सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है. इसमें कहा जा रहा है कि अजमेर, राजस्थान की बकरा मंडी कोरोना वायरस (COVID-19) की चपेट में आ गयी है.

जितना जल्दी हो सब गुरुप मे भेजो बकरा मे भी कोरोना वाएरस पाया गया है

Posted by Piriydarshi Mohan Kumar Barnwal on Saturday, 14 March 2020

कई लोगों ने यही वीडियो ये कहकर शेयर किया है – ‘किसी वायरस के चलते मंडी में बकरियां बीमार पड़ रही हैं और उन्हें लकवा भी मार रहा है.’

Ajmer Rajasthan, some virus making all Goats/Sheep sick and paralyzed. These goats are arriving in tuck loads into Ajmer Live stock market and are being sent to slaughter houses to process meat. Avoid Mutton in all forms.👇
Just an awareness video, have not checked the credibility of this video🙏🏻

Posted by Amarveer Dhillon on Sunday, 23 February 2020

कई यूज़र्स ने मटन न खाने की सलाह भी दे डाली.

Another deadly unknown virus is spreading in mutton livestock market in India, so avoid consuming goat mutton.

Pass the video on.

Posted by naomithebossblogspot.ie on Friday, 13 March 2020

इस वीडियो क्लिप की सच्चाई पता करने के लिए हमें कई रिक्वेस्ट्स मिली हैं.

फ़ैक्ट चेक –

ऑल्ट न्यूज़ ने जब इस वीदियो की जांच करनी शुरू की तो यूट्यूब पर इसके पहली बार अपलोड होने की तारिख मिली 12 दिसंबर, 2019. भारत में कोरोना वायरस के पहले संक्रमण के मिलने की तारीख़ थी 30 जनवरी, 2020.

ऑल्ट न्यूज़ ने राजस्थान के पशुपालन विभाग के एडिशनल डायरेक्टर के पद पर तैनात डॉक्टर प्रदीप सारस्वत से बात की. उन्होंने बताया कि उनके डिपार्टमेंट ने भी इस वीडियो को देखा है. उन्होंने कहा, “भारतीय सरकार ने हमें ये वीडियो भेजा. हमें मालूम था कि ये वीडियो पुराना है और फ़ेक है लेकिन फिर भी मैंने इसकी जांच की. ये फ़ेक वीडियो है और इस इलाके में बकरियों को होने वाले किसी भी संक्रमण की कोई रिपोर्ट हमें नहीं मिली. मैंने भारत सरकार के जॉइंट सेक्रेटरी को जवाब दे दिया है.”

इस डिपार्टमेंट के जॉइंट डायरेक्टर डॉक्टर तेज सिंह ने भी ऐसा ही कुछ कहा और इस वायरल हो रहे दावे को “फ़ेक न्यूज़” बताया.

अजमेर की बकरा मंडी में व्यापारी गजानंद खटिक ने कहा, “असल में मीट खाने के ख़िलाफ़ एक नेरेटिव बनाया जा रहा है. यहां कोई वायरस नहीं फैला है. अगर ऐसा हुआ होता तो हेल्थ डिपार्टमेंट के अफ़सरों ने जांच ज़रूर की होती. जो लोग ये अफ़वाह फ़ैला रहे हैं, वो हमारे व्यापार को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं. हम खराब मीट बेचकर लोगों को धोखा क्यूं देंगे? कोरोना वायरस के दौरान अफवाहें फैलाई जा रही हैं.”

यहां ये बात नोट किये जाने लायक है कि तीनों लोगों ने ये कहा कि ये वीडियो अजमेर की बकरा मार्केट का है ही नहीं. ऑल्ट न्यूज़ इस बात की सत्यता नहीं जांच सका है. मीडिया में चल रही ख़बरों को जब खंगाला तो भी किसी ठोस निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सका.

इस तरह से ये ज़रूर कहा जा सकता है कि अजमेर की बकरा मंडी में वायरस के प्रकोप फैलने संबंधी एक पुराना वीडियो वायरल हो रहा है. इसके दावों में कोई सच्चाई नहीं है.

क्या COVID-19 से बकरियों में संक्रमण फैल सकता है?

ऑल्ट न्यूज़ की साइंस एडिटर डॉक्टर सुमैया शेख ने बताया कि पालतू पशुओं में, जिन्हें डेरी या अन्य तरह से उपभोग के लिए रखा जाता है, ये संक्रमण मौजूद हो सकता है. “कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी प्रेस में 2019 की एच एम आमेर की रीसर्च के अनुसार पालतू और जंगली जानवरों में कोरोना वायरस का संक्रमण हो सकता है. बकरियां इसमें शामिल हैं. हालांकि, बकरियों और इंसानों में इसके संक्रमण के लिए अलग-अलग प्रजाति के वायरस ज़िम्मेदार होते हैं. चूंकि हमें ये नहीं मालूम चला है कि अजमेर में बकरियां कोरोना वायरस से ग्रसित हैं, इसलिये इस वीडियो के ग़लत होने के चांसेज काफी ज़्यादा हैं.”

इससे पहले भी COVID-19 से संक्रमित ब्रॉयलर चिकन के बारे में ग़लत ख़बर फैली थी जिसकी सच्चाई ऑल्ट न्यूज़ ने बतायी थी.

कोरोना वायरस से जुडी और भी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

Pooja Chaudhuri is a senior editor at Alt News.