पेट्रोल पंप से एक कर्मचारी का अपहरण करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. वीडियो में दिख रहा है कि काले रंग की गाड़ी में पेट्रोल पंप कर्मचारी फ़्यूल भर रहा है. पेट्रोल भरने के बाद दोबारा कर्मचारी गाड़ी की ओर बढ़ता है. तभी अचानक से बाहर खड़ा व्यक्ति उसे पीछे से पकड़कर गाड़ी के अंदर डाल देता है. और गाड़ी तेज़ रफ़्तार से आगे बढ़ जाती है. ये वीडियो उत्तर प्रदेश का बताकर शेयर किया जा रहा है. फ़ेसबुक यूज़र हरी राम मेघवाल ने ये वीडियो उत्तर प्रदेश के बदायूं का बताते हुए पोस्ट किया. आर्टिकल लिखे जाने तक इसे 6,700 बार देखा जा चुका है.

 

रामराज्य उत्तर प्रदेश बदायूं में पेट्रोल डालने वाले कर्मचारी को ही उठा ले गए😜😁🙄 ….
क्योंकि उसकी जेब में दिन भर का पेट्रोल का कैश था…..

Posted by हरी राम मेघवाल on Monday, 11 October 2021

एक और फ़ेसबुक यूज़र ज़ूबेर हयात ने भी ये वीडियो इसी दावे के साथ पोस्ट किया.

 

रामराज्य उत्तर प्रदेश में….. पेट्रोल डालने वाले कर्मचारी को ही उठा ले गए ….क्योंकि उसकी जेब में दिन भर का पेट्रोल का कैश था….. उत्तर प्रदेश के बदायूं की घटना…

Posted by Zuber Hayat on Monday, 11 October 2021

फ़ेसबुक और ट्विटर पर ये वीडियो वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

फ़्रेम्स को रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें RT अरेबिक की 30 सितंबर 2021 की वीडियो रिपोर्ट मिली. ये घटना सऊदी अरब की है जहां दिन दहाड़े एक पेट्रोल पंप कर्मचारी का अपहरण किया गया था. RT अरेबिक की रिपोर्ट के मुताबिक, कुछ लोगों ने गैस स्टेशन में काम करनेवाले एक एशियन कर्मचारी के अपहरण किया था. उत्तर-पश्चिम के हैल प्रांत के पुलिस ने इस मामले में 3 लोगों की गिरफ़्तारी की.

2 अक्टूबर 2021 को गल्फ़ न्यूज़ ने भी इस घटना के बारे में रिपोर्ट पब्लिश की थी. आर्टिकल में हैल पुलिस डिपार्ट्मन्ट के प्रवक्ता के हवाले से बताया गया कि गैस स्टेशन में काम करने वाले एशियन कर्मचारी के अपहरण और लूट की घटना की ख़बर मिलते ही जांच शुरू कर दी गई थी. रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में 3 लोगों की गिरफ़्तारी हो चुकी है.

अरब टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इसी गाड़ी से एक और गैस स्टेशन वर्कर का अपहरण किया गया था.

यानी, गैस स्टेशन के कर्मचारी का अपहरण करने वाला वीडियो सऊदी अरब का है न कि उत्तर प्रदेश के बदायूं का. ये वीडियो भारतीय सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश प्रशासन का मज़ाक उड़ाते हुए शेयर किया गया.


CAA-NRC, अमित शाह आदि नेताओं के बारे में बात करता शख्स DPS राजबाग में पढ़ाने वाला शकील अंसारी?

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.