प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 3 दिवसीय अमरीका यात्रा के बाद एक वीडियो शेयर किया जा रहा है. कहा जा रहा है कि भारतीय प्रधानमंत्री को अमेरिका में दौड़ा-दौड़ा कर भगाया गया. दावा है कि अमेरिका किसान एकता के सामने मोदी को बेइज्ज़त होना पड़ा.

फ़ेसबुक पर भी इस दावे के साथ ये वीडियो शेयर किया जा रहा है.

 

अमेरिकी इतिहास में कभी भी भारतीय प्रधानमंत्री को पब्लिक ने दौड़ा-दौड़ा कर नहीं भगाया था।

अमेरिकी फ़ौज मोदी को लेकर उल्टे पॉव भागी

🌾 अमेरिका किसान एकता जिंदाबाद 🌾

मोदी की अमेरिका में किसानों के आगे भागने की बेज़ती जरूर देखें । 👇👆

Posted by Kulwinder Chahil Malerkotla on Wednesday, 29 September 2021

ऑल्ट न्यूज़ के व्हाट्सऐप नंबर (+91 76000 11160) पर इस दावे की सच्चाई पता करने की कई रिक्वेस्ट मिलीं.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

सबसे पहले PM मोदी की ये यात्रा शुरुआत से अंत तक मीडिया में छाई रही. यात्रा का हर एक अपडेट मीडिया देता रहा. ऐसा मुश्किल है कि अमरीका में PM मोदी के ख़िलाफ़ लोग सड़क पर उतरे हो और मीडिया ने न दिखाया हो.

हमने देखा कि ये वीडियो 21 सितम्बर से ऑनलाइन मौजूद है. PM मोदी 22 सितम्बर को US के लिए रवाना हुए थे. मतलब साफ़ है कि इसका PM मोदी के दौरे से कोई संबंध नहीं हो सकता. 21 सितम्बर को एक ट्विटर यूज़र ने ये वीडियो ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न का बताकर शेयर किया था.

एक और यूज़र ने ये वीडियो 21 सितम्बर को शेयर किया है. हमने गूगल मैप से वो जगह ढूंढने की कोशिश की. ये मेलबर्न में विक्टोरिया का एक्ज़ीबिशन ST है, जहां ये प्रदर्शन हो रहा था. सामने ओरिजिन एनर्जी की बिल्डिंग दिख रही है.

हमने देखा कि 21 सितम्बर को मेलबर्न में हुआ प्रदर्शन हिंसक हो गया था. बाद में पुलिस ने प्रदर्शनकारी को गिरफ़्तार भी किया था. 21 सितम्बर को ABC न्यूज़ ने एक वीडियो रिपोर्ट में दिखाया कि कैसे मेलबर्न में प्रदर्शन हिंसक हो गया.

ख़बर के अनुसार मेलबर्न, ऑस्ट्रेलिया में लॉकडाउन के विरोध में कई दिनों से प्रदर्शन हो रहे हैं. यहां सिर्फ उन्हीं लोगों को काम करने की अनुमति है जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली है. इसी के ख़िलाफ़ लोग सड़क पर उतर आये हैं. अबतक इसमें 72 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

यानी, ऑस्ट्रलिया का एक वीडियो शेयर करते हुए एक PM मोदी की अमरीकी यात्रा से जोड़ा गया. इसके साथ ग़लत दावा किया गया कि PM मोदी को अमरीका में दौड़ा-दौड़ा का भगाया गया.


नरेन्द्र मोदी की अमरीकी यात्रा के दौरान उन्हें अपशब्द कहने वाला वीडियो भ्रामक है, देखिये

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged:
About the Author

Priyanka Jha specialises in monitoring and researching mis/disinformation at Alt News. She also manages the Alt News Hindi portal.