14 अक्टूबर को भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने 1 मिनट 40 सेकंड का एक वीडियो ट्वीट किया. इस वीडियो में दो हिस्से हैं. पहले वीडियो में प्रियंका गांधी वाड्रा, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश सिंह बघेल और कांग्रेस के अन्य नेता खड़े हैं. वीडियो में मुस्लिम धर्म से जुड़ी प्रार्थना सुनाई देती है. वहीं दूसरे वीडियो में एक व्यक्ति रिपोर्टर से बात करते हुए कह रहा है – “वही कांग्रेस जो हिन्दू इस देश में ब्राह्मण हितैषी बन रही है वही आज अपने मंच से जो अज़ान करवाती है. क्या वो ब्राह्मणों की रक्षा करेगी? जो अपने हिन्दू की रक्षा नहीं कर रही है वो अज़ान मंच से करवा रही है.” ट्वीट करते हुए संबित पात्रा ने कहा कि वाराणसी रैली में प्रियंका गांधी और कांग्रेस ने लुभाने के लिये ऐसा किया. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

संबित पात्रा ने ये क्लिप फ़ेसबुक पर भी पोस्ट की.

भाजपा नेता अमित मालवीय ने भी ये वीडियो ट्वीट किया. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

ट्विटर यूज़र अप्सरा ने भी ये वीडियो ट्वीट किया. आर्टिकल लिखे जाने तक इसे 1,800 से ज़्यादा बार देखा जा चुका है. (आर्काइव लिंक)

और भी कई यूज़र्स ये वीडियो फ़ेसबुक और ट्विटर पर शेयर कर रहे हैं.

फ़ैक्ट-चेक

की-वर्ड्स सर्च करते हुए ऑल्ट न्यूज़ को इस रैली का वीडियो मिला. इंडियन नेशनल कांग्रेस ने 10 अक्टूबर को वाराणसी में हुई किसान न्याय रैली का वीडियो यूट्यूब पर अपलोड किया. इसकी शुरुआत में हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी धर्मों से प्रार्थना करने की बात बताई जाती है. सबसे पहले हिन्दू धर्म के अनुसार मंत्रोच्चार करने के लिए कहा जाता है.

वीडियो में कहा जाता है – “सबसे पहले हम अपनी परम्पराओं के अनुसार…कांग्रेस पार्टी का हमेशा रहा है सर्व धर्म सदभाव हम अपनाते रहे है तो सबसे पहले हमारे हिन्दू धर्म के जो साथी यहां पे आए हैं उनसे मैं निवेदन करता हूँ कि मंत्रोच्चार के साथ जो है…माइक की व्यवस्था कर दें…उसके बाद आएंगे मात्रोच्चार के साथ सबसे पहले हमारे हिन्दू धर्म के लोग, फिर हमारे मुस्लिम भाई, फिर हमारे सिख भाई, फिर ईसाई भाई जो हैं वो स्वागत करेंगे और फिर आके यहां भेट करेंगे. चलिए वहीं से शुरू करिए.” वीडियो में 1 मिनट 45 सेकंड से लेकर 5 मिनट 4 सेकंड तक आवाज़ नहीं सुनाई देती है. ऐसा लगता है मानो कुछ तकनीकी कारणों की वजह से ये हुआ है.

इसके बाद वीडियो में 5 मिनट 10 सेकंड के बाद से मुस्लिम धर्म के अनुसार प्रार्थना करने के लिए कहा जाता है. ऐसे ही 8 मिनट 33 सेकंड के बाद सिख धर्मगुरुओं से प्रार्थना करने की अपील की जाती है. इसके बाद ज़िला कांग्रेस कमिटी के दोनों अध्यक्ष राजेश्वर पटेल और रघुवेन्द्र चौबे द्वारा प्रियंका गांधी को बनारस की परमंपरा के अनुसार अंगवस्त्र की भेट दी जाती है.

इस रैली में प्रियंका गांधी वाड्रा भी अपने संबोधन की शुरुआत संस्कृत श्लोक से ही करती हैं.

वहीं संबित पात्रा ने जो वीडियो ट्वीट किया, उसमें दूसरा हिस्सा द राजधर्म नाम के यूट्यूब चैनल का है. द राजधर्म ने 11 अक्टूबर को किसान न्याय रैली के संबंध में लोगों से बातचीत की थी. इस वीडियो रिपोर्ट में 1 मिनट 20 सेकंड से वो हिस्सा देखा जा सकता है जो संबित पात्रा के ट्वीट में दिखता है.

कुल मिलाकर, वाराणसी में किसान न्याय रैली के दौरान, कांग्रेस ने सभी धर्मों की प्रार्थना के साथ रैली की शुरुआत की थी. लेकिन संबित पात्रा ने सिर्फ़ मुस्लिम धर्म की प्रार्थना वाला हिस्सा शेयर कर भ्रामक दावा किया.


CAA-NRC, अमित शाह आदि नेताओं के बारे में बात करता शख्स DPS राजबाग में पढ़ाने वाला शकील अंसारी?

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: