साउथ अफ़्रीका के अस्पताल में बंदर उत्पात मचा रहे थे, वीडियो इंडिया का बताकर शेयर किया गया

अस्पताल के वॉर्ड में बंदरों की कूद-फांद का एक वीडियो सोशल मीडिया में शेयर हो रहा है. 26 जून को पाकिस्तान के ‘GEO’ न्यूज़ के रिपोर्टर मुर्तज़ा अली शाह ने ट्वीट करते हुए इस वीडियो को भारत का बताया है. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 3 हज़ार व्यूज़ मिले हैं. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

13 जुलाई को एक और ट्विटर यूज़र ने ये वीडियो भारत का बताते हुए शेयर किया था. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

ट्विटर पर और भी कई यूज़र्स ने भारत का बताते हुए ये वीडियो शेयर किया है.

फ़ैक्ट-चेक

मुर्तज़ा के ट्वीट पर रिप्लाइ करते हुए एक यूज़र ने ‘डेली मेल’ के आर्टिकल का स्क्रीनशॉट शेयर किया है. 29 मार्च 2019 के इस आर्टिकल में बताया गया है कि साउथ अफ़्रीका के एक अस्पताल में पिछले 3 महीनों से बंदर अस्पताल के वॉर्ड और किचन में घुस जाते हैं और मरीज़ो का खाना ले जाते हैं. दरअसल डर्बन के आरके खान अस्पताल में बड़े बंदरों ने आतंक मचाया हुआ है. आर्टिकल में इस घटना का पूरा वीडियो भी शेयर किया गया है जिसके साथ बताया गया है कि इस वीडियो में 20 के करीब बंदर दिखाई दे रहे हैं.

‘डेली मेल’ की रिपोर्ट के मुताबिक, 543 बेड वाला ये अस्पताल जंगल के पास बनाया गया है. इस वजह से हर रोज़ बंदर यहां आते हैं और खुली खिड़कियों से वॉर्ड के अंदर घुस जाते हैं. इस वॉर्ड में कई तरह के मरीज़ों को रखा जाता है जिनमें से कुछ ज़्यादा गंभीर भी होते हैं. इन बंदरों की वजह से ये मरीज़ अक्सर डर जाते हैं और खुद को चद्दर से ढक देते हैं ताकि बंदरों से बच सके. अस्पताल के मालिक ने बंदरों को रोकने के लिए एक टास्क फ़ोर्स का गठन भी किया था. वहीं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. एरन मोत्ज़ालेडी ने इस मामले में बात करते हुए कहा, “इन बंदरों को रोकने के लिए तुरंत कोई इलाज ढूंढना पड़ेगा और मुझे अब इस वॉर्ड में बंदर नहीं दिखने चाहिए.”

south africa

ब्रिटिश अखबार ‘एक्सप्रेस’ की वेबसाइट पर 29 मार्च 2019 को इस घटना के बारे में एक आर्टिकल पब्लिश हुआ. आर्टिकल में बताया गया है कि साउथ अफ़्रीका में डर्बन के जंगल के नज़दीक बने आरके खान अस्पताल में बंदरों ने आतंक मचाया हुआ है.

साउथ अफ़्रीका के न्यूज़ चैनल ‘eNCA’ ने 8 फ़रवरी को इस अस्पताल में बंदरों के आतंक के बारे में एक वीडियो रिपोर्ट शेयर की थी. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि अस्पताल में बंदरों के आने-जाने की घटना कई महीनों से चल रही है. इस वीडियो में 44 सेकंड पर साउथ अफ़्रीका के हेल्थ मिनिस्टर के बयान को भी सुना जा सकता है जहां वो इस मामले पर जल्द से जल्द कार्रवाई करने की बात कहते हैं.

इस तरह हमने देखा कि अस्पताल में बंदरों का आतंक दिखाता ये वीडियो असल में मार्च 2019 में साउथ अफ़्रीका के अस्पताल में हुई एक घटना का है. मुर्तज़ा अली शाह ने बिना इस वीडियो की सच्चाई जाने इसे भारत का बता दिया.

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend