30 सेकंड का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है जिसमें एक महिला स्वास्थ्यकर्मी एक बुज़ुर्ग व्यक्ति को खाली इन्जेक्शन लगा रही है. ये वीडियो भारतीय सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए यूज़र्स कह रहे हैं कि बिना टीका लगाए ही इन्जेक्शन वापस ले लिया गया. ट्विटर यूज़र किरण सिन्हा ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “*टीका लगाने जाओ तो ध्यान से देखो ….**कहीं टीका लगाए बिना इंजेक्शन वापस तो नही ले लिया जाता* ऐसा क्यों कर रहें हैं… ये भी कहीं साजिश तो नहीं….??” आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 1,300 बार देखा जा चुका है. (आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक यूज़र महेश सोनी अन्ता ने भी ये वीडियो इसी दावे के साथ पोस्ट किया. (आर्काइव लिंक)

 

वैक्सीन की सुई तो लगाई लेकिन दवा को पुस नहीं किया और निकाल दिया क्या ठीके को बचा कर बेचने की तैयारी तो नहीं

Posted by महेश सोनी अन्ता on Sunday, 25 April 2021

एक और ट्विटर यूज़र ने भी ये वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीट किया है.

फ़ेसबुक पर ये वीडियो वायरल है. व्हाट्सऐप पर भी ये वीडियो शेयर किया जा रहा है.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

वीडियो के फ़्रेम्स को रिवर्स इमेज सर्च करने पर ‘Aristegui Noticias’ का 4 अप्रैल 2021 का आर्टिकल मिला. आर्टिकल में वायरल वीडियो में दिख रही घटना मेक्सिको के गुस्तावो शहर की बताई गई है. आर्टिकल के मुताबिक, इस घटना के सामने आने के बाद द मेक्सिकन इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल सिक्युरिटी (IMSS) ने बुज़ुर्ग व्यक्ति को इन्जेक्शन देने का ढोंग कर रही कर्मचारी को निकाल दिया है. ये घटना नेशनल स्कूल ऑफ़ बायोलॉजिकल साइंस ऑफ़ द नेशनल पालीटेक्निक इंस्टिट्यूट में हुई थी.

आर्टिकल में IMSS का 4 अप्रैल 2021 का एक ट्वीट भी शेयर किया गया है. ट्वीट में इंस्टिट्यूट ने वैक्सीनेशन के दौरान हुई इस घटना के बारे में अफ़सोस जताया है. आर्टिकल में बताया गया है कि उस हफ़्ते ऐसी ही 2 घटनाएं सनोरा और द स्टेट ऑफ़ मेक्सिको में भी हुई थीं.

आगे, एक दूसरी रिपोर्ट में IMSS के जनरल डायरेक्टर के हवाले से इस घटना को ‘मानवीय भूल’ बताया गया था. इंस्टिट्यूट के हेड ने बताया था कि ये कर्मचारी एक नर्सिंग छात्र है. लेकिन इस महिला के IMSS से जुड़े होने की बात उन्होंने नकार दी थी. रिपोर्ट के मुताबिक, हेड से बात करते हुए वैक्सीन देने वाली महिला ने कहा कि वीडियो रिकॉर्ड हो रहा था और इसी कारण वो असहज हो गई थी. रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में अभी जांच चल रही है.

यानी, मेक्सिको में महिला कर्मचारी के एक बुज़ुर्ग व्यक्ति को इन्जेक्शन देने के अभिनय करने का वीडियो सोशल मीडिया पर भारतीय वैक्सिनेशन कार्यक्रम पर निशाना साधते हुए शेयर किया जा रहा है.


हरियाणा के करनाल में हो रही वेब सीरीज़ की शूटिंग के दृश्य को लोगों ने असली घटना बताकर शेयर किया :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged: