UK में रह रहे पेशेंट का वीडियो पाकिस्तान में कोरोना से मरने वाले 26 साल के डॉक्टर के नाम से वायरल

ये सोशल मीडिया पर भारी ऐक्टिविटी वाला दौर है. दुनिया भर में कोरोना वायरस का संक्रमण फ़ैला हुआ है. समूचे देश लॉक डाउन पर हैं. ऐसे में सोशल मीडिया पर हलचल बढ़ गयी है. लोगों के पास वक़्त है और वो इनफ़ॉर्मेशन का आदान-प्रदान कर रहे हैं. तमाम वीडियोज़, तस्वीरें, लेख और न जाने क्या क्या शेयर हो रहा है. इस दौरान कोरोना वायरस से जुड़ी ख़बरें सबसे ऊपर हैं. कोरोना वायरस से जुड़ा एक वीडियो काफ़ी शेयर हुआ. इसमें एक व्यक्ति दिख रहा है जो कि अस्पताल के एक बिस्तर पर पड़ा हुआ है. उसका चेहरा मास्क से ढका हुआ है. वो बड़ी मुश्किल से कुछ बोलने की कोशिश करता है. उसके मुंह से आवाज़ नहीं निकल रही है. वो किसी तरह से कह पाता है – “सलाम वालेकुम. आज तबीयत बेहतर है. इसलिये मैंने कहा कि मैं आप सब लोगों से सलाम कर लूं. और मैं आप लोगों से दरख्वास्त करता हूं कि इस वायरस को मज़ाक न समझें. ये वायरस मज़ाक नहीं है. आज मेरी तबीयत हज़ार दर्ज़े बेहतर है.” इसके बाद वो तमाम बातें कहते हैं. लोगों को ठीक से रहने की नसीहत देते हैं. पूरे दौरान आपको दिखाई देता है कि वो बेहद तकलीफ़ में हैं और अगर वो इसे बेहतर तबीयत कह रहे हैं तो इससे पहले उनकी स्थिति काफ़ी भयावह होगी.

दावा किया जा रहा हा कि ये वीडियो पाकिस्तान के डॉक्टर उसामा रियाज़ का है. ट्वीट में ये भी बताया गया कि ये डॉक्टर साहब पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मरीज़ों का इलाज कर रहे थे. इसी दौरान इन्हें भी इन्फ़ेक्शन हो गया. और फिर इनकी मौत हो गयी. लगभग सभी दावों में इस वीडियो के बारे में लिखा है कि डॉक्टर उसामा चले गए लेकिन हम सभी के लिए ज़रूरी मेसेज छोड़ गए हैं. ऊपर खादिजा सिद्दीक़ी के हैंडल से ट्वीट गए गए इस वीडियो को 4 हज़ार से ज़्यादा और नीचे आरिफ़ शाह के हैंडल से ट्वीट किये गए इस दावे और वीडियो को 1 हज़ार से ज़्यादा बार रीट्वीट किया गया है.

अपना ट्विटर अकाउंट सस्पेंड करवाने का तज़ुर्बा ले चुकीं मुंबई की ब्लॉगर सोनम महाजन ने भी इसी वीडियो को ट्वीट किया. इन्होने भी यही क्लेम किया कि ये पाकिस्तान के डॉक्टर उसामा का वीडियो है. सोनम महाजन सोशल मीडिया पर अपनी हरक़तों की वजह से चर्चा में रहती हैं.

इसके अलावा एक और दावा है जो कि इसी वीडियो के साथ चल रहा है. इस बार मामला इंडिया का है. एक फ़ेसबुक यूज़र ने इसे राजस्थान के भीलवाड़ा का बताया. उन्होंने कहा कि भीलवाड़ा के डॉक्टर नियाज़ साहब कोरोना पॉजिटिव हैं और उन्होंने सभी के लिए मेसेज भेजा है.

 

भीलवाड़ा के कोरोना पॉजिटिव डॉ. नियाज साहब का सभी के लिए सन्देश

Posted by Kajla Sunil Choudhary on Monday, 23 March 2020

ये वीडियो ट्विटर और फ़ेसबुक पर इसी दावे के साथ वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

ये बात एकदम सच है कि पाकिस्तान में 26 साल के एक डॉक्टर की मौत हुई है. उनका नाम डॉक्टर रियाज़ ही था. वो ईराक़ और ईरान से लौटे लोगों का गिलगित-बाल्टिस्तान इलाक़े में इलाज कर रहे थे. ये इलाक़ा पीओके में पड़ता है. इसी इलाज के दौरान उन्हें भी कोरोना वायरस का संक्रमण हो गया था और उनकी मौत हो गयी.

लेकिन वो डॉक्टर ये नहीं हैं जो कि इस वीडियो में दिखाई पड़ रहे हैं. वीडियो में दिखाई पड़ने वाला शख्स हैं डॉक्टर मुबाशिर अहमद. ये पाकिस्तान से हैं और बीते कुछ वक़्त से यूके में रह रहे हैं.  और इन्हें कोरोना वायरस का इन्फ़ेक्शन हो गया था. ट्विटर पर इनकी रिलेटिव निमरा ने ट्वीट कर के बताया कि वो इनके अंकल हैं और उनका नाम उसामा रियाज़ नहीं है. निमरा ने ये भी बताया कि मुबाशिर अभी ठीक हैं और रिकवर कर रहे हैं.

इसके बाद हमने मुबाशिर को फ़ेसबुक पर खोजा जहां उनका पोस्ट मिला. इसमें उन्होंने भगवान् को शुक्रिया अता करते हुए कहा कि वो पहले से काफी बेहतर हैं लेकिन अभी अस्पताल में ही हैं. नीचे मुबाशिर के फ़ेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट लगा हुआ है. इसी पोस्ट में उन्होंने इस बारे में भी बात की थी कि उनका वीडियो कई लोगों के नाम से चल रहा है जो कि गलत है और ऐसा नहीं होना चाहिए था.

हमें मुबाशिर अहमद का वो फ़ेसबुक लाइव भी मिला जो उन्होंने 22 मार्च को दोपहर 1 बजकर 22 मिनट पर किया था.

 

There is currently no specific treatment for coronavirus.

Antibiotics do not help, as they do not work against viruses.

Treatment aims to relieve the symptoms while your body fights the illness.

You’ll need to stay in isolation, away from other people, until you have recovered.

Please Please Please

Posted by Mubashir Ahmad on Sunday, 22 March 2020

तो इस तरह से हमें ये मालूम चलता है कि ये वीडियो असल में मुबाशिर नाम के एक शख्स का है जिसे कोरोना वायरस का संक्रमण हो गया था और इसका डॉक्टर उसामा रियाज़ से कोई लेना-देना नहीं है. नीचे मुबाशिर (लेफ़्ट) और डॉक्टर रियाज़ (राइट) की तस्वीर दी हुई है.

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend