1 मिनट और 6 सेकंड का एक वीडियो सोशल मीडिया में शेयर हो रहा है जिसमें कई सारे लोग ज़मीन पर गिरे दिख रहे हैं. दावा है कि ये वीडियो भारत में ‘मर्डर हॉर्नेट’ (एशियन जायंट हॉर्नेट) का हमला दिखा रहा है. वीडियो में सड़क पर कई सारे लोगों यहां-वहां लेटे हुए देखे जा सकते हैं. 24 मई 2020 को फ़ेसबुक पेज ‘TGIS Vlogs’ ने ये वीडियो शेयर करते हुए वीडियो के साथ किये गए दावे के सही या ग़लत होने के बारे में पूछा है. लेकिन बाद में यूज़र इस वीडियो को ‘एशियन जायंट हॉर्नेट’ या ‘मर्डर हॉर्नेट’ के हमले से जुड़ा हुआ बताते है. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 9,100 बार देखा गया. (पोस्ट का आर्काइव लिंक)

वीडियो शेयर करने के लिए एक कॉमन मेसेज का इस्तेमाल किया जा रहा है : “NEWS ALERT!! Is it real or hoax? A large insect the size of a wasp called “The Asian Giant Hornet” researchers call it the “Murder Hornet”. This insect kills only a few minutes after stinging it’s victim several times. The sting is strong enough to puncture a bee keepers suit. The Hornets are more than 2inches long and have been attacking bee hives. It is said to have come from China, Iran and India and are now seen in the US. Please see other video in the comment box. Pleaae like TGIS Vlogs for more content”

Killer Bee

NEWS ALERT!!

Is it real or hoax?

A large insect the size of a wasp called “The Asian Giant Hornet” researchers call it the “Murder Hornet”. This insect kills only a few minutes after stinging it’s victim several times. The sting is strong enough to puncture a bee keepers suit. The Hornets are more than 2inches long and have been attacking bee hives. It is said to have come from China, Iran and India and are now seen in the US.

Please see other video in the comment box.
Pleaae like TGIS Vlogs for more content

Posted by TGIS Vlogs on Saturday, 23 May 2020

29 मई को एक और फ़ेसबुक पेज ‘Bordz Gabuya’ ने ये वीडियो इसी कॉमन मेसेज के साथ पोस्ट किया है. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 1,800 बार देखा जा चुका है. (पोस्ट का आर्काइव लिंक)

कोरोना वायरस के दावे से भी वायरल है ये वीडियो

हमने पाया कि ये वीडियो भारत में कोरोना वायरस के कारण लोगों की ऐसी हालत होने के दावे से भी शेयर हो रहा है. सिंहली भाषा के कैप्शन के साथ फ़ेसबुक पेज ‘Sajith For President’ ने 9 मई 2020 को ये वीडियो पोस्ट किया. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 1,400 बार देखा गया है. (पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न)

.

කොරෝනා විහිලුවටගත්, වසංගතය සම්පූර්ණයෙන්ම ඉවර වීමට පෙර ආරක්ෂණ ප්‍රතිපත්ති අත් හල ඉන්දියාවේ ජනතාව විදවන අයුරු.

Posted by Sajith For President on Friday, 8 May 2020

‘ऑरेंज फै़न्स’ नाम के एक फ़ेसबुक पेज ने ये वीडियो इसी दावे के साथ शेयर किया है. यूट्यूब पर भी “covid19 India 😢😢” कैप्शन के साथ ये वीडियो अपलोड किया गया है.

फ़ैक्ट-चेक

वीडियो के फ़्रेम्स को रिवर्स इमेज सर्च करने पर 6 मई 2020 की टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक वीडियो रिपोर्ट मिली. इसमें वायरल हो रहे वीडियो वाले हिस्से को 7वें सेकंड पर देखा जा सकता है. ये आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में 7 मई को हुए वाईज़ैग गैस लीक की घटना का बताया गया है.

सर्च करने पर हमें “इंडियन एक्स्प्रेस” की 7 मई की वीडियो रिपोर्ट मिली. इस वीडियो रिपोर्ट में विशाखापट्टनम में हुए गैस लीक के दृश्य दिखाए गए हैं.

वायरल वीडियो और मीडिया रिपोर्ट्स को कम्पेयर करने पर ये बात आईने की तरह साफ़ हो गई कि वायरल वीडियो विशाखापट्टनम में हुए गैस लीक की घटना का ही है.

1. दोनों वीडियो में गुलाबी रंग के कपड़ों में ज़मीन पर गिरी हुई महिला

2. सफ़ेद और हरे रंग की साड़ी में ज़मीन पर बैठी हुई वृद्ध महिला

3. सड़क पर पड़े हुए कुछ टू-व्हीलर्स और लोग

इस तरह ये बात साफ़ हो जाती है कि ज़मीन पर गिरे हुए लोगों का वीडियो हकीकत में विशाखापत्तनम में हुए गैस लीक की घटना का है. विज़ाग गैस लीक के दृश्यों को दिखलाता ये वीडियो पहले तो कोरोना वायरस और बाद में ‘मर्डर होर्नेट’ के हमले के दावे से शेयर किया गया. सोशल मीडिया में इस वीडियो के साथ किये जा रहे ऐसे सभी दावे ग़लत हैं.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.