सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति की तस्वीर काफ़ी शेयर की जा रही है. दावा किया जा रहा है कि लखनऊ में एक मौलवी तांत्रिक की पत्नी पड़ोसी के साथ भाग गई. तस्वीर पर लिखा पूरा मेसेज इस प्रकार है : “मनचाहा प्यार दिलाने के लिए प्रसिद्ध लखनऊ के मौलवी तांत्रिक हाज़ी कादिर खां की बेगम रुकसाना पड़ोसी के संग फरार हो गयी, बताया जा रहा है के चंद दिनों पहले रंगीले पड़ोसी ने मौलवी से ही ताबीज बनवाया था”. फ़ेसबुक यूज़र संदीप मिश्रा ने ये तस्वीर फ़ेसबुक ग्रुप ‘JOIN RSS (संघ से जुड़ें )‘ में पोस्ट की है.

ये वीडियो गाज़ियाबाद में पिछले महीने एक बुज़ुर्ग व्यक्ति की पिटाई के संदर्भ में शेयर किया जा रहा है. इस घटना में पुलिस ने 11 लोगों के खिलाफ़ चार्जशीट दाखिल की है. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ था जिसमें बुज़ुर्ग व्यक्ति के साथ कुछ लोग मार-पीट करते हुए और उनकी दाढ़ी काटते हुए दिखते हैं.

फ़ेसबुक यूज़र विशाल वर्मा ने भी ये तस्वीर इसी दावे के साथ पोस्ट की है. (आर्काइव लिंक)

मनचाहा प्यार दिलाने के लिए प्रसिद्ध लखनऊ के मौलवी तांत्रिक हाज़ी कादिर खां की बेगम रुकसाना पड़ोसी के संग फरार हो गयी,…

Posted by Vishal Verma on Friday, 18 June 2021

फ़ेसबुक और ट्विटर पर ये तस्वीर वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

इस तस्वीर को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें 12 जुलाई 2019 का NDTV का आर्टिकल मिला. आर्टिकल में इस व्यक्ति की पहचान बेंगलुरू के इमाम हनीफ़ अफ़सर अज़ीज़ी के रूप में की गई है. खबर के मुताबिक, हनीफ़ अफ़सर अज़ीज़ी को विशेष जांच दल (SIT) ने बेंगलुरू के चर्चित IMA घोटाले के संबंध में गिरफ़्तार किया था. हनीफ़ ने बताया था कि वो IMA से किसी भी तरह से कनेक्टेड नहीं है. लेकिन जांच अधिकारियों का कहना था कि घोटाले के कथित आरोपी मोहम्मद मंसूर खान ने मनी लॉन्ड्रिंग सर्विस के बदले मौलाना हनीफ़ को 3 करोड़ रुपये का घर तोहफ़े में दिया था. SIT ने मौलाना हनीफ़ के साथ और 5 लोगों को भी गिरफ़्तार किया था.

 

इसके बाद हमने दावे के दूसरे हिस्से के बारे में पड़ताल शुरू की. की-वर्ड्स सर्च करने पर हमें इस दावे की पुष्टि करती कोई जानकारी नहीं मिली.

कुल मिलाकर, IMA घोटाले के आरोपी हनीफ़ अफ़सर अज़ीज़ी की तस्वीर सोशल मीडिया पर मुस्लिम विरोधी दावे के साथ शेयर की गई.


चोरी के आरोपी को पुलिस ने ढाबे में दबोचा, वीडियो दिल्ली दंगों के आरोपी का बताकर हुआ वायरल :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: