कैंसर मरीज के साथ बाबा रामदेव की पुरानी तस्वीर गलत संदर्भ में शेयर

एक महिला के साथ योग गुरु बाबा रामदेव की एक तस्वीर सोशल मीडिया में इन शब्दों के साथ प्रसारित की गई है –“रात भर शिष्या के साथ अलोम विलोम करने के बाद चरम सुख का आनंद लेते बाबा कामदेव”। यह ट्वीट 18 नवंबर को किया गया था।

उपरोक्त ट्वीट को #रामदेव_ठग_है हैशटैग के साथ पोस्ट किया गया है। रामदेव को एक वुमनाइज़र के रूप में दिखाने का प्रयास किया गया है। इस तस्वीर को कुछ यूज़र्स ने ट्विटर पर शेयर किया है। ऑल्ट न्यूज़ ने फेसबुक पर इस ट्वीट के स्क्रीनशॉट को एक यूज़र द्वारा पोस्ट किया हुआ पाया।

Posted by Zameer Khan on Tuesday, 19 November 2019

तथ्य-जांच: झूठा दावा

इस तस्वीर को लेकर सोशल मीडिया का दावा झूठा है। इस अफवाह को बाबा रामदेव ने खुद सोशल मीडिया पर खारिज़ किया था। वास्तव में, यह तस्वीर पिछले कई वर्षों से प्रसारित है। रामदेव ने लगभग पांच साल पहले 26 नवंबर 2014 को एक स्पष्टीकरण जारी किया था। एक ट्वीट में उन्होंने कहा था, “मुझे यह जानकर शर्म और दुख होता है कि तस्वीर को एक गंदे संदेश के साथ साझा कर लोग कैंसर के मरीज़ को भी बदनाम करना नहीं छोड़ रहे हैं”। (अनुवाद)

रामदेव द्वारा ट्वीट की गई इन्फोग्राफिक के अनुसार, तस्वीर में दिख रही महिला कैंसर की मरीज़ प्रीति हैं, जिनका वेदांता अस्पताल में इलाज चल रहा था, जहां रामदेव ने उनसे मुलाकात की थी। यही स्पष्टीकरण 26 नवंबर 2014 को बाबा रामदेव के आधिकारिक फेसबुक पेज पर भी पोस्ट किया गया था।

दुष्प्रचार करने वालों कुछ तो शर्म करो !
यह बहन, जिसका नाम प्रीती है, आयु 27 वर्ष है, cancer से पीड़ित है, जीवन और मौत के…

Posted by Swami Ramdev on Wednesday, 26 November 2014

एक कैंसर पीड़ित महिला के साथ बाबा रामदेव की तस्वीर, सोशल मीडिया में कई वर्षों से झूठे दावे के साथ योग गुरु को बदनाम करते हुए साझा की गई है।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend