नानावटी अस्पताल ने नींबू, हल्दी को Covid-19 का उपचार नहीं बताया, फ़र्ज़ी मेसेज वायरल

व्हाट्सऐप पर एक मेसेज खूब शेयर हो रहा है. दावा है कि मुंबई के नानावटी हॉस्पिटल में COVID के जानकारों ने सूचित किया है कि कोरोना पॉज़िटिव मरीजों को ये चार उपचार दिए जाते हैं – नींबू के साथ गर्म पानी, घी में मिक्स अदरक और गुड़, गर्म दूध में हल्दी और दिन में एक बार भाप.

इस मेसेज की सच्चाई पता करने के लिए ऑल्ट न्यूज़ को कई रिक्वेस्ट मिली हैं.

फ़र्ज़ी मेसेज

ये मेसेज ट्विटर पर भी शेयर हो रहा था. नानावटी हॉस्पिटल ने कई यूज़र्स के ट्वीट पर रिप्लाइ करते हुए ये स्पष्ट किया कि इस अस्पताल के किसी भी डॉक्टर ने ये उपचार नहीं सुझाए हैं.

बार-बार शेयर की जाने वाली ग़लत जानकारी

गर्म पानी में विटामिन-सी या नीम्बू कोरोना वायरस का उपचार नहीं है और ये गलत दावा कोरोना वायरस के शुरुआत से ही किया जा रहा है. ऑल्ट न्यूज़ की साइन्स टीम ने मार्च में ही एक आर्टिकल में ये स्पष्ट किया था कि इस बात का कोई पुख्ता सबूत नहीं है कि विटामिन-सी कोरोना का इलाज है.

कुछ दिन पहले हल्दी, अदरक और गर्म भाप जैसे भी कुछ घरेलू नुस्खों को ‘आयुर्वेदिक डॉक्टरों ने’ कोरोना का उपचार बताया. लेकिन इनमें से एक भी चीज कोरोना वायरस के उपचार में मददगार नहीं है. गर्म पानी पीने, गरारा करने या भाप लेने से वायरस ख़त्म नहीं किया जा सकता है.

इस तरह ये दावा कि नानावटी हॉस्पिटल ने Covid-19 के उपचार के रूप में गर्म पानी, हल्दी, अदरक और भाप लेने का सुझाव दिया है, पूरी तरह से गलत है और ये बहुत ही खतरनाक गलत जानकारी है जो बार-बार शेयर की जा रही है.

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend