सोशल मीडिया पर एक महिला की तस्वीर शेयर की जा रही है जिसमें उसने एक पोस्टर पकड़ा हुआ है. इसपर कथित तौर से लिखा है, “मैं अपनी साड़ी और कपड़े उतार दूंगी लेकिन डाक्यूमेंट्स नहीं दिखाऊंगी.”

(ओरिजिनल टेक्स्ट: শাড়ি কাপড় খুলে দেবো তাও Documents দেবো না, NONRCCAANPR)

उत्तर कोलकता से भाजपा आईटी सेल इंचार्ज के तौर पर पहचान रखने वाले अभिजीत बसक ने ये तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा, “क्या वो इसलिए इतना डरे हुए हैं क्योंकि वो नाजायज़ पिता के बच्चे हैं?” इसके बाद पूरे ट्वीट में वामपंथी विचारधारा के लोगों को निशाना बनाया गया है.

ये तस्वीर फे़सबुक पर भी शेयर की जा रही है.

फ़ैक्ट-चेक

ऑल्ट न्यूज़ ने इस तस्वीर का ‘documents nonrccaanpr’ कीवर्ड के साथ रिवर्स इमेज सर्च किया और हमें फे़सबुक पेज ‘कोलकता प्राइड’ दिखा. इस पेज की तस्वीरें खंगालने पर हमें इसी महिला की एक तस्वीर मिली जिसमें उसने वायरल इमेज जैसा ही पोस्टर थामा हुआ है. किसी ने कमेंट में दीपन्विता पॉल को टैग किया हुआ था.

Laws like the CAA and the Trans Act 2019 are fundamentally anti-human and undemocratic. For many who have wondered why…

Posted by Kolkata Pride on Tuesday, January 7, 2020

दिपन्विता ने ओरिजिनल तस्वीर 10 जनवरी, 2020 को अपलोड की थी. उन्होंने एक पोस्ट में बताया है कि उनकी वायरल तस्वीर मॉर्फ़ की हुई है. उन्होंने मॉर्फ़ की हुई और ओरिजिनल तस्वीर साथ में पोस्ट की है.

আসলে ধর্ষকের চোখ তো, স্বাভাবিকভাবেই “না” কে “হ্যাঁ” দেখেছে। ভারতে CAA-NRC-NPR বিরোধী আন্দোলনের অনেক আগে থেকেই এদেশের…

Posted by Dipanwita Paul on Sunday, January 10, 2021

‘नहीं उतारूंगी (খুলবো না)’ को ‘उतारूंगी (খুলে দেবো)’ कर दिया गया है. तस्वीर को नीचे से क्रॉप किया गया है जहां ‘NOTGBILL’ लिखा था. ये ट्रांसजेंडर पर्सन्स (प्रोटेक्शन ऑफ़ राइट्स) बिल, 2019 के सन्दर्भ में लिखा है जिसे संसद में नवम्बर, 2019 में पास किया गया था. मॉर्फ़ किये गये हिस्से को नीचे हाईलाइट करके दिखाया गया है. ध्यान से देखने पर साफ़ होता है कि ओरिजिनल पोस्टर हाथ से लिखा है जबकि वायरल तस्वीर में ये डिजिटल फ़ॉन्ट है.

एक तस्वीर जिसमें महिला ने नागरिकता संशोधन कानून और ट्रांसजेंडर राइट्स बिल के खिलाफ़ पोस्टर पकड़ा हुआ है, उसे मॉर्फ़ कर ग़लत दावे के साथ वायरल किया गया. मॉर्फ़ तस्वीर में दिखाया गया है पोस्टर पर लिखा है, ‘मैं अपनी साड़ी और कपड़े उतार दूंगी लेकिन डाक्यूमेंट्स नहीं दिखाऊंगी.’


फै़क्ट-चेक: रजत शर्मा के कोवैक्सीन से जुड़े दावे से योगी आदित्यनाथ की TIME में COVID पर ‘तारीफ़’ तक

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

Pooja Chaudhuri is a senior editor at Alt News.