पार्टी के ऑफ़िशियल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म INC TV और कई कांग्रेस नेताओं ने स्मृति ईरानी के बयान को झूठा बताते हुए राहुल गांधी का एक वीडियो शेयर किया. इसमें वो स्वामी विवेकानंद को प्रणाम कर उनकी प्रतिमा की परिकर्मा कर रहे हैं. इसके साथ ही कांग्रेस नेताओं ने इस वीडियो के साथ न्यूज़ एजेंसी ANI का एक ट्वीट भी शेयर किया था जिसमें राहुल गांधी के विवेकानंद मेमोरियल के दौरे की ख़बर थी. कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने वीडियो शेयर करते हुए स्मृति ईरानी को झूठा बताया.

कांग्रेस नेताओं ने वीडियो के साथ ANI के इस ट्वीट को भी मेन्शन किया था. इसमें 7 सितंबर यानी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की शुरुआत के दिन राहुल गांधी द्वारा कन्याकुमारी में विवेकानंद मेमोरियल दौरे की ख़बर है.

कांग्रेस पार्टी के यूट्यूब चैनल पर भी 7 सितंबर 2022 को इसका वीडियो अपलोड किया गया है. इसमें राहुल गांधी, मेमोरियल में स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा को प्रणाम कर परिक्रमा कर रहे हैं.

कुल मिलाकर, भाजपा लीडर स्मृति ईरानी ने अपने भाषण में झूठा दावा किया कि राहुल गांधी ने कन्याकुमारी से ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की शुरुआत करते वक्त स्वामी विवेकानंद के दर्शन कर उन्हें प्रणाम नहीं किया.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged:
About the Author

Abhishek is a journalist at Alt News.