बहन के साथ नेहरू की स्नेह भरी तस्वीरों की वजह से बीजेपी IT अध्यक्ष ने की उनकी तुलना हार्दिक पटेल से

बीजेपी के आईटी सेल के अध्यक्ष अमित मालवीय ने जवाहरलाल नेहरू की कई महिलाओं के साथ तस्‍वीरों के एक कोलाज के साथ ट्वीट किया, “@shaktisinhgohil जो दावा किया था, उससे उलट ऐसा लगता है कि हार्दिक में नेहरू का डीएनए ज्‍़यादा है। (अनुवाद )” हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमेशा नेहरू के प्रति दिखावटी प्रेम व्‍यक्‍त किया है लेकिन यह कोई छिपी हुई बात नहीं है कि भारत के पहले प्रधानमंत्री के बारे में उनके पार्टी सहयोगियों के क्‍या विचार रहे हैं। नेहरू के बारे में अपमानजनक बातों और उनकी तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ करके कई तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर भरी हुई हैं जिन्‍हें उनके पार्टी समर्थकों द्वारा फैलाया गया है। लगता है कि मालवीय को इन नौ तस्वीरों से कोई नाराजगी है जिससे उन्हें हार्दिक पटेल की कथित सेक्स सीडी को नेहरू के डीएनए से जोड़ने की प्रेरणा मिली। आइए हम इन तस्‍वीरों को गौर से देखकर इनका संदर्भ समझते हैं और जानने की कोशिश करते हैं कि क्‍या इनमें नेहरू के बारे में कोई अप्रिय बात मौजूद है।

यह पहली बार नहीं है कि महिलाओं के साथ नेहरू जी की ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही हैं। नेहरू की छवि एक व्‍यभिचारी व्‍यक्ति के तौर पर पेश करने के लिए, कई वर्षों से सार्वजनिक रूप से उपलब्ध, इन प्रकाशित फोटो का इस्‍तेमाल अक्सर भाजपा समर्थक करते रहे हैं। क्या मालवीय सिर्फ इसलिए नाराज है क्‍योंकि नेहरू की महिलाओं के साथ फोटो खींची गई हैं? क्या अमित मालवीय को इस बात से नाराजगी है कि नेहरू महिलाओं के साथ फोटो खिंचवाते हुए काफी सहज नजर आ रहे हैं? क्या वह इसलिए नाराज है क्‍योंकि उनमें से कुछ महिलाएँ नेहरू के प्रति स्नेह दिखा रही हैं? या फिर क्या वह इसलिए नाराज है क्योंकि नेहरू सिगरेट जलाते हुए दिख रहे हैं? हम पक्‍के तौर पर नहीं जानते हैं कि इन तस्वीरों को देखते हुए एक तथाकथित राष्ट्रवादी दिमाग में क्या चलता है। आइए हम इन्हें एक-एक करके देखते हैं…

फोटो 1:

सार्वजनिक रूप से नेहरू को उनके गाल पर चुंबन देने वाली यह महिला कोई और नहीं बल्कि उनकी बहन विजयलक्ष्मी पंडित हैं। सन 1949 में, विजयलक्ष्मी पंडित अमेरिका में भारत की राजदूत थीं। इस चित्र में वह अमेरिका में नेहरू की राजकीय यात्रा पर उनका स्वागत करते हुए दिखाई दे रही हैं। क्या आईटी सेल के हेड के तौर पर, अमित मालवीय को यह नहीं पता कि यह फोटो नेहरू जी की बहन की है या फिर वह जानबूझकर इस सच्चाई की अनदेखी कर रहे हैं?

In style Nehru meets sister Vijaylakshmi Pandit on his 1949 US visit
1949 की अमेरिकी यात्रा के दौरान नेहरू अपनी बहन विजयलक्ष्मी पंडित से मिलते हुए

फोटो 2:

इस फोटो में पंडित नेहरू सार्वजनिक रूप से एडविना माउंटबेटन के साथ कोई हंसी-मजाक वाली बात कहते हुए नजर आ रहे हैं। क्या मालवीय के कायदे-कानूनों के मुताबिक इसकी इजाजत नहीं है?

नेहरू एडविना माउंटबेटन के साथ

फोटो 3:

इसमें एक बार फिर से नेहरू की बहन विजयलक्ष्मी पंडित दिख रही हैं। यह फोटो उस समय की है जब वह रूस में राजदूत थीं और दिल्ली एयरपोर्ट पर उनके भाई उनका स्वागत करते हुए दिख रहे हैं।

नेहरू अपनी बहन विजयलक्ष्मी पंडित के साथ

फोटो 4:

इस फोटो में नेहरू सिगरेट पीते हुए दिख रहे हैं। हम नहीं जानते कि सिगरेट पीते हुए नेहरू की फोटो को हार्दिक पटेल के डीएनए से जोड़ने की प्रेरणा आखिर मालवीय को कहाँ से मिली।

नेहरू सिगरेट पीते हुए

फोटो 5:

इस फोटो में नेहरू जी मृणालिनी साराभाई को बधाई देते हुए नजर आ रहे हैं। यह सन 1948 में दिल्ली में मनुष्य नामक एक प्रस्तुति के बाद की फोटो है। जैसा कि मिंट के लेख में बताया गया है, ‘‘मृणालिनी साराभाई का जवाहरलाल नेहरू से दो तरफ से रिश्ता था—उनकी माँ अम्मु स्वामीनाधन एक स्वतंत्रता सेनानी और राजनीतिज्ञ थीं और वह नेहरू को बहुत अच्छी तरह जानती थीं; साथ ही उनके पिता विक्रम साराभाई के परिवार का भी नेहरू के साथ नजदीकी रिश्ता था।‘‘ साराभाई ने मिंट को बताया, ‘‘उन दिनों, कथकली को स्वीकार्यता हासिल नहीं हुई थी और कई लोग इसे प्रशंसा की नजर से नहीं देखते थे, खास तौर पर दिल्ली में। लेकिन जवाहर जी यह प्रस्तुति देखने आए और इसके बाद मुझसे मिलने आए। उन्होंने मुझे गले लगाया और बधाई दी। हम दोनों की एक फोटो भी है।‘‘ शायद मृणालिनी को जरा-सा भी अंदाजा नहीं था कि 70 साल बाद, गंदी मानसिकता वाले कुछ लोग उन्हें और नेहरू को बदनाम करने के लिए यह फोटो सोशल मीडिया पर फैलाएंगे।

दिल्ली में मनुष्य प्रस्तुति के बाद नेहरू मृणालिनी साराभाई को बधाई देते हुए

फोटो 6:

वर्ष 1962 में जॉन एफ कैनेडी ने भारत की यात्रा की। इस फोटो में, नेहरू जी उनकी पत्नी जैकलीन कैनेडी के माथे पर स्‍वागत-प्रथा के तौर पर “तिलक” लगा रहे हैं। क्या अमित मालवीय की नजर में यह भी गलत है?

प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू, अमेरिका की प्रथम महिला जैकलीन कैनेडी ओनेसिस के माथे पर तिलक लगाते हुए। एक्सप्रेस आर्काइव फोटो

फोटो 7:

फोटो 4 देखकर हमें ज्ञात हुआ कि नेहरू सिगरेट पीते थे। इस फोटो में वह भारत में ब्रिटिश एयरवेज (तत्कालीन बीओएसी) की पहली उड़ान के मौके पर विमान पर ब्रिटिश उपउच्चायुक्त की पत्नी, श्रीमती सिमोन के लिए सिगरेट जलाते हुए दिख रहे हैं।

भारत में बीओएसी की पहली उड़ान के मौके पर विमान पर ब्रिटिश उपउच्चायुक्त की पत्नी, श्रीमती सिमोन के साथ प्रधानमंत्री नेहरू

फोटो 8:

इस फोटो में नेहरू, एडविना माउंटबेटन की 18 वर्षीय बेटी के साथ दिख रहे हैं। माउंटबेटन की सबसे छोटी बेटी पामेला माउंटबेटन अपने माता-पिता के साथ हैं और वह नई दिल्ली में पंडित नेहरू को अलविदा कह रही हैं।

नई दिल्ली में पंडित जवाहरलाल नेहरू को अलविदा कहते हुए अपने माता-पिता के साथ, लेडी पामेला माउंटबेटन। फोटो साभारः- हिन्दू फोटो आर्काइव

फोटो 9:

इस फोटो में, 1955 में लंदन एयरपोर्ट पर नेहरू के आगमन पर उनकी भांजी नयनतारा सहगल उन्हें चुंबन देते हुए दिख रही हैं। इसमें आप नयनतारा सहगल की माँ, विजयलक्ष्मी पंडित को भी देख सकते हैं जो उस समय इंग्लैंड में उच्चायुक्त थीं।

नेहरू को उनकी भांजी नयनतारा सहगल चुंबन देते हुए

अगर इस कोलाज को एक साथ देखें तो तीन तस्वीरें जिनमें महिलाएँ नेहरू को गले लगाते हुए या चुंबन देकर उनके प्रति अपना स्नेह जताती हुई दिख रही हैं, असल में उनकी बहन और भांजी की फोटो हैं। इन तस्‍वीरों से एक स्वाभाविक और गहरे पारिवारिक जुड़ाव के अलावा कोई और संकेत नहीं मिलता है। इन तस्वीरों का उपयोग कर कटाक्ष करना किसी बीमार दिमाग की ही उपज हो सकती है। लेकिन देवियों और सज्जनों, हम जिनके बारे में बात कर रहे हैं वह कोई ऐसा सोशल मीडिया ट्रोल नहीं है जो कभी-कभार प्रकट होता है। यह व्यक्ति भारत की सत्ताधारी पार्टी की आईटी विंग के प्रमुख, अमित मालवीय जी है। जब सत्ताधारी पार्टी के पदाधिकारी ही भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्रियों को बदनाम करने की कोशिशों में शामिल हों तो यह मानने में कोई हैरानी नहीं होती कि भारत में राजनीतिक विमर्श सर्वकालीन रूप से अपने निम्नतम स्तर पर पहुंच गया है।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend