एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. इसे शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि मध्यप्रदेश के कटनी में मुस्लिम सरपंच की जीत के बाद पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे लगे. इस वीडियो को कई मीडिया संगठन ने भी इसी दावे के साथ चलाया.

न्यूज18 ने ट्वीट में दावा किया कि मध्य प्रदेश के कटनी में पाकिस्तान समर्थक नारे लगे. (आर्काइव लिंक)

दैनिक भास्कर ने लिखा “मुस्लिम सरपंच बनने पर गूंजे ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे: कटनी में सरपंच के समर्थकों ने कहा- ‘जीत गया भाई जीत गया पाकिस्तान जीत गया”. (आर्काइव लिंक)

राइट विंग प्रॉपगेंडा वेबसाइट न्यूज़रूम पोस्ट ने ट्वीट करते हुए लिखा, “पाकिस्तानी समर्थक तत्व – मध्यप्रदेश के कटनी में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ की गूंज, मुस्लिम प्रत्याशी के जीतने के बाद हुई नारेबाजी”. (आर्काइव लिंक)

दैनिक जागरण, न्यूज़ नेशन, टीवी9 हिन्दी, एसियानेट न्यूज़, जनसत्ता, ज़ी मध्य प्रदेश, इत्यादि सहित राइट विंग प्रॉपगेंडा वेबसाइट क्रीएटली ने भी ऐसा ही दावा किया है. इसके अलावा RSS की मुखपत्रिका पंचजन्य से जुड़े शिवम दीक्षित और रितेश कश्यप, ABP न्यूज़ के पत्रकार ब्रजेश राजपूत और आदर्श झा, BJP मध्य प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर, राइट विंग प्रॉपगेंडा वेबसाइट फलाना ढिकाना, सुदर्शन न्यूज़ के संतोष चौहान, न्यूज़रूम पोस्ट के सुजीत स्वामी भी सोशल मीडिया पर इस प्रकार का दावा करने वालों की लिस्ट में शामिल हैं.

This slideshow requires JavaScript.

ये वीडियो इसी दावे के साथ फ़ेसबुक और ट्विटर पर वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

हमने वायरल वीडियो को गौर से सुना तो पाया कि वहां लगाये जाने वाले नारे कुछ यूं थे – ‘जीत गया भाई जीत गया – वाज़िद भाई जीत गया’ और ‘वाज़िद भाई ज़िंदाबाद’. हमने इसे स्लो मोशन में भी सुना. इसे सुनने के बाद पूरी तरह से साफ हो जाता है कि वहां कोई पाकिस्तान समर्थक नारे नहीं लगे. नीचे 0.80x स्लो-मोशन में वीडियो दिया गया है.

दरअसल, शेख सईद उर्फ वाज़िद, रहीशा बेगम के पति हैं जिन्होंने मध्य प्रदेश के कटनी ज़िले के ग्राम पंचायत ‘चाका’ से सरपंच का चुनाव जीता. भारत में अक्सर महिला सीट रिज़र्व होने पर या अगर पति किसी अन्य पद पर हैं, तो उस स्थिति में महिलाओं को प्रॉक्सी उम्मीदवार बनाकर चुनाव लड़वाते हैं. इसलिए अक्सर महिला की जीत पर उसके पति के नाम से जश्न मनाया जाता है.

हमने इस मुद्दे पर वाज़िद से बात की. उन्होंने हमें बताया कि वहां पाकिस्तान के समर्थन में नारे नहीं लगे. जिस मोबाइल से वीडियो रिकार्ड हुआ उसे पुलिस ने ज़ब्त कर जांच के लिए भेजा है. वीडियो वायरल होने के बाद कई आसामाजिक तत्वों ने बजरंग दल और करनी सेना के नाम से उनके घर के सामने जमकर नारेबाज़ी की और गाली-गलौज किया. हालांकि, उन्होंने बजरंग दल के डायरेक्ट इनवॉल्वमेंट की बात को नकारते हुए कहा कि वो लड़के बजरंग दल के नहीं थे. आगे उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी सालों से BJP से जुड़ी है और ये दूसरी बार है जब वो सरपंच बनी है.

शेख सईद उर्फ वाज़िद ने हमें घटना के वक्त का तीन वीडियो भेजा. इन सभी वीडियोज़ को गौर से सुनने पर साफ हो जाता है कि वहां ‘पाकिस्तान ज़िन्दाबाद’ के नारे नहीं लगे थे बल्कि ‘वाज़िद भाई ज़िंदाबाद’ के नारे लगे थे. नीचे इन तीनों वीडियो को एक साथ जोड़कर रखा गया है.

कुल मिलाकर, कई मीडिया संगठन, पत्रकारों व सोशल मीडिया यूज़र्स ने झूठा दावा किया कि मध्य प्रदेश के कटनी में मुस्लिम सरपंच के जीत के बाद ‘पाकिस्तान ज़िन्दाबाद’ के नारे लगे. असल में वहां ‘वाज़िद भाई ज़िंदाबाद’, वाज़िद खान ज़िंदाबाद’, इत्यादि नारे लगे थे.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged:
About the Author

Abhishek is a journalist at Alt News.