हाल ही में अलीगढ़ के जमालपुर शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कचरे के डब्बे से वैक्सीन से भरी 29 सीरिंज मिलने का मामला सामने आया. ANM निहा खान पर ये वैक्सीन भरी सीरिंज फेंकने का आरोप लगा. हालांकि निहा ने इसे अपने ख़िलाफ़ साजिश करार देते हुए इन आरोपों को ख़ारिज किया. ताज़ा जानकारी के मुताबिक चिकित्साधिकारी डा. आफ़रीन ज़ेहरा व ANM निहा खान के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है. इन पर सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, महामारी अधिनियम का उल्लंघन, साज़िश व गलत जानकारी देने का आरोप लगाया गया है.

इसके बाद ज़ी हिंदुस्तान ने 30 मई को एक वीडियो चलाते हुए इसे ‘वैक्सीन जिहाद’ कहा और इसे कट्ट़रपंथियों से सीधे सवाल करने वाला बहुत बड़ा खुलासा बताया. नीचे दिए गए ब्रॉडकास्ट में ये वीडियो 40 सेकंड के बाद से शुरू होता है. इसमें बताया गया कि इस तरह वैक्सीन भरी 29 सीरिंज निहा खान ने बर्बाद कर दिए और ये पूरा वाकया मोबाइल में कैद हो गया. इस शख्स को जब शक हुआ कि यहां वैक्सीन के नाम पर धोखाधड़ी हो रहा है तो उसने ये वीडियो बनाया (आर्काइव लिंक).

कट्ट़रपंथियों से सीधे सवाल करने वाला बहुत बड़ा खुलासा | देश में कौन कर रहा है Vaccine वाला जिहाद ?

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में निहा खान नामक एक नर्स पर बड़ा खुलासा हुआ है…निहा पर आरोप है कि वो बड़ी सफाई से कोरोना वैक्सीन कूड़ेदान में डाल देती थी और मरीजों को खाली सिरिंज चुभा देती थी…

Posted by Zee Hindustan on Sunday, 30 May 2021

ज़ी हिंदुस्तान के इस ब्रॉडकास्ट को BJP राजस्थान के पूर्व प्रवक्ता लक्ष्मीकांत भारद्वाज, BJP दिल्ली प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने शेयर किया. इसके अलावा इसे BJP समर्थक रेणुका जैन, अरुण पुदुर और अतुल आहूजा ने भी शेयर किया

हमने देखा कि हेडलाइंस इंडिया के यूट्यूब चैनल और फ़ेसबुक पेज से भी ये वीडियो शेयर करते हुए नर्स निहा खान के मामले की जानकारी दी गयी है.

नर्स निहा खान ने कूडे में फेंकी 29 वैक्सीन तो योगी ने कर दी तगड़ी कार्यवाही

नर्स निहा खान ने कूडे में फेंकी 29 वैक्सीन तो योगी ने कर दी तगड़ी कार्यवाही

Posted by Headlines India on Sunday, 30 May 2021

ऑप इंडिया ने बरखा त्रेहन का ट्वीट शेयर करते हुए एक आर्टिकल में लिखा, “सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल है जहां नर्स निहा खान को स्पष्ट रूप से कोविड 19 वैक्सीन की सुई लगाते हुए देखा जा सकता है लेकिन बड़ी ही चालाकी से बिना वैक्सीन दिए सुई बाहर निकालते हुए भी देखा जा सकता है.”

इक्वेडोर का वीडियो

ज़ी हिंदुस्तान और हेडलाइंस इंडिया ने जिस वीडियो को नर्स निहा खान का बताया वो इक्वेडोर का है. इक्वेडोर की वेबसाइट letraroja.com ने 26 अप्रैल को इस वीडियो के बारे में ख़बर पब्लिश की थी. इसमें बताया गया है कि इस नर्स को गिरफ़्तार कर लिया गया था. CNN en Español ने ख़बर दी कि इक्वेडोर के प्रेसिडेंट की कैबिनेट के महासचिव ने कहा कि 55 साल का एक व्यक्ति ज़बरदस्ती 65 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण की लाइन में घुस आया. जैसा कि वीडियो में देखा जा सकता है, नर्स ने पहले उसे टीका नहीं लगाया. लेकिन बाद में उसे टीका लगाया गया. इन दोनों को जांच के लिए हिरासत में लिया गया.

इक्वेडोर के एक ट्विटर हैंडल @gabriela_ma94 ने ये वीडियो 26 अप्रैल को शेयर किया था. इस ट्वीट पर इक्वेडोर के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने जवाब देते हुए बताया कि नर्स और उस शख्स की पहचान कर ली गयी थी और मामले की जांच शुरू हो गयी थी.

इक्वेडोर के चिकित्सा विभाग ने भी 26 अप्रैल को ट्वीट कर जानकारी दी थी कि नर्स की पहचान कर ली गयी थी.

इक्वेडोर की पत्रकार दयाना मोनेरो ने एक वीडियो ट्वीट किया जिसमें पुलिस नर्स और उस व्यक्ति को ले जाते हुए दिखती है. उन्होंने लिखा कि एक व्यक्ति को वैक्सीन देने का नाटक करते हुए पकड़े जाने के बाद नर्स को जांच के लिए हिरासत में लिया गया. उस व्यक्ति को भी हिरासत में लिया गया क्योंकि वो उस समय वैक्सीनेशन के लिए योग्य नहीं था.

यानी, ज़ी हिंदुस्तान ने इक्वेडोर का वीडियो चलाते हुए अलीगढ़ की घटना को सांप्रदायिक रंग दिया. उन्होंने इस ‘वैक्सीन जिहाद’ भी बताया.

एक और वीडियो अलीगढ़ की निहा खान का बताकर शेयर किया जा रहा है.

#वैक्सीन_जिहाद
अलीगढ़ में नर्स निहा खान बड़ी सफाई से मरीजों को खाली💉 syringe लगा देती थी और कोरोना की वैक्सीन कूड़ेदान में डाल देती थी किसी जागरूक नागरिक ने वीडियो बनाया 📸आरोपी नर्स नीहा खान के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है

Posted by शिव नारायण on Sunday, 30 May 2021

ऑल्ट न्यूज़ ने इस वीडियो की पड़ताल अप्रैल में ही की थी. ये वीडियो मेक्सिको का है. इस घटना के सामने आने के बाद द मेक्सिकन इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल सिक्योरिटी (IMSS) ने बुज़ुर्ग व्यक्ति को इन्जेक्शन देने का ढोंग कर रही कर्मचारी को निकाल दिया था. ये घटना नेशनल स्कूल ऑफ़ बायोलॉजिकल साइंस ऑफ़ द नेशनल पॉलिटेक्निक इंस्टिट्यूट में हुई थी.


भारत सरकार ने पहले दावा कि किसी भी देश में बच्चों को वैक्सीन नहीं दिया जा रहा, फिर अपना बयान बदला

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged:
About the Author

Priyanka Jha specialises in monitoring and researching mis/disinformation at Alt News. She also manages the Alt News Hindi portal.