2008 का वीडियो, विरोध-प्रदर्शन में अपशब्द बोलतीं JNU छात्राओं के रूप में वायरल

ट्विटर और फेसबुक पर एक वीडियो इस दावे से वायरल है – “कैंपस विरोध-प्रदर्शन में JNU की छात्राओं द्वारा इस्तेमाल की गई सबसे अश्लील भाषा। और, JNU में उनकी पढ़ाई पर सब्सिडी के लिए हम टैक्स का भुगतान करते हैं। JNU नामक यह संस्थान जल्द से जल्द बंद कर देना चाहिए।” (अनुवाद)

कई अन्य ट्विटर उपयोगकर्ताओं ने भी यह वीडियो साझा किया है। इसी दावे के साथ यह वीडियो फेसबुक पर भी वायरल है।

यह क्लिप नवंबर 2019 में ऐसे ही दावे के साथ फेसबुक पर भी शेयर की गई थी — “#JNU की लड़कियां : #JNU में इस तरह की पढाई चल रही है। देखिए कि वे अपने वीसी के खिलाफ कैसी अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल कर रही हैं। इस संस्थान को बंद कर देने का समय आ गया है।” (अनुवाद)

यह वायरल वीडियो हिंदी में इस दावे से साझा किया जा रहा है – “#JNU के स्टुडंट #लडकीयोंकी घिनौनी, अभद्र भाषा सुनिये इस विडीओ में…और हम इन्हीं विद्यार्थीयों की सुविधाओं के लिये भारत सरकार को टॅक्स देते है और इन गंदी नाली के कीडों को अप्रत्यक्ष रूप सें बढावा देते है. अब बहुत हो गया…#JNU जैसे #देशद्रोही_पैदा_करनेवाले संगठन #जल्द_से_जल्द #बंद_होने_ही_चाहिये.”

ऑल्ट न्यूज़ को अपने अधिकृत मोबाइल एप्लिकेशन पर इस वीडियो के सत्यापन के लिए अनुरोध प्राप्त हुए हैं।

तथ्य-जांच

ऑल्ट न्यूज़ ने इस वीडियो को कई की-फ्रेमों में तोड़ा और गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च किया। हमें मल्टीमीडिया शेयरिंग प्लेटफार्म, iShare Rediff पर 1 अगस्त 2008 को XLRI नामक उपयोगकर्ता द्वारा अपलोड किया गया इस वीडियो का एक क्लिप्ड संस्करण मिला। वीडियो के कैप्शन में लिखा है, “XLRI को गाली-गलौच करतीं IIM कलकत्ता की छात्राएं” (अनुवाद)। XLRI, जमशेदपुर, झारखंड स्थित प्रबंधन स्कूल ज़ेवियर लेबर रिलेशंस इंस्टीट्यूट का शॉर्ट-फॉर्म है।

हमें ऐसे ही दावों के साथ 2009, 20112014 में यूट्यूब पर अपलोड किए गए वीडियो के कई उदाहरण मिले।

वीडियो को करीब से देखने पर, कुछ लोग विभिन्न प्रकार की जर्सी पहने हुए देखे जा सकते हैं। उनमें से एक जर्सी पर ‘XLRI’ शब्द लिखा हुआ है।

हालांकि, यूट्यूब पर इस वीडियो को एक अलग विवरण के साथ भी अपलोड किया गया था। एक चैनल ने 18 अप्रैल, 2008 को यह क्लिप इस कैप्शन- “sn ki maa ka” और इस विवरण- “ये है iit kgp के गर्ल्स हॉस्टल का सीन”, के साथ अपलोड किया था। विवरण से यह सुझाव मिलता है कि यह वीडियो इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर से संबंधित है।

क्या यह वीडियो XLRI कैंपस में शूट किया गया था, इसकी पुष्टि करने के लिए The Quint ने वहां के एक छात्र से संपर्क किया। The Quint , XLRI जमशेदपुर के एक छात्र तक पहुंचा, जिसने हमें पुष्टि की कि यह वास्तव में XLRI परिसर का वीडियो है। हालांकि वह इस बात की पुष्टि नहीं कर सका कि वीडियो कब रिकॉर्ड किया गया था, लेकिन उन्होंने कहा कि यह वीडियो कॉलेज के वार्षिक खेल कार्यक्रम के दौरान रिकॉर्ड किया गया था। हमने XLRI के जनसंपर्क प्रकोष्ठ के एक सदस्य से भी संपर्क किया, जिन्होंने हमें बताया कि यद्यपि यह घटना परिसर के अंदर हुई, लेकिन ये लड़कियां कॉलेज की छात्राएं नहीं हैं और स्पोर्ट्स मीट में भाग लेने वाले किसी दल सदस्य के रूप में आई थीं।”

2008 से मौजूद इस वीडियो को JNU परिसर में हालिया विरोध प्रदर्शनों के दौरान अपशब्दों का इस्तेमाल करतीं JNU छात्राओं के रूप में साझा किया जा रहा है।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend