नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के समर्थन में बात करते हुए एक बुज़ुर्ग का वीडियो इस दावे के साथ वायरल है कि वो ऐक्टर नसीरुद्दीन शाह के भाई रिज़वान अहमद हैं.

Rizwan Ahmed (Naseeruddin Shah’s brother) on CAA

Brother of Naseeruddin Shah on CAA

Posted by Pradeep Sharma on Saturday, 18 January 2020

ये वीडियो फ़ेसबुक और ट्विटर पर शेयर किया गया है जिसमें इस व्यक्ति को हैदराबाद का मौजूदा निज़ाम बताया गया है.

 

Pl listen to the present Nizam of hyderabad and his Frank opinion about ovesi brothers and communists.

Posted by Sathya Vageeswaran on Tuesday, 21 January 2020

3 मिनट 24 सेकंड के इस वीडियो में, इस आदमी को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि भारत में किसी भी मुस्लिम को कभी किसी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ा है और वो देश के सर्वोच्च पदों तक पहुंचे हैं. वो पूछते हैं, “प्रधानमंत्री और गृह मंत्री यह कहते रहते हैं कि यह केवल घुसपैठियों के लिए किया गया है. जो लोग इसका विरोध कर रहे हैं, क्या वो चाहते हैं कि हम पाकिस्तान से आने वाले सभी आतंकवादियों को नागरिकता दें?”

फ़ैक्ट-चेक

ये रिज़वान अहमद नहीं हैं

टाइम्स नाउ ने रिज़वान अहमद को 20 दिसंबर, 2018 को प्रसारित एक पैनल चर्चा के लिए आमंत्रित किया था. चैनल ने उन्हें नसीरुद्दीन शाह के पहले चचेरे भाई के रूप में बताया था. वायरल वीडियो में दिख रहे व्यक्ति, अहमद जैसे कतई नहीं हो सकते हैं. नीचे एक साथ दिखाई गई दोनों की तस्वीरों से यह स्पष्ट होता है कि वो दोनों अलग-अलग व्यक्ति हैं.

वीडियो में दिख रहे व्यक्ति कौन हैं?

इस वीडियो में ‘यूथ मीडिया टीवी’ के लोगो को देखा जा सकता है. ऑल्ट न्यूज़ को इस नाम का एक यूट्यूब चैनल मिला जिसने 2 जनवरी, 2020 को यह वीडियो इस शीर्षक के साथ पोस्ट किया था- “आईआईटी कानपुर में आज लगे नारे, क्या देश का माहौल ख़राब किया जा रहा है? IIT-Kanpur Faiz poem News Today”

इस वीडियो के एक की-फ़्रेम को रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें पता चला कि ये विश्व हिंदू परिषद (VHP) के नेता आचार्य धर्मेंद्र हैं.

2017 में राजस्थान की एक अदालत ने उन्हें नवंबर 2008 में नफरत फैलाने वाले एक भाषण के लिए एक साल की सज़ा सुनाई थी. उसी साल, धर्मेंद्र फिर से यह टिप्पणी करके सुर्खियों में आए थे कि पाकिस्तान पर परमाणु बम गिराया जाना चाहिए.

इस प्रकार, CAA के समर्थन में VHP नेता आचार्य धर्मेंद्र का वीडियो, नसीरुद्दीन शाह के भाई रिज़वान अहमद के नाम से शेयर किया जा रहा है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

Defence Correspondent turned fact-checker. Two times award winning journalist by Govt. of Goa.