सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफ़ी शेयर किया जा रहा है. ये वीडियो एक कार्यक्रम में दर्शकों के बीच से रिकॉर्ड किया गया है. वीडियो में प्रधानमंत्री मोदी स्टेज पर लोगों से मिल रहे हैं. और इस बीच दर्शकों में कोई अपशब्द बोलते हुए सुनाई देता है. ये वीडियो शेयर करते हुए यूज़र्स इस घटना की निंदा कर रहे हैं. ट्विटर हैन्डल ‘@Naushad9471’ ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि बस यही देखना बाकी रह गया था. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 47 हज़ार से ज़्यादा बार देखा जा चुका है.

चूंकि वीडियो में देश के प्रधानमंत्री के लिए अपशब्द कहे जा रहे हैं, इसलिए ऑल्ट न्यूज़ इस आर्टिकल में कहीं भी उस वीडियो को जगह नहीं दे रहा है. इसकी जगह हम आपको एक स्क्रीन रिकॉर्डिंग दिखा रहे हैं जिसे हमने सेंसर किया है. यही वो क्लिप है जो वायरल हो रही है.

ट्विटर हैन्डल ‘@FellowcitizenEs’ ने भी ये वीडियो ट्वीट करते हुए इस घटना की आलोचना की.

ये वीडियो फ़ेसबुक पर भी काफ़ी शेयर किया गया है.

This slideshow requires JavaScript.

एक अलग ऑडियो के साथ भी ये वीडियो शेयर किया जा रहा है. इस वीडियो में अपशब्द नहीं सुनाई देते हैं. फ़ेसबुक यूज़र बीजेपी जिंदाबाद ने वीडियो अमेरिका में प्रधानमंत्री मोदी के ज़ोरदार स्वागत का बताकर पोस्ट किया है. और भी कुछ यूज़र्स ने ये वीडियो पोस्ट किया है. (लिंक 1, लिंक 2)

 

🇮🇳🇮🇳🇮🇳
भारत के होनहार यशस्वी पीएम मोदी जी का US में जोरदार स्वागत देखिए
🇮🇳भारत माता की जय के जयकारो से अमेरिका गुंज रहा है

Posted by बीजेपी जिंदाबाद on Friday, 24 September 2021

फ़ैक्ट-चेक

इसे ध्यान से देखने पर ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि वीडियो में दिख रहे लोगों ने मास्क नहीं पहना है. कोरोना महामारी के चलते सभी सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य है. हमें इस बात पर संदेह हुआ कि ये वीडियो शायद महामारी के पहले का हो. इसे ध्यान में रखकर यूट्यूब पर की-वर्ड्स सर्च किया. और हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2019 के अमेरिकी दौरे का एक वीडियो मिला. प्रधानमंत्री कार्यालय के आधिकारिक यूट्यूब चैनल से अपलोड किये गए इस वीडियो में 1 घंटा 43 मिनट और 30 सेकंड पर वायरल वीडियो जैसे दृश्य देखने को मिलते हैं. यानी, वायरल वीडियो नरेंद्र मोदी के 2019 के अमेरिका दौरे का है.

 

यूट्यूब वीडियो और वायरल वीडियो की समानताओं को आप नीचे तस्वीर में साफ़ देख सकते हैं.

इसके अलावा, वीडियो में स्टेज पर एक बोर्ड दिखता है जिसपर ‘टेक्सस इंडिया फ़ोरम’ लिखा है. इसी ‘टेक्सस इंडिया फ़ोरम’ ने 2019 में हाउडी मोदी कार्यक्रम का आयोजन किया था.

ऑल्ट न्यूज़ किसी भी वीडियो के ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है. पाठक ध्यान दें कि एक वीडियो प्रधानमंत्री मोदी की प्रशंसा करते हुए शेयर किया जा रहा है. जबकि दूसरे वीडियो में दृश्य तो वही दिखते हैं लेकिन उसमें अपशब्द सुनाई देते हैं जो नरेंद्र मोदी को टार्गेट कर रहे हैं. हां, ये यकीन के साथ कहा जा सकता है कि ये वीडियो नरेंद्र मोदी की 2019 की अमरीका यात्रा का है, न कि 2021 की. इसे हाल ही में ग़लत सन्दर्भ में शेयर किया जा रहा है.


कृष्ण और पांडवों की तस्वीर ‘पंजशीर पैलेस’ में मौजूद होने का ग़लत दावा, देखिये :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: