नहीं, ये भारतीय सेना के सिपाही नहीं, अमेरिका में आइस सर्फिंग कर रहे एक व्यक्ति की तस्वीर है

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है।  दावा किया जा रहा है कि भारतीय सेना का जवान भारीबी ठंड में अपने कर्तव्य का पालन कर रहे हैं। “हमारे जवान -5 माईनस डिर्गी मे भी अपना फर्ज निभाते है , और हम आराम से सो जाते हैं , यह अपना वतन बचाते है ,जय हिन्द जय भारत” ये संदेश इस तस्वीर के साथ लिखा गया है।

हमारे जवान -5 माईनस डिर्गी मे भी अपना फर्ज निभाते है , और हम आराम से सो जाते हैं , यह अपना वतन बचाते है ,जय हिन्द जय भारत.

Posted by भारतीय योद्धा on Sunday, 6 January 2019

उपरोक्त पोस्ट फेसबुक पेज भारतीय योद्धा की है। इस पेज के तकरीबन 3 लाख से भी ज़्यादा फॉलोवर्स है। इसी दावे के साथ फेसबुक पेज हिंदुस्तानी सेना ने भी पोस्ट किया है, जहाँ इसे 600 से भी ज़्यादा बार शेयर किया गया है। इस पेज के 20 लाख से भी ज्यादा फॉलोअर्स हैं। कई लोगों ने इस तस्वीर को पोस्ट और शेयर किया, ख़ास कर फेसबुक पर।

विंटर सर्फिंग के वीडियो से ली गई तस्वीर

ये तस्वीर भारतीय सेना की नहीं है। इसे यूट्यूब पर एक वीडियो में से लिया गया है।

उपरोक्त वीडियो को दिसंबर 2017 में अपलोड किया गया था। ये वीडियो अमेरिका- कनाडा सीमा से सटे लेक सुपीरियर पर लिया गया है। लेक सुपीरियर पांच ग्रेट लक्स में से सबसे बड़ा है। इस वीडियो को जेरी मिल्स नामक व्यक्ति ने पोस्ट किया था। इसमें एक आदमी को उप-शून्य तापमान में सर्फिंग करते देखा जा सकता है। सर्फर का नाम डान स्केटर है। उन्हें सर्फर डान से भी जाना जाता है।

यूट्यूब के वीडियो का विवरण इस प्रकार है, “मिलिए हमारे प्रसिद्द स्थानीय सुफेर डान स्केटर/ सर्फर डान से, जो एक ग्रुप का हिस्सा है जो लेक सुपीरियर पर बहुत खतरनाक परिस्तिथि में सर्फिंग करते है। इस दिन -30 तापमान में बर्फीली हवाओं के साथ बहुत ही ख़राब मौसम था।
मैं जेरीसिम सीरीज के लिए फुटेज शूट कर रहा था, उस लम्हे और किनारे पर आते हुए लहरों को कैप्चर करते समय मेरे दायें हाथ में फ्रॉस्टबाइट (शीतदश) लगभग हो ही गया था। उसकी दाढ़ी पर जमी हुई बर्फ ज़बरदस्त सर्दी को दर्शाता है। प्रेसके आइल पार्क, मार्क्वेटे, MI, लेक सुपीरियर के दक्षिण किनारे से, मिशिगन के शानदार ऊपरी प्रायद्वीप पर फिल्माया हुआ।”
(अनुवाद)

ऐसे ही तरह के वीडियो कई बार सोशल मीडिया पर शेयर किये गए है। उदहारण के तौर पर रूसी/ यूक्रेन के सैनिकों की एक छवि को सियाचीन पर तैनात भारतीय सेना के सैनिकों का बताकर दिखाया गया था।

अनुवाद: ममता मंत्री के सौजन्य से

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend