सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल है. वीडियो में दिख रहा है कि कुछ लोग एक कमरे में बैठे हैं. इन लोगों ने मुस्लिम समुदाय से जुड़ी टोपी पहनी है. साथ में कुछ महिलाएं भी हैं. इस दौरान, पुलिस के साथ कुछ और लोग वहां पहुंचते हैं और उन लोगों से पूछताछ करने लगते हैं. दावा किया जा रहा है कि दिल्ली के विजयनगर में एक सरकारी स्कूल को मदरसा बना दिया गया है. इसे शेयर करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा जा रहा है.

ट्विटर हैन्डल ‘@rakesh_bstpyp’ ने ये वीडियो ट्वीट किया और कहा कि दिल्ली के सरकारी स्कूल पर रोहिंग्याओं ने कब्ज़ा कर लिया है. ट्विटर परिचय में उन्होंने खुद को समाचार पत्र का संपादक बताया है. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 46 हज़ार बार देखा जा चुका है. (आर्काइव लिंक)

और भी कई ट्विटर यूज़र्स ने ये वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीट किया. (लिंक 1, लिंक 2, लिंक 3)

फ़ेसबुक यूज़र ‘सैफ़्रन राजेश सिंह’ ने ये वीडियो इसी दावे के साथ पोस्ट किया. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 3,900 बार देखा जा चुका है. (पोस्ट का आर्काइव लिंक)

👆दिल्ली के सरकारी स्कूलों को केजरीवाल ने मदरसे में बदलना शुरू कर दिया है दिल्ली के विजय नगर का एक सरकारी स्कूल👆

Posted by Saffron Rajesh Singh on Friday, 26 November 2021

फ़ेसबुकऔर यूट्यूब पर ये वीडियो इसी दावे के साथ शेयर किया गया.

फ़ैक्ट-चेक

वीडियो को गौर से देखने पर ऑल्ट न्यूज़ ने स्कूल के बोर्ड पर ‘प्राथमिक विद्यालय मिर्ज़ापुर’ लिखा हुआ पाया. प्राथमिक विद्यालय मिर्ज़ापुर, गाज़ियाबाद के विजयनगर इलाके में है. यानी, ये घटना उत्तर प्रदेश की है न कि दिल्ली की.

This slideshow requires JavaScript.

इस आधार पर ऑल्ट न्यूज़ ने गाज़ियाबाद के विजयनगर पुलिस स्टेशन से संपर्क किया. वहां के SHO ने बताया कि विजयनगर इलाके में एक प्राथमिक विद्यालय में रियाजुद्दीन अपने परिवार के साथ रहता है. ये लोग स्कूल परिसर में ही रहते हैं और वहीं साफ़-सफ़ाई का काम करते हैं. पुलिस ने बताया कि इन लोगों के बच्चों की तबीयत ठीक नहीं थी. इसी वजह से इन्होने मन्नत मांगी थी कि बच्चे ठीक हो जाएंगे तो कुरान ख्वानी (कुरान पाठ) करवाएंगे. और कुछ समय बाद बच्चे के स्वस्थ होते ही उन्होंने कुरान ख्वानी आयोजित किया. ये उसी घटना का वीडियो है. लेकिन पुलिस को परिसर में कोई आपराधिक गतिविधि देखने को नहीं मिली. फिर भी स्थानीय लोगों की शिकायत पर इस मामले में जांच की जा रही है.

ऑल्ट न्यूज़ इस बात की पुष्टि नहीं कर सकता कि इस परिवार को वहां आयोजन के लिए अनुमति दी गई थी या नहीं. लेकिन इतना तो तय है कि ये घटना उत्तर प्रदेश की है. और पुलिस के अनुसार, इन लोगों ने कब्ज़ा नहीं किया है. ये परिवार उसी विद्यालय में काम करते हैं.

कुल मिलाकर, उत्तर प्रदेश के गाज़ियाबाद में एक सरकारी स्कूल में काम करने वाले लोगों ने कुरान पाठ का आयोजन किया था. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर दिल्ली के सरकारी स्कूलों पर रोहिंग्या मुसलमानों का कब्ज़ा के झूठे दावे के साथ शेयर किया गया.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged: