मोदी सरकार के 3 नए कृषि विधेयकों का किसान और विपक्षी पार्टियां जमकर विरोध कर रहीं हैं. केंद्र ने अपने इस विधेयक में व्यापार से बिचौलियों और सरकार के हस्तक्षेप को हटाया है. लेकिन किसानों को इस बात की चिंता है कि इस कानून के बाद उन्हें न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) के तहत लाभ नहीं मिलेगा. इनमें से 2 विधेयकों को 20 सितम्बर को राज्यसभा में वॉइस वोट के ज़रिये पास किया था. सत्ताधारी पार्टी ने न किसानों और न ही किसी और स्टेकहोल्डर से इस पर राय ली. इसी के चलते किसानों में गुस्सा बढ़ गया और भारी प्रदर्शन हुए. मोदी सरकार ने अख़बार में एक फ़ुल पेज विज्ञापन जारी कर विपक्ष पर किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाया.

राहुल गांधी ने 20 सितम्बर को ट्वीट करते हुए सरकार की आलोचना की. उन्होंने लिखा, “जो किसान धरती से सोना उगाता है, मोदी सरकार का घमंड उसे ख़ून के आँसू रुलाता है।”

इसके बाद ही कई लोग उन्हें आलू और सोने की मशीन वाली टिप्पणी पर ट्रोल करने लगे. लेखिका भावना अरोड़ा के इस ट्वीट को 4,400 से ज़्यादा बार लाइक किया गया.

इससे पहले भी इसी सन्दर्भ को भाजपा यूपी के प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक ने ट्वीट करते हुए लिखा, “आलु से सोना बनाने का धंधा जब से हुआ मंदा तब से #काँग्रेस_बेरोजगार_है.”

कोरोना वायरस महामारी के कारण भारतीय अर्थव्यवथा को भारी नुकसान हुआ है. अप्रैल से जून की तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर में 23.9 फ़ीसदी की गिरावट हुई है. वहीं इस दौरान 41 लाख नौजवानों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा. कांग्रेस ने देश में बेरोज़गारी को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ़ ऑनलाइन कैंपेन शुरू किया था.

उसके बाद से ही कई लोग कांग्रेस का बेरोज़गारी पर चिंता ज़ाहिर करने के लिए मज़ाक उड़ा रहे हैं.

इस भ्रामक सूचना का पहले भी हो चुका है फ़ैक्ट-चेक

भाजपा IT सेल के मुखिया अमित मालवीय ने 2017 में राहुल गांधी का एक वीडियो शेयर किया था जिसमें वो कह रहे थे, “ऐसी मशीन लगाऊंगा इस साइड से आलू घुसेगा उस साइड से सोना निकलेगा.” (आर्काइव लिंक)

ANI के रिपोर्टर ने पिछले साल भाजपा एमपी हेमा मालिनी से सवाल करते हुए इसी टिपण्णी का रिफ़रेन्स दिया था. मई में संबित पात्रा ने भी इसी का ज़िक्र करते हुए एक ट्वीट किया था.

ये क्लिप एक वीडियो का हिस्सा है जिसे काट कर शेयर किया जा रहा है. ओरिजिनल वीडियो में 12 नवम्बर, 2017 को राहुल गांधी गुजरात के पाटन में एक भाषण के दौरान पीएम मोदी पर तंज कस रहे हैं.

ये पूरा वीडियो राहुल गांधी के यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया है जिसमें 17:50 मिनट पर उनको ये कहते हुए सुना जा सकता है – “कुछ महीने पहले यहां बाढ़ आयी 500 करोड़ रुपये दूंगा, (पीएम मोदी ने) एक भी रूपया नहीं दिया. आलू के किसानों को कहा ऐसी मशीन लगाऊंगा इस साइड से आलू घुसेगा उस साइड से सोना निकलेगा…मेरे शब्द नहीं है नरेंद्र मोदीजी के शब्द हैं.”

राहुल गांधी ने आलू को सोने में बदलने की मशीन होने का दावा कभी नहीं किया. उन्होंने कहा था ऐसा मैं नहीं बल्कि पीएम मोदी ने कहा है. हालांकि राहुल गांधी के इस दावे के बाद नेताओं ने काफ़ी बयानबाज़ी की क्यूंकि पीएम मोदी के ऐसा कहने का कोई रिकॉर्ड मौजूद नहीं है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

Pooja Chaudhuri is a senior editor at Alt News.