बंगाल चुनाव के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा झूठे और भ्रामक दावे शेयर करना लगातार जारी है. पहले भी कई असंबंधित वीडियो और तस्वीरों को शेयर कर कहा गया कि तृणमूल कांग्रेस के समर्थक भाजपा महिला कार्यकर्ताओं का बलात्कार कर रहे हैं. इसी क्रम में एक वीडियो ट्विटर और फ़ेसबुक पर भयंकर वायरल है. वीडियो में दिख रहा है कि एक लड़की को कुछ लोग ज़बरदस्ती ले जा रहे हैं और वो गिड़गिड़ा रही है. वीडियो में सभी लोग बंगाली में बात कर रहे हैं.

ट्विटर यूज़र आनंद कुमार ने 6 मई को ये वीडियो शेयर किया इसे अबतक 700 से ज़्यादा लोग रीट्वीट कर चुके हैं.

[नोट: इस वीडियो की संवेदनशीलता और महिला की पहचान को ध्यान में रखते हुए हम वीडियो लिंक इस आर्टिकल में नहीं लगा रहे हैं.]

कुछ और लोगों ने भी इसी दावे के साथ ये वीडियो शेयर किया और इन्हें भी हजारों बार देखा और शेयर किया गया.

This slideshow requires JavaScript.

ये वीडियो फ़ेसबुक पर भी शेयर किया जा रहा है और TMC कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया जा रहा है कि वो खुलेआम भाजपा की महिला कार्यकर्ता को उठा ले जा रहे हैं.

ऑल्ट न्यूज़ को कई लोगों ने इसके फ़ैक्ट-चेक की रिक्वेस्ट भेजी.

This slideshow requires JavaScript.

बांग्लादेश के प्रेम विवाह से जुड़ी कहानी

इस वीडियो की क्वालिटी ख़राब होने की वजह से इसके बारे में जानकारी जुटाने में मुश्किलें हो रही थी. लेकिन बूमलाइव को इसी वीडियो का एक लम्बा और बेहतर वर्ज़न मिला जिसे 27 अप्रैल, 2021 को पोस्ट किया गया था. रहमत अली नाम के फ़ेसबुक यूज़र ने जो वीडियो शेयर किया है वो चार मिनट से ज़्यादा लम्बा है. साथ ही इस वीडियो के पीछे की सारी कहानी बताई है कि आखिर मामला क्या है.

इस कैप्शन में बताया गया है कि ये मामला बांग्लादेश के गाज़ीपुर ज़िले का है जहां हिन्दू समुदाय से आने वाली सरवन्ती मंडल ने एक मुस्लिम युवक कमरुल इस्लाम से प्रेम विवाह किया था. दोनों एक फ़ैक्ट्री में काम करते हुए मिले थे. युवती ने इस्लाम अपना लिया और उसका नया नाम जन्नतुल फ़िरदौस रखा गया. लेकिन सरवन्ती उर्फ़ जन्नतुल के परिजन इस शादी के खिलाफ़ थे और युवती के पिता ने कानून और पुलिस की मदद लेते हुए सरवन्ती को जबरन घर ले आये. वायरल वीडियो में उसी मौके का है जब युवती को उसके परिवारवाले उसकी मर्ज़ी के खिलाफ़ उठाकर घर ला रहे हैं.

हमने इस बारे में मीडिया रिपोर्ट्स सर्च कीं और बांग्लादेशी आउटलेट पूर्बो-पश्चिम बांग्लादेश की 26 अप्रैल, 2021 की एक रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट के मुताबिक ये घटना 22 अप्रैल की है जब कमरुल इस्लाम की पत्नी को उसके घरवाले जबरन वापस ले गए थे. रिपोर्ट में जो बताया गया है वही वीडियो में नज़र आ रहा है कि सरवन्ती स्थानीय पार्षद जियासुद्दीन के पैर पकड़कर गिड़गिड़ा रही है कि उसे अपने पति कमरुल के पास रहने दिया जाये. लेकिन सरवन्ती के पिता शंकर चन्द्र मंडल ने उसकी उम्र 18 वर्ष से कम बताते हुए युवक पर महिला और बाल उत्पीड़न रोकथाम अधिनियम के तहत मामला दर्ज करवाया. हालांकि कमरुल ने जिरह की कि सरवन्ती/महरुन्निसा बालिग है और उसकी पैदाइश मार्च 2003 की है.

नीचे दौलतखान थाने का फ़ेसबुक पोस्ट है जिसमें बताया गया है कि मामला दर्ज कर युवती को उसके माता-पिता को सौंप दिया गया है.

সকলের অবগতির জন্য জানানো যাইতেছে যে, দৌলতখান থানা এলাকায় গত ২৩/০৪/২১ ইং তারিখ গাজীপুর মেট্রো সদর থানার মামলা নং ১৬ তাং…

Posted by Daulatkhan Thana on Sunday, April 25, 2021

 

कुल मिलाकर, पश्चिम बंगाल में भ्रामक और झूठे दावों वाले कैंपेन के ज़रिये भाजपा समर्थक कई वीडियो और तस्वीरें शेयर कर चुके हैं जिनका पश्चिम बंगाल हिंसा से दूर-दूर तक कोई सम्बन्ध नहीं है. अब एक वीडियो जिसमें एक हिन्दू लड़की के घरवाले मुस्लिम युवक से शादी करने के बाद जबरन उसे घर वापिस ला रहे हैं, शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि TMC कार्यकर्ता एक भाजपा महिला कार्यकर्ता को बलात्कार करने के लिए उठा ले जा रहे हैं.


पश्चिम बंगाल हिंसा का फ़ैक्ट-चेक: 2020 में बांग्लादेश में घायल हुई महिला की तस्वीर बंगाल हिंसा से जोड़ी

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged:
About the Author

A journalist and a dilettante person who always strives to learn new skills and meeting new people. Either sketching or working.