मॉक ड्रिल का वीडियो महाराष्ट्र के अहमदनगर बस स्टैंड पर विस्फोटक बरामद होने के दावे से साझा

सोशल मीडिया में एक वीडियो, जिसमें वर्दी पहने हुए हथियारों से लेस एक आदमी को बस स्टैंड पर देखा जा सकता है, इस दावे से सोशल मीडिया में साझा किया जा रहा है कि महाराष्ट्र के अहमदनगर के मालीवाड़ा बस स्टैंड पर छापेमारी के दौरान चार लोगों को विस्फोटक के साथ गिरफ्तार किया गया है।

Raid on Ahmadnagar Maliwada bus stand.. 4 arrested with explosives…

Posted by Ramesh Jadhav on Wednesday, 4 September 2019

कई लोगों ने इस वीडियो क्लिप को फेसबुक और ट्विटर पर एक मराठी संदेश के साथ साझा किया है –“अहमदनगर माळीवाडा बस स्टँडवर स्फोटके व चार जण पथकाच्या ताब्यात.”

वीडियो के दृश्यों को व्हाट्सअप पर भी अन्य एक दावे से साझा किया गया कि यह घटना नागपुर के गणेश पेठ बस स्टैंड पर हुई है।

मॉक ड्रिल

वीडियो में ऐसे कई सुराग है जिससे पता चलता है कि यह घटना असली नहीं है बल्कि एक मॉक ड्रिल है, जैसे कि सड़क पर कोई भगदड़ नहीं मची है और लोगों को सीमांकित रेखा के बाहर शांति से खड़े हुए देखा जा सकता है। वीडियो में एक स्थान पर, पुलिस को यह कहते हुए सुना जा सकता है –“गाड़ी को हटा लोगों को जाने दे बाहर”

गूगल पर कीवर्ड्स -“Ahmadnagar Maliwada bus stand mock drill”– से सर्च करने पर, हमें महाराष्ट्र टाइम्स का 4 सितंबर का एक लेख मिला। पुलिस के मुताबिक, गणेश चतुर्थी के वक़्त, राज्य पुलिस ने शाम को बस स्टेशन पर एक मॉक ड्रिल का आयोजन किया था। लेख में बताया गया है कि,“पुलिस ने आतंकवादी बस के आसपास घेराबंदी की। यात्रियों को बस से नीचे उतार दिया गया ताकि उनमें भ्रम पैदा किया जा सके। उस दौरान एक पुलिसकर्मी बस की छत पर चढ़ गए। एक के बाद एक चार आतंकवादियों को बस से निकाला और ज़मीन पर लेटाया गया। फिर उन्हें गिरफ्तार कर पुलिस वैन में ले जाया गया। बस यात्रियों को यह घटना होने तक कुछ पता नहीं था। मॉक ड्रिल के खत्म होने तक लोगों को बताया गया कि यह मॉक ड्रिल का वीडियो है”-अनुवादित।

एक फेसबुक पेज ‘मराठी वादळ’ ने अलग एंगल से लिए गए इस मॉक ड्रिल के वीडियो को साझा किया था।

अहमदनगर माळीवाडा बस स्टँडवर मोकड्रिल

अहमदनगर माळीवाडा बस स्टँडवर मोकड्रिल

Posted by मराठी वादळ on Wednesday, 4 September 2019

इस तरह मॉक ड्रिल के एक वीडियो को सोशल मीडिया पर महाराष्ट्र के अहमदनगर मालीवाड़ा बस स्टैंड में पुलिस द्वारा विस्फोटक बरामद करने के रूप में साझा किया गया था। इससे पहले, महाराष्ट्र पुलिस द्वारा एक रूटीन मॉक ड्रिल के अन्य वीडियो को इस दावे के साथ प्रसारित किया गया था कि मुंबई आतंकवादी हमले के हाई एलर्ट पर है।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend