लोकप्रिय अर्जेंटीनियन फ़ुटबॉलर डिएगो मैराडोना का 25 नवम्बर को 60 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. कुछ ही वक़्त पहले उनके दिमाग से ब्लड क्लॉट हटाने के लिए ऑपरेशन हुआ था. 26 नवम्बर को उन्हें अर्जेंटीना की राजधानी बूएनोस आइरेस में दफ़नाया गया.

इसके बाद सोशल मीडिया पर कई लोगों ने एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें एक स्टेडियम में लोगों की भारी भीड़ नज़र आ रही है. ट्विटर यूज़र @Exsecular, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी फ़ॉलो करते हैं, ने एक वीडियो शेयर करते हुए इसे मेराडोना की अंतिम यात्रा की भीड़ होने का दावा किया. (आर्काइव लिंक)

कुछ अन्य ट्विटर यूज़र्स (1, 2) ने भी इसे इसी दावे के साथ शेयर किया.

कुछ फ़ेसबुक यूज़र्स ने भी यही दावा किया. एक वेरिफ़ाइ़ड फ़ेसबुक पेज वेगा एंटरटेनमेंट ने भी ये वीडियो पोस्ट करते हुए इसे मैराडोना के फै़न्स की भीड़ होने का दावा किया. (आर्काइव लिंक)

Diego Maradona’s funeral procession today.

#DiegoMaradona’s funeral procession today.
Mesmerizing.
What does it indicate ?
A man par excellence.
He is neither a president nor a prime minister of any country.
His performance in football ground spoke for him.
So much of Love, adulation & respect who gets these days ?
He will remain immortal in the hearts of football fans.
Maradona..U have gone now in the safe hands of God, but whole football fraternity will remember U as ” God of Football” like our own living legend Sachin Tendulkar as ” God of cricket”
Maradona..Bravo
May your soul rest in eternal peace in the lap of Almighty.
🙏🙏🙏

#Diego #Maradona #Argentinefootballplayer #footballplayer #VegaEntertainment

Posted by Vega Entertainment on Thursday, November 26, 2020

 

फै़क्ट-चेक

ऑल्ट न्यूज़ ने जब इस वीडियो के फ़्रेम्स निकाल कर उनका रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें AFP की 13 जून, 2020 की एक फै़क्ट चेक रिपोर्ट मिली. इससे ये मालूम चलता है कि ये वीडियो डिएगो मैराडोना के अंतिम संस्कार का तो बिलकुल नहीं हो सकता. AFP की फ़ैक्ट-चेक रिपोर्ट में बताया गया है कि उस समय इसे अर्जेंटीना के राष्ट्रपति अल्बेर्तो फ़र्नान्डेज़ के खिलाफ़ प्रदर्शन का बताया गया था. अर्जेंटीना के अख़बार ‘ला नातिओं’ की 20 अक्टूबर, 2019 की रिपोर्ट के मुताबिक ये भीड़ अर्जेंटीना की राजधानी बुएनोस आइरेस में स्मारक-स्तंभ (Obelisk) के पास थी. आगामी राष्ट्रपति चुनाव के लिए तत्कालीन राष्ट्रपति मौरिसियो मकरी के समर्थन में जुटे थे. यानी, ये एक चुनाव रैली की भीड़ थी. रिपोर्ट में मौरिसियो मकरी का ट्वीट भी दिया गया है जिसमें उन्होंने रैली की एरियल व्यू वाली तस्वीर ट्वीट की थी.

वायरल वीडियो में 13 सेकंड पर और राष्ट्रपति मौरिसियो का ट्वीट देखने पर चलता है कि दोनों एक ही मौके की तस्वीरें हैं.

मौरिसियो मकरी के ऑफ़िशियल फे़सबुक पेज से मौके पर फे़सबुक लाइव भी किया गया था. उनके इन्स्टाग्राम हैंडल पर भी ये तस्वीर शेयर की गयी थी.

यानी, वायरल वीडियो, जिसे फ़ुटबॉल के महान खिलाड़ी डिएगो मैराडोना की अंतिम यात्रा के दौरान फ़ैन्स की भीड़ का बताया जा रहा था, असल में 1 साल पुराना वीडियो है. इसमें अर्जेंटीना के पूर्व राष्ट्रपति मौरिसियो मकरी की चुनावी रैली दिख रही है.


ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें:

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

A journalist and a dilettante person who always strives to learn new skills and meeting new people. Either sketching or working.